मानवीय सहायता

चाड में अगस्त 2022 में भारी बारिश से प्रभावित एक इलाक़े की आकाशीय तस्वीर.
IOM/Anne Schaefer

चाड: अभूतपूर्व वर्षा से 3.4 लाख लोग प्रभावित

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों की समन्वय एजेंसी – OCHA ने शुक्रवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि चाड में भारी बारिश ने अभूतपूर्ण बाढ़ उत्पन्न कर दी है, जिससे 55 हज़ार परिवारों में रहने वाले लगभग 3 लाख 40 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं. इस संख्या ने वर्ष 2021 के दौरान भी इसी तरह की बाढ़ से प्रभावित लोगों की ढाई लाख की संख्या को पीछे छोड़ दिया है.

श्रीलंका में आर्थिक संकट ने, बहुत से परिवारों के लिये, दैनिक ज़रूरतों की पूर्ति भी बहुत मुश्किल बना दी है.
© UNICEF/Chameera Laknath

श्रीलंका: बच्चों के लिये विनाशकारी संकट, दक्षिण एशिया के लिये एक चेतावनी

दक्षिण एशिया के लिये यूनीसेफ़ के क्षेत्रीय निदेशक जियॉर्ज लैरयी-ऐडजेई ने शुक्रवार को ध्यान दिलाते हुए कहा है कि श्रीलंका में मुख्य भोजन आहार, लोगों की ख़रीद शक्ति से बाहर हो गए हैं, जबकि संकट ग्रस्त देश श्रीलंका में, पहले ही गम्भीर कुपोषण की दर क्षेत्र में सबसे ऊँची थी.

संयुक्त राष्ट्र का विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) और मानवीय सहायता कार्यों की समन्वय एजेंसी OCHA, यूक्रेन में व्यापक पैमाने पर लोगों को सहायता मुहैया करा रहे हैं.
© WFP/Viktor Pesenti

यूक्रेन: सम्पर्क रेखा के इर्दगिर्द पहुँच की गारण्टी की अपील

यूक्रेन में संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष सहायता अधिकारी डेनीज़ ब्राउन ने बीते सप्ताह के दौरान सघन गोलाबारी का शिकार हुए पूर्वोत्तर शहर – ख़ारकीयेव से, शुक्रवार को रूस व उसके साझीदार बलों से, पूरी सम्पर्क रेखा वाले इलाक़ों में अत्यन्त ज़रूरी मानवीय सहायता सामग्री की आपूर्ति करने की अनुमति की गारण्टी दिये जाने की एक आपात अपील जारी की है.

इथियोपिया के उत्तरी इलाक़े टीगरे में विस्थापित एक परिवार को, विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) की सहायता
WFP/Claire Nevill

इथियोपिया: टीगरे में WFP की बड़ी ईंधन डकैती, सहायता अभियान अवरुद्ध

संयुक्त राष्ट्र की खाद्य सहायता एजेंसी – WFP ने कहा है कि इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में, उसके लगभग पाँच लाख टन ईंधन की डकैती हो जाने के बाद, भुखमरी का सामना कर रहे लाखों लोगों की मदद करने के अभियान जारी रखना असम्भव होगा.

अफ़ग़ानिस्तान के पक्तिका और ख़ोस्त प्रान्तों में 5.9 तीव्रता वाले भूकम्प के बाद हुए व्यापक विनाश के बाद, बहुत से लोगों को प्लास्टिक की चादरों से बने शिविरों में सोना पड़ रहा है, जिनमें बच्चे भी हैं.
© UNICEF/Ali Nazari

विश्व मानवीय दिवस: सहायताकर्मी ख़तरों के बीच, ज़िन्दगियाँ बचाने में सक्रिय

प्रति वर्ष 19 अगस्त को मनाए जाने वाले विश्व मानवय दिवस (WHD) के अवसर पर, सीरिया में सहायताकर्मी अहमद अलराग़ेब और अफ़ग़ानिस्तान में स्थित वैरोनिका हाउज़र, इन देशों में अति महत्वपूर्ण मानवीय सहायता प्रयासों, उनके व उनके सहयोगियों के सामने दरपेश चुनौतियों के बारे में बात कर रहे हैं.

काला सागर अनाज निर्यात समझौते के तहत, 26 हज़ार टन अनाज की पहली खेप को, लेबनान के लिये हरी झण्डी.
OCHA/Levent Kulu

यूएन प्रमुख यूक्रेन की यात्रा पर लवीव पहुँचे

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, यूक्रेन की यात्रा पर बुधवार को, पश्चिमी इलाक़े में सबसे बड़े शहर लवीव पहुँचे हैं.

मध्य अफ़्रीका गणराज्य की एक महिला जो अत्यन्त गम्भीर कुपोषण से प्रभावित है.
© UNICEF Chad/Alliah

OCHA: 2021 में 140 सहायताकर्मियों की मौत, सहायता धन की भारी कमी

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता मामलों की एजेंसी (OCHA) ने शुक्रवार को चेतावनी के अन्दाज़ में कहा है कि मानवीय सहायता अभियानों के लिये इस समय लगभग 34 अरब डॉलर की रक़म की कमी है जोकि मांग व उपलब्धता के बीच अभी तक का सबसे विशाल अन्तर है.

अफ़ग़ानिस्तान के कन्दाहार में, एक मेडिकल क्लीनिक में, एक महिला अपने बच्चे के साथ.
© UNICEF/Alessio Romenzi

अफ़ग़ानिस्तान: मानवीय सहायता से ज़िन्दगियाँ बचीं, मगर विशाल ज़रूरतें बरक़रार

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यालय (OCHA) ने गुरूवार को कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में पिछले लगभग एक साल के दौरान सहायता में अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी के बावजूद, अब भी विशाल ज़रूरतें मौजूद हैं और भविष्य स्याह नज़र आता है.

ग़ाज़ा में तबाही का एक दृश्य, अगस्त 2022
Ziad Taleb

ग़ाज़ा-इसराइल में युद्ध विराम का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – UNICEF ने तीन दिन तक भारी हिंसा जारी रहने के बाद ग़ाज़ा और इसराइल में युद्धविराम का स्वागत किया है.

यमन के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि हैं ग्रूण्डबर्ग, देश में ताज़ा स्थिति के बारे में, सुरक्षा परिषद को अवगत कराते हुए.
UN Photo/Eskinder Debebe

यमन: ऐतिहासिक युद्ध विराम समझौते को आगे बढ़ाने का आग्रह

यमन में संयुक्त राष्ट्र के समर्थन से हासिल किये गए ऐतिहासिक युद्ध विराम समझौते को लागू हुए लगभग चार महीने पूरे हो गए हैं, और विशेष दूत हैंस ग्रूण्डबर्ग ने गुरूवार को यमन सरकार और हूथी विद्रोहियों से, इस “परिवर्तनकारी” समझौते को आगे बढाने की दिशा में काम करने का आग्रह किया है, जो 2 अगस्त को ख़त्म हो रहा है.