नागासाकी

नागासाकी: परमाणु निरस्त्रीकरण आवाज़ों के लिये यूएन का पूर्ण समर्थन

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, 76 वर्ष पहले, 9 अगस्त को, जापान के नागासाकी शहर पर किये गए परमाणु हमले में जीवित बचे लोगों के शक्तिशाली अनुभवों और हौसले वाली आपबीतियों के प्रति फिर से अपना पूर्ण समर्थन व्यक्त व पुष्ट किया है. इन जीवित बचे लोगों द्वारा चलाई गई मुहिम की बदौलत ही, परमाणु शस्त्रों के ख़िलाफ़ ताक़तवर वैश्विक आन्दोलन चलाने में ठोस मदद मिली है.

परमाणु शस्त्र निषेध सन्धि हुई लागू, यूएन महासचिव ने बताया अहम पड़ाव

पिछले लगभग दो दशकों में, प्रथम बहुपक्षीय परमाणु निरस्त्रीकरण सन्धि, शुक्रवार को लागू हुई है जिसे, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरश ने, विश्व को परमाणु शस्त्रों से मुक्त बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण क़दम क़रार दिया है.

नागासाकी: जीवितों का साहस बने परमाणु हथियारों के उन्मूलन की प्रेरणा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव  एंतोनियो गुटेरेश ने जापान के नागासाकी शहर में परमाणु हमले के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर हीमाकुशा लोगों के साहस और सहनशील नज़रिये की सराहना की है. उस परमाणु हमले में जीवित बचे लोगों को हीबाकुशा कहा जाता है. 

शांति का प्रतीक है परमाणु हमलों से प्रभावितों की आवाज़

  • महासचिव ने नागासाकी और हिरोशिमा परमाणु बम हमलों के प्रभावितों का हौसला बढ़ाया, कहा उनकी आवाज़ है शान्ति के लिए असल सन्देश
  • इंडोनेशिया में भूकम्प से जान-माल की भारी तबाही, हज़ारों लोगों ने घर और गाँव छोड़े
ऑडियो -
11'14"