नवाचार

भूमि और जल संसाधनों पर बढ़ता दबाव, खाद्य सुरक्षा के लिये हालात जोखिम भरे

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि पिछले एक दशक में, मृदा, भूमि और जल संसाधनों पर दबाव लगातार बढ़ा है और अब स्थिति एक नाज़ुक पड़ाव पर पहुँच गई है. रिपोर्ट के मुताबिक़, मौजूदा हालात, पारिस्थितिकी तंत्रों की सेहत के नज़रिये से चिन्ताजनक हैं, जिससे बढ़ती विश्व आबादी की खाद्य सुरक्षा के लिये ख़तरा उत्पन्न हो सकता है.

युवा सम्मेलन में, होनहार उद्यमियों व रचनाकारों के चमत्कारी अनुभव

दुनिया के अनेक हिस्सों से, युवा रचनाकारों और उद्यमियों ने, जिनीवा में आयोजित युवा सम्मेलन में इस बारे में, अपने अदभुत अनुभव बाँटे हैं कि उन्होंने किस तरह, अपने समुदायों और पर्यावरण में सकारात्मक बदलाव सम्भव बनाए हैं और अन्य लोग भी ऐसा ही, किस तरह से कर सकते हैं.

अन्तरिक्ष उद्योग में कार्यरत महिलाओं का हिस्सा महज़ 20 फ़ीसदी

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी नए आँकड़े दर्शाते हैं कि अन्तरराष्ट्रीय अन्तरिक्ष सैक्टर में रोज़गारशुदा महिलाओं की संख्या, कुल कार्यबल का केवल 20-22 फ़ीसदी है. यह आँकड़ा मोटे तौर पर तीन दशक पहले के अनुपात के ही समान है. 

 

 

मेनिनजाइटिस से निपटने की नई रणनीति – प्रति वर्ष दो लाख ज़िन्दगियों को बचाने का लक्ष्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि एक वैश्विक रणनीति के लक्ष्यों को प्राप्त कर के, दिमागी बुखार (meningitis) से हर साल दो लाख ज़िन्दगियों की रक्षा की जा सकती है. बैक्टीरिया की वजह से होने वाले घातक मेनिनजाइटिस रोग पर क़ाबू पाने के लिये पहली बार तैयार एक रोडमैप को, मंगलवार को पेश किया गया है. 

भारत: संयुक्त राष्ट्र के साथ 17 युवा जलवायु कार्यकर्ता एकजुट

भारत में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने जलवायु परिवर्तन पर स्थानीय नेतृत्व को प्रदर्शित करने के इरादे से ‘We The Change’ (‘हम ही बदलाव हैं’) नामक अपनी जलवायु मुहिम शुरू करने की घोषणा की है. इस अभियान के तहत, संयुक्त राष्ट्र के वार्षिक जलवायु सम्मेलन (कॉप26) से कुछ हफ्तों पहले,  भारत के 17 युवा जलवायु कार्यकर्ताओं द्वारा विकसित जलवायु समाधानों को रेखांकित किया जाएगा. 

कोविड-19 के बावजूद वैश्विक नवाचार क्षेत्र में प्रगति – यूएन रिपोर्ट

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण हुई आर्थिक तबाही के बावजूद, पिछले साल टैक्नॉलॉजी क्षेत्र में प्रगति और उसका फलना-फूलना जारी रहा. बौद्धिक सम्पदा मामलों के लिये संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी (WIPO) की सोमवार को प्रकाशित एक नई रिपोर्ट में यह बात सामने आई है. 

स्वच्छ ऊर्जा की दिशा में बढ़ने के लिये ठोस नीतियों की दरकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि इस सदी के मध्य तक, नैट-शून्य ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के लक्ष्य को हासिल करने के लिये तत्काल जलवायु कार्रवाई की आवश्यकता है. यूएन प्रमुख ने बुधवार को, चिली के सैन्टियागो में स्वच्छ ऊर्जा पर एक मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये अपने वीडियो सन्देश में आगाह किया कि सरकारों, व्यवसायों और वित्तीय संगठनों द्वारा लिये गए संकल्पों को ठोस नीतियों के ज़रिये, तयशुदा अवधि में पूरा किया जाना होगा.

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में समानता, टिकाऊ विकास लक्ष्यों के लिये अहम

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवँ सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) व साझीदारों द्वारा जारी एक नई रिपोर्ट के अनुसार, टिकाऊ विकास के 2030 एजेण्डा को साकार करने, और किसी को भी पीछे ना छूटने देने के लिये, अभियान्त्रिकी (इंजीनियरिंग) में व्याप्त क्षेत्रीय विसंगतियाँ को दूर किया जाना होगा.  

कोविड-19 काल में व्यवधान – शिक्षा की नए सिरे से परिकल्पना का अवसर

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रविवार, 24 जनवरी, को अन्तरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस के अवसर पर वैश्विक महामारी की पृष्ठभूमि  में छात्रों, शिक्षकों और परिवारों की सहनक्षमता को श्रृद्धांजलि अर्पित की है. ग़ौरतलब है कि महामारी की रोकथाम के ऐहतियाती उपायों के मद्देनज़र विश्व भर में स्कूलों, शैक्षणिक संस्थाओं और विश्वविद्यालों को बन्द कर दिया गया जिससे करोड़ों ज़िन्दगियाँ प्रभावित हुई हैं.  

कोविड-19: विश्व भर में नवाचार को बढ़ावा देने के प्रयासों को भारी झटका

दुनिया भर में नवाचार (Innovation) उद्यमों को बढ़ावा देने के लिये पूँजी और वित्तीय संसाधन विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 के कारण सिमट रहे हैं. बौद्धिक सम्पदा मामलों पर संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी (WIPO) ने बुधवार को एक नई रिपोर्ट जारी की है जो दर्शाती है कि मौजूदा हालात में नई व शोध पर केन्द्रित कम्पनियाँ और विकासशील अर्थव्यवस्थाएँ ज़्यादा प्रभावित हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक नवाचार के क्षेत्र में स्विट्ज़लैण्ड दुनिया का सबसे अग्रणी देश है जबकि स्वीडन को दूसरे नम्बर पर जगह मिली है.