मानवीय सहायता

करोड़ों बच्चों की मदद की ख़ातिर, यूनीसेफ़ की रिकॉर्ड आपदा मदद अपील

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ ने दुनिया भर में, बच्चों के ख़िलाफ़ हमलों में बढ़ोत्तरी दर्ज होने की परिस्थितियों के बीच, उनकी मदद के लिये 9 अरब 40 करोड़ डॉलर की राशि जुटाने की अपील जारी की है जोकि अभी तक संगठन की सबसे बड़ी अपील है.

अफ़ग़ानिस्तान: विस्थापितों को सर्दी के मौसम में भुखमरी से बचाना है तत्काल प्राथमिकता

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी - UNHCR ने शुक्रवार को कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में भुखमरी के असाधारण स्तर देखे जा रहे हैं और सर्दियों का मौसम आने के कारण, बड़े पैमाने पर भोजन की क़िल्लत व भुखमरी से बचने के लिये इन्तेज़ाम करना तत्काल प्राथमिकता है.

इथियोपिया: उत्तरी क्षेत्र में 94 लाख लोग, भीषण दौर में जीने को मजबूर

संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने शुक्रवार को कहा है कि इथियोपिया के उत्तरी हिस्से में, जारी संघर्ष और युद्ध के सीधे परिणाम के तौर पर, तत्काल मानवीय सहायता के ज़रूरतमन्द लोगों की संख्या बहुत तेज़ी से बढ़ी है.

मैडागास्कर: 13 लाख लोग गम्भीर भुखमरी के कगार पर, दुनिया नज़रें नहीं फेर सकती

मैडागास्कर में संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष सहायता अधिकारी इस्सा सनोगो ने कहा है कि अन्तरराष्ट्रीय समुदाय को देश की मदद करने के लिये प्रयास तेज़ करने होंगे जहाँ 10 लाख से भी ज़्यादा लोग अत्यन्त गम्भीर भुखमरी का सामना कर रहे हैं.

हिंसा, असुरक्षा और जलवायु परिवर्तन के प्रभाव, कर रहे हैं करोड़ों लोगों को बेघर

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने कहा है कि ज़्यादा लोगों को हिंसा, असुरक्षा और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के कारण होने वाले प्राकृतिक हादसों से बचने के लिये भागना पड़ रहा है, तो दुनिया भर में, जबरन विस्थापित होने वाले लोगों की संख्या आठ करोड़ 40 लाख से भी ज़्यादा हो गई है.

अफ़ग़ान स्वास्थ्यकर्मियों को वेतन मिलने से भरोसे का पैग़ाम

अफ़ग़ानिस्तान में इस वर्ष जब अगस्त के मध्य में तालेबान में सत्ता पर नियंत्रण कर लिया था तो देश के लगभग केन्द्र में स्थित, 35 हज़ार की आबादी वाले शहर मैदान शर के मुख्य अस्पताल के ज़्यादातर कर्मचारियों को महीनों से वेतन नहीं मिला था. दवाइयों और खाद्य सामग्री जैसी ज़रूरी चीज़ों की भी कमी थी और वो बहुत जल्दी से ख़त्म होने के कगार पर थीं.

43 देशों में, साढ़े चार करोड़ लोग हैं अकाल के मुँहाने पर

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने आगाह किया है कि 43 देशों में बिल्कुल अकाल के मुँहाने पर पहुँचे लोगों की संख्या बढ़कर साढ़े चार करोड़ हो गई है, जिसमें इस वर्ष की शुरुआत से ही 30 लाख की वृद्धि हुई है, क्योंकि दुनिया भर में गम्भीर भुखमरी की स्थिति और बदतर हो रही है.

पाकिस्तान-अफ़ग़ानिस्तान सीमा पर आवाजाही आसान बनाये जाने का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी मामलों की एजेंसी (UNHCR) ने पाकिस्तान प्रशासन द्वारा अफ़ग़ानिस्तान से लगी सीमा पर लोगों और सामान की आवाजाही को सरल बनाने के लिये क़दम उठाये जाने का स्वागत किया है. हाल के दिनों में सीमा चौकी पर आवाजाही में आए व्यवधान से बड़ी संख्या में अफ़ग़ान नागरिक प्रभावित हुए हैं और व्यापार पर भी असर पड़ा है. 

अफ़ग़ान लोगों को आर्थिक संकट से उबारने के लिये 'जन अर्थव्यवस्था' कोष

संयुक्त राष्ट्र ने गुरूवार को कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान की अर्थव्यवस्था बिखर जाने के कगार पर पहुँच गई है और आने वाले महीनों में, केवल तीन प्रतिशत घरों को छोड़कर, बाक़ी पूरी आबादी के, ग़रीबी की रेखा से नीचे चले जाने की आशंका प्रबल है.

यमन: 'अधर में लटकी है, भविष्य बेहतर होने की सम्भावना’

यमन में संयुक्त राष्ट्र के एक वरिष्ठ मानवीय सहायता अधिकारी ने कहा है कि पूरे देश में संघर्ष और हिंसा जारी रहने का बहुत भारी असर, देश के लोगों पर पड़ा है, जो चाहते हैं कि ये हिंसा व संघर्ष जल्द से जल्द ख़त्म हो जाए, ताकि वो अपनी ज़िन्दगियाँ फिर सामान्य तरीक़े से शुरू कर सकें.