नॉवल कोरोनावायरस

कोविड-19: 2021 तक वैक्सीन की दो अरब खुराकें तैयार करने की योजना

विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 एक अभूतपूर्व वैश्विक संकट है जिससे निपटने के लिये अभूतपूर्व वैश्विक कार्रवाई की आवश्यकता है. संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी – विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने सोमवार को वर्ष 2021 के अन्त तक कोरोनावायरस वैक्सीन की दो अरब खुराकें उपलब्ध कराने की योजना पेश करते हुए यह बात कही है.

दरकती दुनिया को कोविड-19 से ख़तरा, शान्ति की पुकार

जापान में प्रचलित एक सिद्धान्त के अनुसार टूटी हुई वस्तुओं में भी ख़ूबियाँ तलाश की जाती हैं. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरुवार को यूएन मुख्यालय में 21 सितम्बर को मनाए जाने वाले अन्तरराष्ट्रीय शान्ति दिवस से पहले गुरूवार को आयोजित एक वार्षिक कार्यक्रम में वैश्विक आग्रह किया कि ऐसे समय जब दुनिया दरक रही है, कोविड-19 से उबरने की प्रक्रिया के दौरान इसी सिद्धान्त को अपनाए जाने की आवश्यकता है.  

कोविड ने करोड़ों और बच्चों को अत्यन्त ग़रीबी में धकेला

संयुक्त राष्ट्र के एक नए अध्ययन में पाया गया है कि कोरोनावायरस महामारी ने दुनिया भर में 15 करोड़ अतिरिक्त बच्चों को बहुआयामी ग़रीबी के गर्त में धकेल दिया है जिसके कारण वो शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास, पोषण, स्वच्छता और जल संसाधनों से वंचित हो गए हैं.

कोविड-19: किफ़ायती वैक्सीन ‘सर्वजन को उपलब्ध करानी होगी’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोविड-19 से निपटा जाना अब भी वैश्विक चुनौतियों के एजेण्डे में सर्वोपरि है जिसके तहत एक असरदार व किफ़ायती वैक्सीन का विकसित होना और सभी के लिये उपलब्ध होना इस लड़ाई का अहम हिस्सा है. यूएन प्रमुख ने महासभा के 75वें सत्र में होने वाले उच्चस्तरीय सप्ताह से पहले एक प्रैस वार्ता को सम्बोधित करते हुए बताया कि कोविड-19 महामारी अब भी नियन्त्रण से बाहर है और दुनिया एक बेहद गम्भीर चरण का सामना कर रही है. 

कोविड-19: निर्धनों को दासता के आधुनिक रूपों से बचाने की पुकार

देशों की सरकारों द्वारा समय रहते सहायता के समुचित प्रयास नहीं किये जाने के कारण विश्व भर के लाखों-करोड़ लोग कोविड-19 महामारी के कारण दासता व शोषण के समकालीन रूपों के शिकार हो सकते हैं. यह चेतावनी दासता के समकालीन रूपों पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष रैपोर्टेयर तोमोया ओबोकाता की ओर से जारी की गई है जिन्होंने बुधवार को मानवाधिकार परिषद के वर्चुअल सत्र के दौरान अपनी पहली रिपोर्ट पेश की है. 

कोविड-19: बच्चों पर असर को समझने के लिये और ज़्यादा शोध की ज़रूरत

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 से बच्चों और किशोरों के गम्भीर रूप से बीमार होने के जोखिम के कारणों की पड़ताल किये जाने की आवश्यकता को रेखांकित किया है. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस के मुताबिक मोटे तौर पर बच्चे इस बीमारी के गम्भीर प्रभावों से अछूते रहे हैं लेकिन उन्हें अन्य प्रकार की अनेक पीड़ाओं का अनुभव करना पड़ा है.

साक्षात्कार: समान और न्यायपूर्ण दुनिया ही वक़्त की ज़रूरत - यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में कोविड-19 के प्रसार पर चिन्ता जताई है और महामारी के बाद बेहतर पुनर्निर्माण, सतत पुनर्बहाली, समानता व बहुपक्षवाद बढ़ाने पर ज़ोर दिया है. संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगाँठ और महासभा के 75वें सत्र के मौक़े पर दिये इस साक्षात्कार में महासचिव ने एक समान व न्यायपूर्ण व टिकाऊ दुनिया के निर्माण का आहवान किया है.

ब्लॉग: आर्थिक पुनर्बहाली के लिये वित्तपोषण

एशिया प्रशान्त क्षेत्र में आर्थिक सहयोग और समर्थन के ज़रिये बेहतर पुनर्बहाली सम्भव है. संयुक्त राष्ट्र में अवर-महासचिव और संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक आयोग की कार्यकारी सचिव, आर्मिडा सालसियाह अलिसजहबाना का ब्लॉग.

कोविड-19: दक्षिण-दक्षिण सहयोग और आपसी एकजुटता पर बल

ऐसे समय जब दुनिया वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने के प्रयासों में जुटी है, दक्षिण-दक्षिण सहयोग और वैश्विक एकजुटता की भावना जीवित है और फल-फूल रही है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ‘दक्षिण-दक्षिण सहयोग के लिये संयुक्त राष्ट्र दिवस’ के अवसर पर अपने सन्देश में ग्लोबल साउथ यानि दक्षिणी गोलार्द्ध में स्थित अधिकांश विकासशील देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने के लिये व्यावहारिक प्रयासों की अहमियत को रेखांकित किया है. 

कोविड-19: वैक्सीन के लिये धन जुटाने में तूफ़ानी तेज़ी की दरकार

वैश्विक नेतृत्वकर्ताओं ने कोविड-19 के संक्रमण के ऐसे परीक्षण किटों, दवाओं और टीकों का विकास तेज़ी से करने के प्रति अपना संकल्प व्यक्त किया है जो किसी भी ज़रूरतमन्द इनसान को हर जगह उपलब्ध हों. इन नेताओं में 30 से अधिक देशों के मुखिया और मन्त्री शामिल थे.