मंकीपॉक्स

महामारी के दौरान स्विस एल्प्स में ट्रेन से यात्रा करता एक युवक.
Unsplash/Neil Bates

कोविड-19: उत्तरी गोलार्ध में सर्दियाँ शुरू होने पर, मामलों में बढ़ोत्तरी की सम्भावना

दुनिया भर में कोविड-19 से होने वाली मौतों में, अलबत्ता कमी आई है, लेकिन संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी - WHO के वरिष्ठ अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि उत्तर गोलार्ध में सर्दियों के आगमन के साथ ही, कोविड मामलों की संख्या बढ़ सकती है.

भारत के ओडीसा प्रदेश में, कोविड-19 की वैक्सीन का टीका लगाए जाते हुए.
© UNICEF/Priyanka Parashar

कोविड-19: 2022 में 10 लाख मौतों का 'त्रासद पड़ाव'

विश्व स्वास्थ्य संगठन – WHO के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसेस ने गुरूवार को कहा है कि कोविड-19 महामारी से वर्ष 2022 के दौरान अब तक दस लाख लोगों की मौत हो चुकी है – जोकि एक त्रासद पड़ाव है और इसमें से, इस त्रासदी में से, ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को इसकी वैक्सीन का टीका लगाने का रास्ता निकलना चाहिये.

पुर्तगाल में लिस्बन के एक यौन स्वास्थ्य क्लिनिक के डॉक्टर अपने कम्प्यूटर स्क्रीन पर मंकीपॉक्स की छवि देखते हुए.
© WHO/Khaled Mostafa

WHO: मंकीपॉक्स संक्रमण के 35 हज़ार मामले

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि मंकीपॉक्स के संक्रमण मामले दुनिया भर में बढ़ रहे हैं और अभी तक 92 देशों व क्षेत्रों में, 35 हज़ार मामले सामने आ चुके हैं, 12 लोगों की मौत भी हुई है.

Unsplash/Manuel Venturini

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन, 29 जुलाई 2022

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

  • स्वच्छ और स्वस्थ पर्यावरण हुआ - एक सार्वभौमिक मानवाधिकार घोषित.
  • यूक्रेन से अनाज निर्यात समझौते पर अमल करने के लिये, इस्तान्बूल में एक संयुक्त केन्द्र गठित.
  • मंकीपॉक्स के 78 देशों में, 18 हज़ार से ज़्यादा मामले, सतर्कता बरते जाने की पुकार.
  • हेपेटाइटिस के एक अति गम्भीर रूप के फैलाव ज़ोरों पर, जिससे बच्चे हैं ज़्यादा प्रभावित.
  • भारत में एकल प्रयोग प्लास्टिक पर लगी रोक की प्रासंगिकता के बारे में, यूएन पर्यावरण - UNEP की कार्यक्रम प्रबन्धक दिव्या दत्त के साथ एक ख़ास बातचीत.
ऑडियो
10'4"
पुर्तगाल में लिस्बन के एक यौन स्वास्थ्य क्लिनिक के डॉक्टर अपने कम्प्यूटर स्क्रीन पर मंकीपॉक्स की छवि देख रहा है.
© WHO/Khaled Mostafa

WHO: मंकीपॉक्स वैक्सीन की प्रभावशीलता पर डेटा साझा करने का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 78 देशों में मंकीपॉक्स के संक्रमण मामलों की संख्या 18 हज़ार से अधिक पहुँच चुकी है. ऐसे में संगठन ने, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं समेत संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आने वाले सभी व्यक्तियों, प्रयोगशाला कर्मचारियों और एक से अधिक लोगों के साथ यौन सम्बन्ध बनाने वाले लोगों जैसे उच्च जोखिम श्रेणी के व्यक्तियों के लिये टीकाकरण की सिफ़ारिश की है.

मंकीपॉक्स के निशान, अक्सर हथेलियों पर नज़र आते हैं.
© CDC

मंकीपॉक्स: इस बीमारी के प्रसार व जोखिम से सम्बन्धित कुछ ज़रूरी जानकारी

मंकीपॉक्स कोई नई बीमारी नहीं है बल्कि कुछ अफ़्रीकी देशों में यह स्थानिक है. हालाँकि, मई 2022 में शुरू हुए इस अन्तरराष्ट्रीय प्रकोप के बाद, विश्व स्वास्थ्य संगठन  (WHO) ने इस बीमारी को एक अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा घोषित करना अनिवार्य समझा. आइये, जानते हैं, मंकीपॉक्स से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें...

मंकीपॉक्स संक्रमित व्यक्ति की त्वचा पर पड़े छालों से निकले तरल पदार्थ के सम्पर्क में आने से, बहुत तेज़ी से फैल सकता है.
© Harun Tulunay

WHO: मंकीपॉक्स को, सही रणनीतियों के ज़रिये रोका जा सकता है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को कहा है कि तेज़ी से फैल रही मंकीपॉक्स बीमारी को सही समूहों में सही रणनीतियाँ अपनाकर, रोका जा सकता है.

मंकीपॉक्स एक दुर्लभ मगर ख़तरनाक संक्रमण है जो ख़सरा (छोटी चेचक) की तरह होता है. ख़सरा को अब पूरी तरह ख़त्म किया जा चुका है.
© CDC/Cynthia S. Goldsmith, Russell Regnery

WHO: मंकीपॉक्स 'अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा' घोषित

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने मंकीपॉक्स को अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता की एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा’ घोषित किया है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), मंकीपॉक्स के बारे में सटीक जानकारी मुहैया कराने के लिये मरीज़ों व समुदायों के साथ मिलकर काम कर रहा है.
CDC

WHO: मंकीपॉक्स पर आपात समिति की बैठक, संक्रमण के 14 हज़ार मामले

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंकीपॉक्स के बारे में ताज़ा स्थिति पर विचार करने के लिये, गुरूवार को आपात समिति की बैठक फिर से आयोजित की है. अनेक देशों में फैल रही इस बीमारी के मामले अभी तक वैश्विक स्तर पर 14 हज़ार की संख्या को पार कर गए हैं और छह देशों में पहले मामले गत सप्ताह दर्ज किये गए हैं.

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में मंकीपॉक्स के प्रकोप के दौरान अपने हाथ दिखाता एक युवक. (फ़ाइल)
CDC

अफ़्रीका में पशु से मानव को लगने वाली बीमारियों में उछाल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा गुरूवार को जारी विश्लेषण के अनुसार, अफ़्रीका में पिछले एक दशक के दौरान, उससे पिछले दशक की तुलना में, पशुओं से मानव में फैलने वाली बीमारियों के मामलों में 63 प्रतिशत का उछाल आया है.