कोरोनावायरस संकट

जापान के टोकयो शहर में, मास्क पहने हुए लोग
© ADB/Richard Atrero de Guzman

कोविड-19: महामारी 'अभी ख़त्म नहीं हुई', नए वैरीएण्ट्स का जोखिम बरक़रार  

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 को वैश्विक महामारी के रूप में परिभाषित किये जाने के दो वर्ष पूरे होने से ठीक पहले आगाह किया है कि महामारी अभी ख़त्म नहीं हुई है. कोरोनावायरस के नए रूप व प्रकार (Variants) और वैक्सीन का विषमतापूर्ण वितरण अब भी दुनिया भर के लिये एक बड़ी चुनौती है.

कोलम्बिया के एक इलाक़े में कोविड-19 से बचाव के लिये टीकाकरण टीम.
WHO/PAHO/Nadege Mazars

कोविड-19: एक सप्ताह में सर्वाधिक संक्रमण मामलों की पुष्टि, ओमिक्रॉन का जोखिम बरक़रार

पिछले सप्ताह कोविड-19 संक्रमण मामलों की संख्या अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई और विश्व भर में, दो करोड़ 10 लाख से अधिक मामले दर्ज किये गए. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपने साप्ताहिक अपडेट में आगाह किया है कि कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट से उपजा जोखिम अभी भी ऊँचे स्तर पर है.

बांग्लादेश के कुटुपलाँग में एक स्वास्थ्य केन्द्र पर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक संक्रमण रोकथाम विशेषज्ञ, नर्सों को प्रशिक्षण देते हुए.
WHO/Blink Media/Fabeha Monir

2021 पर एक नज़र:  वायरस को 'कम करके आँकना, होगी एक बड़ी भूल' 

कोविड-19 महामारी के विरुद्ध बेहद कम समय में, चमत्कारी ढँग से कारगर वैक्सीन विकसित होने के बावजूद, कोरोनावायरस का फैलना और उसका रूप व प्रकार बदलना जारी है. वैश्विक महामारी के लम्बा खिंच जाने की एक प्रमुख वजह, वैश्विक सहयोग व एकजुटता का अभाव बताई गई है. वर्ष 2021 के दौरान, विकासशील देशों में आबादी को संक्रमण से रक्षा कवच प्रदान करने के लिये वैक्सीन वितरण की शुरुआत की गई, और भावी स्वास्थ्य संकटों से निपटने की तैयारियों की दिशा में क़दम बढ़ाये गए. 

ओमिक्रॉन वैरीएण्ट के मद्देनज़र, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने टीकाकरण की गति तेज़ करने का आग्रह किया है.
UN News

कोविड-19: 'नुवैक्सोविड' वैक्सीन को आपात प्रयोग के लिये WHO की स्वीकृति

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने वैश्विक महामारी कोविड-19 से बचाव के लिये 'नुवैक्सोविड' (Nuvaxovid™) वैक्सीन के आपात प्रयोग को मंज़ूरी दे दी है. योरोपीय औषधि एजेंसी (EMA) द्वारा वैक्सीन की समीक्षा किये जाने और उसे स्वीकृति दिये जाने के बाद यह घोषणा की गई है.  

 

ब्राज़ील में टीकाकरण अभियान के दौरान, एक महिला को कोविड-19 से बचाव के लिये टीका लगाया जा रहा है.
PAHO/Ivve Rodrigues

कोविड-19: संक्रमण मामलों में उछाल, 'ओमिक्रॉन' वैरीएण्ट ने 'डेल्टा' को छोड़ा पीछे

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि इस बात के लगातार साक्ष्य मिल रहे हैं कि कोरोनावायरस के ‘ओमिक्रॉन’ वैरीएण्ट के फैलने की रफ़्तार अब डेल्टा नामक वैरीएण्ट से तेज़ हो रही है. कोविड-19 महामारी से हर सप्ताह क़रीब 50 हज़ार लोगों की मौत हो रही है.

इटली में ओमिक्रॉन वैरीएण्ट के पहले संक्रमण मामले की पुष्टि हो चुकी है.
Unsplash/Matteo Jorjoson

सर्दियों और छुट्टियों का मौसम: कोविड-19 से बचाव के उपाय

शीत ऋतु के आगमन के संग आने वाली छुट्टियाँ, पारम्परिक रूप से हर आयु के लोगों के लिये अपने प्रियजन से मिलने-जुलने, पारिवारिक आयोजनों, धार्मिक उत्सवों और मित्रों-परिचितों के साथ घुलने-मिलने का अवसर रहा है. इस दौरान बड़ी संख्या में लोग, घरेलू या अन्तरराष्ट्रीय यात्रा करने की योजना भी बनाते हैं. मगर, कोविड-19 महामारी अब भी फैल रही है और इसलिये बेहद सतर्क रहने की आवश्यकता है. चन्द महत्वपूर्ण ऐहतियाती उपायों पर एक नज़र...

फ़िलिपीन्स में कोविड-19 से बचाव के लिये टीका लगाया जा रहा है.
© WHO/Blink Media/Hannah Reyes

कोविड-19: ओमिक्रॉन वैरीएण्ट से बड़े असर की आशंका, स्पष्ट जानकारी की प्रतीक्षा 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने बुधवार को कहा है कि कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट के मामलों की अब तक 57 देशों में पुष्टि हो चुकी है और यह आँकड़ा बढ़ने की सम्भावना है. उन्होंने सचेत किया कि वायरस के इस रूप व प्रकार का फैलाव और उसमें होने वाले बदलाव, वैश्विक महामारी की दिशा को व्यापक रूप से प्रभावित कर सकते हैं.  
 

होण्डुरस में प्रवासी परिवार ग्वाटेमाला की सीमा के नज़दीक जा रहे हैं.
© WFP/Julian Frank

कोविड-19 के दौरान तालाबन्दियों के बावजूद, वैश्विक विस्थापन में वृद्धि - IOM

कोविड-19 महामारी के कारण लागू की गई यात्रा पाबन्दियों, तालाबन्दियों और वैश्विक गतिशीलता के लगभग थम जाने के बावजूद, आपदाओं, हिंसक संघर्ष व टकराव के कारण घरेलू विस्थापन में नाटकीय बढ़ोत्तरी हुई है. अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन (IOM) द्वारा बुधवार को जारी एक नई रिपोर्ट में यह निष्कर्ष सामने आया है. 

 

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने ओमिक्रॉन वैरिएंट के उभरने पर संक्रमण मामलों में वृद्धि की आशंका जताई है.
© WHO

कोविड-19: ओमिक्रॉन वैरिएण्ट से बचाव के लिये, 'रूखे व कठोर' उपायों की आलोचना

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट पर उभरी चिन्ताओं के बीच सदस्य देशों से तार्किक व स्थिति के अनुरूप ही, जोखिम में कमी लाने वाले उपाय किये जाने का आग्रह किया है. यूएन एजेंसी प्रमुख ने क्षोभ जताया कि नए वैरिएण्ट के फैलाव पर तेज़ी से जानकारी देने के लिये, बोत्सवाना और दक्षिण अफ़्रीका सराहना के पात्र हैं, मगर अन्य देश कठोर व व्यापक क़दमों के ज़रिये उन्हें दण्डित कर रहे हैं. 

कोविड महामारी से निपटने के लिये संयुक्त राष्ट्र, भारत सरकार को पूरा सहयोग दे रहा है.
© UNICEF/Vinay Panjwani

कोविड-19: बच्चों में संक्रमण से कई अंगों पर असर के मामले, उपचार के लिये नए दिशानिर्देश

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोविड-19 संक्रमण के कारण, जिन बच्चों के कई अंग एक साथ प्रभावित होते हैं और उनमें सूजन व जलन (inflammation) होती है, उनका अस्पताल में उपचार स्टेरॉयड की मदद से किया जाना चाहिये.