मल्टीमीडिया

अन्तरराष्ट्रीय एल्बीनिज़म जागरूकता दिवस: यूएन महासचिव का सन्देश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 'अन्तरराष्ट्रीय एल्बीनिज़म जागरूकता दिवस' पर, सभी राष्ट्रों और समुदायों से रंगहीनता की स्थिति वाले व्यक्तियों के मानवाधिकारों की रक्षा करने और उन्हें आवश्यक सहायता व देखभाल प्रदान करने का आग्रह किया है...

बाल श्रम उन्मूलन के प्रयासों को गहरा झटका

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, दो दशकों में पहली बार, दुनिया भर में बाल मज़दूरी के शिकार बच्चों की संख्या बढ़कर 16 करोड़ तक पहुँच गई है. पिछले चार वर्षों में इस आँकड़े में 84 लाख की वृद्धि हुई है., अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन और संयुक्त राष्ट्र बाल कोष द्वारा जारी इस रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि कोविड-19 महामारी के परिणामस्वरूप, वर्ष 2022 के अन्त तक, वैश्विक स्तर पर, 90 लाख अतिरिक्त बच्चों को बाल श्रम में धकेल दिये जाने का ख़तरा है...

यूएन महासभा के नए अध्यक्ष

मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के लिये अध्यक्ष के रूप में चुना गया है. यूएन महासभा के अगले सत्र में वह वर्तमान अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर का स्थान लेंगे. एक वीडियो रिपोर्ट....

विश्व महासागर दिवस: यूएन महासचिव का सन्देश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने विश्व महासागर दिवस पर अपने सन्देश में प्रकृति के विरुद्ध युद्ध का अन्त करने की पुकार लगाई है. उन्होंने ध्यान दिलाया है कि मौजूदा और भावी पीढ़ियों के लिये, हमारे महासागरों के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने और टिकाऊ विकास लक्ष्यों को हासिल करने के मद्देनज़र यह महत्वपूर्ण है...

विश्व पर्यावरण दिवस: यूएन महासचिव का सन्देश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जारी अपने सन्देश में, ‘पारिस्थितिकी तंत्र बहाली के यूएन दशक' की शुरुआत की घोषणा की है. उन्होंने कहा है कि पारिस्थितिकी तंत्र बहाल कर हम ऐसा परिवर्तन ला सकते हैं, जिससे समस्त टिकाऊ विकास लक्ष्‍यों की प्राप्ति में मदद मिलेगी...

स्वच्छ ऊर्जा के रास्ते की रूकावटों को दूर करने का आहवान

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने चिली के सैन्टियागो में स्वच्छ ऊर्जा पर एक मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये, अपने वीडियो सन्देश में स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिये ठोस कार्रवाई व नीतियों की पैरवी की है. उन्होंने आगाह किया है कि सरकारों, व्यवसायों और वित्तीय संगठनों द्वारा लिये गए संकल्पों को तयशुदा अवधि में पूरा किया जाना होगा...

शान्तिरक्षा मिशन: कौशल निखारने व अनुभव हासिल करने का अवसर

दक्षिण सूडान में यूएन मिशन (UNMISS) में सैन्य पर्यवेक्षक के तौर पर सेवारत, भारतीय शान्तिरक्षक मेजर तेजस्मिता मंजूनाथ का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र मिशन, समुदायों में सकारात्मक बदलाव लाने का अवसर प्रदान करते हैं. उन्होंने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में बताया कि कोविड-19 संकट काल बेहद चुनौतीपूर्ण साबित हुआ है, मगर एक शान्तिरक्षक व सैन्यकर्मी के तौर पर मिली ट्रेनिंग ने उन्हें, निजी मुश्किलों को पीछे छोड़कर, अपनी ज़िम्मेदारी बख़ूबी निभाने के लिये तैयार किया है...

वैश्विक शान्ति व सुरक्षा में युवाओं का अहम योगदान

विश्व भर में शान्ति व सुरक्षा को बढ़ावा देने में युवजन की महत्वपूर्ण भूमिका है. संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षा अभियान, युवाओं की आवाज़ों को बुलन्द और योजनाओं व निर्णय-निर्धारण में उनकी भागीदारी को सुनिश्चित करते हैं. इस वर्ष, 29 मई को, अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस के अवसर पर अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा में युवाओं के योगदान पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है. एक वीडियो नज़र...

भारत: कोविड-19 की दूसरी लहर ज़्यादा जानलेवा

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने कहा है कि देश में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर और वायरस के फैलाव की तेज़ रफ़्तार ने सभी को हैरान कर दिया है. उन्होंने सचेत किया है कि इससे सबक़ लेकर सम्भावित तीसरी लहर से निपटने के लिये स्वास्थ्य तैयारियों को पुख़्ता बनाना होगा. 

कैप्टन दीपक परिहार – सच्ची निष्ठा से निभाएँ शान्तिरक्षा का दायित्व

संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षक और भारतीय सेना में कैप्टन दीपक परिहार का मानना है कि विश्व शान्ति में योगदान का अवसर बहुत कम लोगों को मिलता है, और इस ज़िम्मेदारी को पूरी ईमानदारी व निष्ठा के साथ निभाया जाना चाहिए. कैप्टन परिहार, दक्षिण सूडान में यूएन मिशन (UNMISS) के साथ तैनात भारतीय बटालियन के सदस्य के रूप में पिछले 14 महीनों से सेवारत हैं. अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस के अवसर पर उनके साथ एक ख़ास बातचीत...