कोविड-19

कोविड-19: टीकाकरण प्रयासों को मज़बूती प्रदान करने के लिये युद्धविराम की पुकार 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने शुक्रवार को सर्वमत से एक अहम प्रस्ताव पारित किया है, जिसमें मानवीय आधार पर सभी सदस्य देशों से हिंसक संघर्षों व टकरावों पर विराम लगाने के प्रयासों को समर्थन देने की पुकार लगाई गई है. इस आहवान का उद्देश्य वैश्विक महामारी कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिये टीकाकरण प्रयासों को तेज़ी से आगे बढ़ाना है.  

कोविड-19: 'ऐतिहासिक' चरण – कोवैक्स के तहत भारत से वैक्सीन ख़ुराकें रवाना 

संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व वाली ‘कोवैक्स पहल’ के तहत, भारत से कोरोनावायरस वैक्सीनों की खेप, घाना सहित अन्य ज़रूरतमन्द देशों के लिये, रवाना किये जाने का सिलसिला शुरू हो गया है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की भारत में प्रतिनिधि डॉक्टर यासमीन अली हक़ ने कोवैक्स वैक्सीन वितरण की शुरुआत को ऐतिहासिक क़रार देते हुए इसे, कोविड-19 महामारी पर क़ाबू पाने की दिशा में लिया गया एक बड़ा क़दम बताया है. 

टैक्नॉलॉजी क्रान्ति के अनेक लाभ, मगर विषमताओं की रोकथाम ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञों ने कहा है कि विकासशील देशों को, कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने में अहम औज़ार साबित होने वाली अभूतपूर्व टैक्नॉलॉजी को अपनाना होगा, लेकिन इसके अभाव में, डिजिटलीकरण के दौर में उन्हें पहले से कहीं व्यापक स्तर पर विषमताओं का सामना करना पड़ेगा. व्यापार एवँ विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मलेन (UNCTAD) द्वारा गुरुवार को जारी एक नई रिपोर्ट में डिजिटल समाधानों के बढ़ते इस्तेमाल और उनके प्रभाव की पड़ताल की गई है.  

कोविड-19: स्कूली आहार कार्यक्रमों में 'ऐतिहासिक प्रगति' पर मंडराता संकट

संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने आगाह किया है कि स्कूलों में बच्चों को मिलने वाले सेहतमन्द आहार सम्बन्धी कार्यक्रमों पर, कोरोनावायरस संकट और उसके प्रभावों की वजह से जोखिम मँडरा रहा है.  यूएन एजेंसी ने बुधवार को एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें बच्चों का बेहतर भविष्य सुनिश्चित करने के लिये ऐसे कार्यक्रमों में निवेश किये जाने की पुकार लगाई है.     

कोविड-19: पुनर्बहाली सर्वजन के लिये मानवाधिकार सुनिश्चित करने का ‘ऐतिहासिक अवसर’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सचेत किया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान दुनिया भर में मानवाधिकारों को नुक़सान पहुँचा है, लेकिन महामारी से पुनर्बहाली की प्रक्रिया, यथास्थितिवाद को पीछे छोड़ने और सर्वजन के लिये गरिमा सुनिश्चित करने का एक अवसर है. यूएन प्रमुख ने वर्ष 2020 में मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिये कार्रवाई किये जाने की पुकार लगाई, जिसके एक वर्ष बाद महासभा में, उन्होंने देशों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित किया है.

एशिया-प्रशान्त: महामारी से पुनर्बहाली में टिकाऊ ऊर्जा पर ज़ोर

एशिया-प्रशान्त के लिये संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग (ESCAP) की ऊर्जा समिति के तीसरे सत्र में, उच्च-स्तरीय प्रतिनिधियों ने ज़ोर देकर कहा है कि एशिया-प्रशान्त क्षेत्र जैसे-जैसे , कोविड-19 महामारी के बाद पुनर्बहाली की ओर बढ़ रहा है,  एक स्थाई, और कम कार्बन उत्सर्जन पर आधारित ऊर्जा की ओर क़दम उठाना अब पहले से भी अधिक महत्वपूर्ण हो गया है.

कोविड-19: कोवैक्स के तहत वैक्सीन की ऐतिहासिक खेप पहुँची घाना

कोविड-19 महामारी पर क़ाबू पाने के प्रयासों के तहत, जीवनरक्षक कोरोनावायरस वैक्सीन की छह लाख ख़ुराकों की खेप, घाना पहुँच गई है. ऑक्सफ़र्ड यूनिवर्सिटी और ऐस्ट्राज़ेनेका द्वारा विकसित वैक्सीन के इन टीकों की आपूर्ति, संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व में कोवैक्स पहल के अन्तर्गत पहली बार किसी देश में की गई है. इस उपलब्धि को ऐतिहासिक बताया गया है. इस पहल का लक्ष्य, सभी ज़रूरतमन्द देशों तक, कोविड-19 वैक्सीन का न्यायसंगत वितरण सुनिश्चित करना है.

कोविड-19: कोवैक्स के तहत, यूनीसेफ़ की पहली वैक्सीन सिरींज खेप, मालदीव को रवाना

दुनिया भर में, तमाम देशों को कोविड-19 का मुक़ाबला करने के प्रयासों में, लोगों को वैक्सीन के टीक सुरक्षित तरीक़े से लगवाने में सक्षम बनाने की दिशा में, मंगलवार को उस समय अहम बढ़त मिली, जब संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने मालदीव को एक लाख सिरींज भेजे जाने की घोषणा की. मालदीव में जल्द ही, टीकाकरण अभियान शुरू किया जाना है.

कोविड-19: कोवैक्स के टीका अनुबन्धों को प्राथमिकता देने का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने औषधि निर्माताओं से, संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व वाली समान वैक्सीन पहल, कोवैक्स के साथ अनुबन्ध को प्राथमिकता दिये जाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि यह “मुद्दा दान का नहीं है, यह मुद्दा महामारी विज्ञान का है."

यूएन प्रमुख का म्याँमार की सेना को सन्देश - आज की दुनिया में तख़्तालट के लिये 'कोई जगह नहीं'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को मानवाधिकार परिषद का नया सत्र शुरू होने के अवसर पर, म्याँमार के लोगों को अपना पूरा समर्थन दोहराया है. ध्यान रहे कि म्याँमार में, लगभग तीन सप्ताह पहले, सेना ने देश की सत्ता पर क़ब्ज़ा कर लिया था, जिसके बाद वहाँ अनेक स्थानों पर जन प्रदर्शन हुए हैं जिनमें हज़ारों लोगों शिरकत की है.