OCHA

यूक्रेन के ओडेसा में बन्द हुए स्टोर के सामने से जाती हुई एक महिला.
© IMF/Brendan Hoffman

यूक्रेन: मिसाइल हमलों से भीषण सर्दी का सामना कर रहे लाखों लोगों का जीवन और भी दूभर

संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार को कहा कि यूक्रेन में मिसाइल हमलों की एक और लहर ने देश की ऊर्जा प्रणाली को नुक़सान पहुँचाकर, ऐसे समय में लाखों लोगों को बिजली व पानी से वंचित कर दिया है, जब तापमान शून्य से नीचे पहुँचा हुआ है.

 

दुनिया भर में बहुत से विस्थापित लोगों को बुनियादी सुविधाओं के अभाव में जीना पड़ रहा है. सीरिया के एक विस्थापित शिविर में एक लड़की.
OCHA/Abdul Aziz Qitaz

OCHA - 23 करोड़ लोगों की मदद हेतु धनराशि जुटाने की अपील

संयुक्त राष्ट्र और सहयोगी संगठनों ने वर्ष 2023 में, क़रीब 70 देशों में, दुनिया के सबसे कमज़ोर वर्ग के लगभग 23 करोड़ लोगों की मदद के लिये, रिकॉर्ड 51.5 अरब डॉलर की रक़म जुटाने की अपील जारी की है. संयुक्त राष्ट्र और सहयोगी संगठनों ने रेखांकित किया है कि 2022 की अपेक्षा, ज़रूरतमन्द लोगों की कुल संख्या में 6 करोड़ 50 लाख की वृद्धि हुई है. संयुक्त राष्ट्र और उसके साझीदार संगठनों ने वर्ष 2023 में सर्वाधिक निर्बलों तक सहायता पहुँचाने के लक्ष्य से और उनकी पीड़ा कम करने के लिए ये वार्षिक आंकलन जारी किया है. (वीडियो फ़ीचर)

सोमालिया के मोगादीशु के एक अस्पताल में कुपोषण का शिकार एक बच्चा.
© UNICEF/Omid Fazel

सोमालिया: अकाल का जोखिम बढ़ा, यूएन एजेंसियों की 'गम्भीर मोड़' की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के उच्च स्तरीय समन्वय फ़ोरम ने आगाह किया है कि सोमालिया एक ऐसे अति गम्भीर मोड़ पर पहुँच गया है जहाँ लाखों लोग अकाल के तत्काल जोखिम का सामना कर रहे हैं.

अफ़ग़ानिस्तान की आधी से ज़्यादा आबादी, जीवित रहने के लिये, मानवीय सहायता पर निर्भर है, और उनके मानवाधिकारों पर भी जोखिम मंडरा रहा है.
IOM 2021/Paula Bonstein

अफ़ग़ानिस्तान में लोगों की मदद जारी रखने पर ज़ोर

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के समन्वयक मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि अफ़ग़ानिस्तान में अगस्त 2021 में सत्ता पर तालेबान का क़ब्ज़ा होने के बाद से ही, मानवीय सहायताकर्मी वहीं ठहरे हैं और सहायता अभियान जारी रखे हैं.

सीरिया के पूर्वी ग्रामीण इलाक़े - रक़्क़ा की एक अनौपचारिक बस्ती में, एक महिला अपने बच्चे के साथ, सर्दियों के कपड़े लेने के इन्तेज़ार में.
© UNICEF/Delil Souleiman

सीरिया: ‘बच्चों की एक पूरी पीढ़ी ग़ायब हो जाने का जोखिम’

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता मामलों की सहायक महासचिव जॉयस म्सूया ने सोमवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में अन्तरराष्ट्रीय प्रयासों के लिये पर्याप्त धन उपलब्ध नहीं होने के कारण, आम लोगों को अपरिवर्तनीय नुक़सान हो रहा है, और एक पूरी पीढ़ी का भविष्य दाव पर लग गया है.

चाड में अगस्त 2022 में भारी बारिश से प्रभावित एक इलाक़े की आकाशीय तस्वीर.
IOM/Anne Schaefer

चाड: अभूतपूर्व वर्षा से 3.4 लाख लोग प्रभावित

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों की समन्वय एजेंसी – OCHA ने शुक्रवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि चाड में भारी बारिश ने अभूतपूर्ण बाढ़ उत्पन्न कर दी है, जिससे 55 हज़ार परिवारों में रहने वाले लगभग 3 लाख 40 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं. इस संख्या ने वर्ष 2021 के दौरान भी इसी तरह की बाढ़ से प्रभावित लोगों की ढाई लाख की संख्या को पीछे छोड़ दिया है.

यमन में सात साल के युद्ध के दौरान, बच्चों को भारी तकलीफ़ें उठानी पड़ी हैं.
©UNICEF/Owis Alhamdan

यमन: ‘ युद्ध के प्रबन्धन की नहीं, उसे ख़त्म करने की ज़रूरत’

यमन के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत हैंस ग्रण्डबर्ग ने सोमवार को कहा है कि शान्ति की दिशा में आवश्यक व निर्णायक क़दम उठाने में यमन की मदद करना, सुरक्षा परिषद की संयुक्त ज़िम्मेदारी है.

मध्य अफ़्रीका गणराज्य की एक महिला जो अत्यन्त गम्भीर कुपोषण से प्रभावित है.
© UNICEF Chad/Alliah

OCHA: 2021 में 140 सहायताकर्मियों की मौत, सहायता धन की भारी कमी

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता मामलों की एजेंसी (OCHA) ने शुक्रवार को चेतावनी के अन्दाज़ में कहा है कि मानवीय सहायता अभियानों के लिये इस समय लगभग 34 अरब डॉलर की रक़म की कमी है जोकि मांग व उपलब्धता के बीच अभी तक का सबसे विशाल अन्तर है.

यूक्रेन के क्रमारस्क रेलवे स्टेशन पर एक परिवार, कीयेफ़ जाने वाली ट्रेन की प्रतीक्षा कर रहा है.
© UNICEF/Julia Kochetova

यूक्रेन: दानेत्स्क क्षेत्र में यूएन और साझीदारों की जीवन रक्षक सहायता

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय सहायता एजेंसी - OCHA ने बताया है कि यूक्रेन के पूर्वी दानेत्स्क क्षेत्र के सरकार-नियंत्रित क्षेत्रों के दो शहरों, क्रमारस्क और स्लोवियंस्क के लगभग 64 हज़ार लोगों को महत्वपूर्ण राहत सामग्री पहुँचाई गई है.

अफ़ग़ानिस्तान के काबुल शहर में भीषण सर्दी के दौरान विस्थापित परिवार पानी इकट्ठा कर रहे हैं.
© UNHCR/Andrew McConnell

अफ़ग़ानिस्तान: यूएन ने जारी की, अब तक की सबसे बड़ी सहायता अपील

संयुक्त राष्ट्र और भागीदारों ने अफ़ग़ानिस्तान के लोगों की बुनियादी ज़रूरतों के लिये, मंगलवार को पाँच अरब डॉलर से अधिक की सहायता राशि जुटाने की अपील जारी की है. देश में, अगस्त 2021 में देश की सत्ता पर तालेबान का कब्ज़ा होने के बाद से ही बुनियादी सेवाएँ ध्वस्त हैं, जिससे देश के अन्दर लगभग दो करोड़, 20 लाख लोगों को और देश की सीमा के बाहर, 57 लाख लोगों को मदद की आवश्यकता उत्पन्न हो गई है.