लिंग आधारित हिंसा

इक्वाडोर की राजधानी क्वीटो में एक महिला, लैंगिक हिंसा के विरोध में निकाले गये मार्च में हिस्सा ले रही है.
© UN Women/Johis Alarcón

जलवायु परिवर्तन, महिलाओं व लड़कियों के विरुद्ध हिंसा का जोखिम बढ़ने की एक वजह

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने बुधवार को चेतावनी जारी की है कि जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण क्षरण के कारण, विश्व भर में महिलाओं व लड़कियों के प्रति हिंसा का जोखिम बढ़ रहा है.

मैक्सिको के सैंटियागो डी क्वेरेटारो की गलियों में गुड़िया बेचती, मैक्सिको के आदिवासी समूह की एक महिला.
Unsplash/Bernardo Ramonfaur

आदिवासी महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा, नस्लवाद में निहित 'उपनिवेशवाद की विरासत'

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त एक स्वतंत्र अधिकार विशेषज्ञ ने मानवाधिकार परिषद को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा है कि आदिवासी महिलाओं व लड़कियों को गम्भीर, व्यवस्थित और निरन्तर हिंसा का सामना करना पड़ता है, जो उनके जीवन के हर पहलू पर हावी है.

उज़बेकिस्तान में युवा महिलाएँ, स्थानीय लोगों के जीवन में सुधार लाने के लिये तकनीक का सहारा ले रही हैं.
Rimma Mukhtarova and Sabina Baki

लड़कियों के लिये, टैक्नॉलॉजी की सुलभता सुनिश्चित किये जाने पर बल

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने ‘सूचना व संचार टैक्नॉलॉजी में लड़कियों के अन्तरराष्ट्रीय दिवस’ पर डिजिटल सीखने-सिखाने के अवसरों की समान सुलभता सुनिश्चित किये जाने का आहवान किया है.

मैक्सिको में महिलाएँ, अपनी पीड़ित बेटियों के लिये न्याय की माँग कर रही हैं.
Primavera Diaz

लिंग-आधारित हिंसा, एक ‘अदृश्य आपात स्थिति’ – रोकथाम उपायों पर चर्चा

संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष महिला अधिकारियों का कहना है कि दुनिया भर में घरों, कार्यस्थलों, रास्तों - सड़कों और ऑनलाइन माध्यमों पर महिलाओं व लड़कियों के लिये लिंग-आधारित हिंसा का शिकार होने का जोखिम बहुत ज़्यादा है. उन्होंने गुरूवार को आयोजित एक चर्चा के दौरान चिन्ता जताई कि कोविड-19 महामारी के दौरान यह समस्या और गहराई है.   

लिंग-आधारित हिंसा के विरोध में, तंज़ानिया के दार एस सलाम में स्कूली छात्राएँ एक मार्च निकालते हुए.
UN Women Tanzania/Deepika Nath

महिलाओं व लड़कियों के विरुद्ध हिंसा - कोरोनावायरस संकट के दौरान बढ़ी चुनौतियाँ

संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारियों ने ‘महिलाओं के विरुद्ध हिंसा का उन्मूलन करने के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस’ के सिलसिले में आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए, लिंग-आधारित हिंसा को एक वैश्विक संकट क़रार दिया है. हर वर्ष 25 नवम्बर को मनाए जाने वाले इस दिवस से ठीक पहले जारी एक रिपोर्ट दर्शाती है कि कोविड-19 के दौरान घरों व सार्वजनिक स्थलों पर महिलाओं की सुरक्षा पर असर हुआ है. 

यूएन अधिकारियों का मानना है कि लिंग आधारित हिंसा की छाया कोविड-19 महामारी के पीछे छिपी है.
UNDP

मानवीय आपात स्थितियों में लिंग आधारित हिंसा रोकने के लिये कार्रवाई की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारियों ने यूएन महासभा के 76वें सत्र के दौरान, हाशिये पर मुलाक़ात की और दुनिया भर में जबरन विस्थापन जैसी मानवीय आपात स्थितियों में वृद्धि के दौरान होने वाली लिंग आधारित हिंसा (GBV) के ख़िलाफ़ मज़बूत कार्रवाई का आहवान किया. 

विश्व भर में चरम मौसम की घटनाओं में वृद्धि हो रही है.
UN Women/Mohammad Rakibul Hasan

जलवायु परिवर्तन: इन पाँच रूपों में प्रभावित होती हैं महिलाएँ

वर्ष 2021 में, विश्व भर में जंगलों में विनाशकारी आग, झुलसा देने वाली ताप लहरों, भीषण बाढ़ व सूखे की घटनाओं के बीच, अन्तर-सरकारी आयोग की नई रिपोर्ट दर्शाती है कि जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में, दुनिया एक बेहद नाज़ुक मोड़ पर पहुँच रही है. जलवायु परिवर्तन से महिलाओं पर होने वाले असर पर एक नज़र...

नई दिल्ली के एक राशन वितरण केंद्र पर एक महिला के तापमान की जाँच की जा रही है.
UN Women/ Prashanth Vishwanathan

भारत में कोविड-19 और महिलाएँ – कुछ अहम प्रश्नों के उत्तर 

भारत में हाल के महीनों के दौरान, कोविड-19 महामारी के फैलाव की दूसरी लहर अपने साथ अभूतपूर्व बर्बादी लेकर आई है. महिलाओं और लड़कियों सहित, देश के निर्धनतम और निर्बलतम समुदायों को, आर्थिक चुनौतियों पर पार पाने और स्वास्थ्य संकट के दंश को कम करने में अपार मुश्किलों का सामना करना पड़ा है. 

यूएन अधिकारियों का मानना है कि लिंग आधारित हिंसा की छाया कोविड-19 महामारी के पीछे छिपी है.
UNDP

कोविड-19 के दौरान घरेलू हिंसा बढ़ोत्तरी से निपटने के लिये यूएन एजेंसियों के सक्रिय प्रयास

वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा के मामलों में बढोत्तरी दर्ज की गई और सख़्त पाबन्दियों के कारण सहायता सेवाओं की उपलब्धता भी सीमित रही है. भारत में संयुक्त राष्ट्र घरेलू हिंसा की शिकार महिलाओं को सहारा देने वाले संगठनों के साथ मिलकर काम कर रहा है और उन्हें हरसम्भव सहायता उपलब्ध कराने के लिये प्रयासरत है. एक रिपोर्ट... 

सोलोमॉन द्वीप में एक युवा महोत्सव में लगा एक मंच, जिसमें मज़बूत सन्देश दिया गया है: "महिलाओं और लड़कियों के ख़िलाफ़ अब और हिंसा नहीं"
UN Women

'लिंग आधारित हिंसा को ख़त्म कर दें, हमेशा-हमेशा के लिये'

संयुक्त राष्ट्र ने तमाम देशों की सरकारों ने लिंग आधारित हिंसा को हमेशा के लिये ख़त्म करने के लिये प्रयास दो गुने करने का आहवान किया है. बुधवार को महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा का उन्मूलन करने के अन्तरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े पर ये आहवान किया गया है.