Skip to main content

के द्वारा छनित:

ओसाका

सीरिया में फ़रवरी 2023 में आए भीषण भूकम्प से व्यापक विनाश हुआ था.
© UNICEF/Hasan Belal

सीरिया: ‘युद्ध समाप्ति के लिए, कूटनैतिक प्रयासों के साथ, ठोस ज़मीनी कार्रवाई की दरकार’

सीरिया में कार्यरत संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारियों ने मंगलवार को कहा है कि देश में 12 वर्षों से जारी युद्ध की समाप्ति के लिए, कूटनैतिक प्रयासों में हुई लगातार प्रगति से मेले खाती हुई, ठोस ज़मीनी कार्रवाई की दरकार है. उन्होंने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में कहा है कि देश में फिर से सिर उठाती हिंसा एक बार फिर आम लोगों की ज़िन्दगियाँ लील रही है.

कॉमेडियन, कविन जे और इंस्टाग्राम इन्फ्लुएंसर, एल्वी ने एक रबर प्लांटेशन की यात्रा की, जहाँ उन्होंने कम्बोडिया के "नम्बर वन भोज", नॉम बन चॉक का पहला स्वाद चखा, जिसे उनकी मेज़बान लिज़ा ने तैयार किया था, जो कम्बोडिया की प्रवासी हैं.
© OHCHR Malaysia/Puah Sze Ning

मलेशिया: लज़ीज़ पकवानों की मेज़ और ' आव्रजन की कहानियाँ'

लज़ीज़ चिकन कोरमा से लेकर, इंडोनेशिया के मदुरा द्वीप पर बनाए जाने वाले कलडू कोकोट तक, हर पकवान की अपनी एक कहानी है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय (OHCHR) ने, सात व्यंजनों को जीवन्त करने वाला एक अभिनव अभियान शुरू किया है, जिसके तहत भोजन और संस्कृति की समृद्ध विविधता परोस कर, प्रवासियों और शरणार्थियों के ख़िलाफ़ नफ़रत की भाषा (Hate speech) से निपटने की कोशिश की जा रही है.

सूडान की राजधानी ख़ारतूम के युद्धग्रस्त इलाक़ों में, यूएन एजेंसियों द्वारा खाद्य सहायता वितरण.
© Sudanese Red Crescent Society

सूडान: ख़ारतूम के युद्धग्रस्त इलाक़ों में प्रथम खाद्य वितरण

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने मंगलवार को कहा है कि सूडान में, गत 15 अप्रैल को युद्ध भड़कने के बाद से, मानवीय सहायताकर्मी, पहली बार राजधानी ख़ारतूम के युद्धग्रस्त इलाक़ों में ज़रूरतमन्द परिवारों तक पहुँच बनाने में कामयाब हुए हैं और उन्हें खाद्य सहायता वितरित की गई है.

दक्षिणपूर्वी माली में मेनका में संयुक्त राष्ट्र के झंडे के साथ संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षक.
MINUSMA/Harandane Dicko

उम्मीदों की मशाल थामे हैं, नीले हैलमैट वाले साथी

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, अन्तरराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षक दिवस पर एक वीडियो सन्‍देश में कहा है कि संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षक, अधिक शान्तिपूर्ण विश्व के प्रति हमारे संकल्प की धड़कन हैं और वे, "75 वर्ष से विश्व भर में संघर्षों और उथल-पुथल से त्रस्त लोगों व समुदायों को सहारा देते आ रहे हैं."

देश में चल रही हिंसा के परिणामस्वरूप आने वाले महीनों में सूडान में 20 लाख से अधिक लोगों के भूख से मरने की आशंका है.
© WFP/Peter Louis

खाद्य असुरक्षा से सर्वाधिक प्रभावित, 18 ‘हॉटस्पॉट’ में भूख संकट गहराने की आशंका

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) और संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (UNFAO) ने सोमवार को प्रकाशित अपनी एक नई रिपोर्ट में चेतावनी जारी की है कि दुनिया के 22 देशों में फैले हुए 18 क्षेत्रों में भूख की समस्या बद से बदतर हो जाने की आशंका है. यूएन एजेंसियों ने इन 18 क्षेत्रों को खाद्य असुरक्षा के नज़रिये से हॉटस्पॉट क़रार दिया है.  

दक्षिण सूडान के जूबा में यूएन मिशन में सेवारत कोमेलिया शिकूकुमवा, नुपूर संजीव और अनुजिन अमरजगल.
© UNMISS/Gregorio Cunha

यूएन शान्तिरक्षक दिवस: 75 वर्षों की सेवा, त्याग व बलिदान का सम्मान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार, 29 मई, को ‘अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस’ पर अपने सन्देश में कहा है कि यूएन शान्तिरक्षा, एक अधिक शान्तिपूर्ण विश्व के लिए हमारी प्रतिबद्धता का धड़कता दिल है.

यूएन जनसंख्या कोष द्वारा गाम्बिया में स्कूली लड़कियों को फिर से इस्तेमाल में लाने योग्य माहवारी उत्पाद वितरित किए गए हैं.
UNFPA

माहवारी स्वच्छता दिवस: ‘माहवारी निर्धनता’ पर विराम लगाने के लिए प्रयास

गाम्बिया की फ़तउमट्टा फ़ैटी अपनी पुरानी, चरमरा रही व्हीलचेयर में बैठकर सैनिट्री पैड उत्पादन केन्द्र तक का सफ़र तय करती हैं. बारिश के मौसम में अक्सर यह दूरी नापने में उन्हें दो घंटे तक का समय लग जाता है, मगर वहाँ पहुँचकर अपने सहकर्मियों से मिलकर वो ख़ुशी महसूस करती हैं. फ़तउमट्टा को गर्व है कि वह अपने देश में ऐसे उत्पाद बना रही हैं, जिनसे माहवारी के दौरान महिलाओं के लिए ज़रूरी स्वच्छता उत्पाद सुनिश्चित करने में मदद मिल रही है.

UNMISS

शान्ति स्थापना प्रयासों में, शान्तिरक्षकों का बूंद-बूंद योगदान

दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNMISS) के तहत, मालाकल में तैनात भारतीय शान्तिरक्षक मेजर रितु मलिक का कहना है कि हिंसक टकराव और असुरक्षा से जूझ रहे देशों में, यूएन शान्तिरक्षक, शान्ति स्थापना के विशाल लक्ष्य को हासिल करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

मेजर रितु मलिक ने बताया कि एक शान्तिरक्षक के रूप में तैनाती के दौरान, उन्होंने थोड़े ही समय में बहुत कुछ सीखा है, और चुनौतियों के बावजूद, विविध पृष्ठभूमियों व देशों से आए शान्तिरक्षकों के साथ, यूएन के झंडे तले सेवाएँ प्रदान करना एक शानदार अनुभव है.

ऑडियो
13'1"
दक्षिण सूडान में यूएन मिशन में सेवारत, मेजर रितु मलिक.
UNMISS

शान्ति स्थापना के मार्ग पर, हर एक शान्तिरक्षक की भूमिका है अहम

दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNMISS) के तहत, मालाकल में तैनात भारतीय शान्तिरक्षक मेजर रितु मलिक का कहना है कि हिंसक टकराव और असुरक्षा से जूझ रहे देशों में, यूएन शान्तिरक्षक, शान्ति स्थापना के विशाल लक्ष्य को पाने में बूंद-बूंद, अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं. मेजर रितु मलिक ने बताया कि एक शान्तिरक्षक के रूप में तैनाती के दौरान उन्होंने कम ही समय में बहुत कुछ सीखा है, और चुनौतियों के बावजूद, विविध पृष्ठभूमियों व देशों से आए शान्तिरक्षकों के साथ, यूएन के झंडे तले सेवाएँ प्रदान करना, एक शानदार अनुभव है. 29 मई को 'अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस' के अवसर पर, मेजर रितु मलिक के साथ यूएन न्यूज़ की एक ख़ास बातचीत...

दक्षिण सूडान में यूएन सहायता मिशन UNMISS में तैनात, भारत के एक शान्तिरक्षक मेजर प्रशान्त राठी ने, अपने यूएन न्यूज़ के साथ बातचीत में, अनुभव साझा किए.
UN News

यूएन शान्तिरक्षकों की असाधारण सेवा की एक बानगी - मेजर प्रशान्त राठी

यूएन शान्तिरक्षा अभियानों के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर, शान्तिरक्षकों के बेमिसाल जज़्बे को याद किया जा रहा है. यूएन शान्तिरक्षक, हमारे जीवन की रक्षा व उसमें बदलाव की ख़ातिर, किस तरह लगातार मुस्तैद रहते हैं. दक्षिण सूडान में यूएन मिशन - UNMISS में तैनात एक भारतीय शान्तिरक्षक - मेजर प्रशान्त राठी से, अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस के अवसर पर एक, यूएन न्यूज़ की एक ख़ास बातचीत. (वीडियो)