मानवीय सहायता

नाइजीरिया के ज़्यादातर प्रान्त बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.
© UNICEF/Vlad Sokhin

नाइजीरिया: बाढ़ से लाखों लोग ख़तरे में, बुर्कीना फ़ासो में भी खाद्य अभाव

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने नाइजीरिया में आई भीषण बाढ़ और उससे हुई भारी तबाही पर गहरा दुख व्यक्त किया है जिसमें 28 लाख से ज़्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

यूक्रेन के इरपिन में क्षतिग्रस्त इमारतें.
© UNICEF/Anton Kulakowskiy

रूसी नियंत्रण से छुड़ाए गए यूक्रेनी इलाक़ों में पहुँचाई गई मानवीय राहत

संयुक्त राष्ट्र मानवीय राहतकर्मियों का कहना है कि यूक्रेन के पूर्वोत्तर क्षेत्र में, युद्ध के बीच उन इलाक़ों में राहत सामग्री पहुँचाई गई है, जिन्हें यूक्रेन ने हाल ही में, रूस के क़ब्ज़े से वापिस अपने नियंत्रण में लिया था.

एक भारतीय महिला खेत में फ़सल तैयार होने के बाद अनाज और भूसा अलग करते हुए.
World Bank/Ray Witlin

FAO: वैश्विक खाद्य उपलब्धता संकट को रोकने के लिये एकजुटता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के मुखिया ने बुधवार को कहा है कि यूक्रेन युद्ध ने ऐसे देशों के लिये संकट उत्पन्न कर दिये हैं जो उनकी आबादियों के लिये खाद्य सामग्रियाँ हासिल करने में संघर्ष कर रहे हैं, अन्तरराष्ट्रीय समुदाय को ये सुनिश्चित करना होगा कि ये स्थिति “खाद्य उपलब्धता संकट” में तब्दील ना हो जाए.

पाकिस्तान के सिन्ध प्रान्त में भीषण बाढ़ से जलमग्न एक गाँव.
© UNICEF/Asad Zaidi

पाकिस्तान बाढ़: ‘पानी उतरने में लग सकते हैं छह महीने'

संयुक्त राष्ट्र की राहत एजेंसियों ने मंगलवार को कहा है कि पाकिस्तान में अब भी लाखों लोग भीषण बाढ़ से प्रभावित हैं, जो अभी अपना आकार कम करती नज़र नहीं आ रही है.

सोमालिया में युद्ध व सूखा के हालात के कारण, देश के अनेक हिस्सों में खाद्य सामान की भारी क़िल्लत हो गई है.
© WFP/Kevin Ouma

‘भुखमरी की सूनामी’ से, बहुत से अकाल पड़ने की आशंका

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के प्रमुख मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने गुरूवार को सुरक्षा परिषद में बताया है कि संघर्ष जनित अकालों और व्यापक दायरे वाली खाद्य असुरक्षा के जोखिम लगातार बढ़ रहे हैं. ऐसे में उन्होंने सुरक्षा परिषद से इन आपस में गुँथे हुए संकटों का सामना करने और प्रभावित क्षेत्रों में टिकाऊ शान्ति स्थापना की दिशा में काम करने का आग्रह किया है.

संयुक्त राष्ट्र की खाद्य सहायता एजेंसी - WFP, पाकिस्तान के बाढ़ प्रभावित इलाक़ों में सहायता पहुँचाने की मुहिम के तहत, बलूचिस्तान प्रान्त में खाद्य वितरण से पहले आकलन में जुटी हुई है.
WFP Pakistan

पाकिस्तान: ‘नवीनतम जलवायु आपदा’ के बाद, यूएन एजेंसियों द्वारा मदद में तेज़ी

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत कोष (CERF) ने शुक्रवार को 70 लाख डॉलर की रक़म जारी करने की घोषणा करते हुए कहा है कि इस राशि से पाकिस्तान में आई भीषण बाढ़ का मुक़ाबला करने के प्रयासों को मज़बूती मिलेगी, जोकि लगभग एक दशक में बहुत भीषण बाढ़ है.

यूक्रेन के ख़ारकीयेव शहर में, एक 12 वर्षीय लड़की, अपने स्कूल के सामने, जो युद्ध में तबाह हो गया. ये लड़की अब अपनी शिक्षा ऑनलाइन माध्यमों से प्राप्त करती है.
© UNICEF/Ashley Gilbertson

विस्थापन, वैश्विक व आम जन की सुरक्षा, यूक्रेन युद्ध की बड़ी चुनौतियाँ

संयुक्त राष्ट्र में राजनैतिक एवं शान्तिनिर्माण मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने बुधवार को सुरक्षा परिषद को जानकारी देते हुए बताया कि यूक्रेन में जारी युद्ध में अब तक पाँच हज़ार 718 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें 372 बच्चे हैं.

सोमालिया के मोगादीशु के एक अस्पताल में कुपोषण का शिकार एक बच्चा.
© UNICEF/Omid Fazel

सोमालिया: अकाल का जोखिम बढ़ा, यूएन एजेंसियों की 'गम्भीर मोड़' की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के उच्च स्तरीय समन्वय फ़ोरम ने आगाह किया है कि सोमालिया एक ऐसे अति गम्भीर मोड़ पर पहुँच गया है जहाँ लाखों लोग अकाल के तत्काल जोखिम का सामना कर रहे हैं.

सीरिया के पूर्वी ग्रामीण इलाक़े - रक़्क़ा की एक अनौपचारिक बस्ती में, एक महिला अपने बच्चे के साथ, सर्दियों के कपड़े लेने के इन्तेज़ार में.
© UNICEF/Delil Souleiman

सीरिया: ‘बच्चों की एक पूरी पीढ़ी ग़ायब हो जाने का जोखिम’

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता मामलों की सहायक महासचिव जॉयस म्सूया ने सोमवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में अन्तरराष्ट्रीय प्रयासों के लिये पर्याप्त धन उपलब्ध नहीं होने के कारण, आम लोगों को अपरिवर्तनीय नुक़सान हो रहा है, और एक पूरी पीढ़ी का भविष्य दाव पर लग गया है.

चाड में अगस्त 2022 में भारी बारिश से प्रभावित एक इलाक़े की आकाशीय तस्वीर.
IOM/Anne Schaefer

चाड: अभूतपूर्व वर्षा से 3.4 लाख लोग प्रभावित

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों की समन्वय एजेंसी – OCHA ने शुक्रवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि चाड में भारी बारिश ने अभूतपूर्ण बाढ़ उत्पन्न कर दी है, जिससे 55 हज़ार परिवारों में रहने वाले लगभग 3 लाख 40 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं. इस संख्या ने वर्ष 2021 के दौरान भी इसी तरह की बाढ़ से प्रभावित लोगों की ढाई लाख की संख्या को पीछे छोड़ दिया है.