कोरोना वायरस

जापान की राजधानी टोक्यो में, कोविड-19 से बचाव के लिये मास्क पहने हुए लोग.
© ADB/Richard Atrero de Guzman

कोविड-19: WHO की चेतावनी, वायरस अभी ठण्डा नहीं हुआ है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को चेतावनी देते हुए कहा है कि कोविड-19 महामारी के ख़त्म होने की ग़लत जानकारी फैलने, मास्क हटाने, शारीरिक दूरी को ख़त्म करने और अधिक संक्रमणकारी ओमिक्रॉन बीए.2 वैरिएण्ट के फैलाव सहित अनेक कारणों से, वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामलों में वृद्धि हो रही है. 

जापान के टोकयो शहर में, मास्क पहने हुए लोग
© ADB/Richard Atrero de Guzman

कोविड-19: 'ओमिक्रॉन का BA.2 प्रकार, है चिन्ता का कारण'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के तत्वावधान में एकत्र हुए कुछ वैज्ञानिकों ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी करके कहा है कि कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट से ही निकले एक और वायरस रूप BA.2 को चिन्ता का कारण मानते रहना चाहिये.

यूगाण्डा में एक स्वास्थ्यकर्मी, कोविड-19 का टीका लगाने की तैयारी करते हुए.
© UNICEF/Kalungi Kabuye

कोविड-19: स्वास्थ्य कर्मी ‘ख़तरनाक अनदेखी’ के शिकार

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य और श्रम एजेंसियों ने सोमवार को कहा है कि दुनिया भर में स्वास्थ्य टीमों को, कोविड-19 महामारी के दौरान जिस तरह की “ख़तरनाक अनदेखी” का सामना करना पड़ा है, उनसे निपटने के लिये, और ज़्यादा सुरक्षित कामकाजी हालात की दरकार है.

फ़्रांस के लियोन में तालाबन्दी के दौरान एक पत्रकार घर से काम कर रही हैं और उनकी बेटी उनके साथ खेल रही है.
© UNICEF/Bruno Amsellem/Divergence

कोविड काल में 'टैलीवर्किंग': नव सामान्य के लिये, जोखिम, लाभ और क़दम

संयुक्त राष्ट्र की दो एजेंसियों ने बुधवार को कहा है कि क़रीब दो वर्ष पहले फैलनी शुरू हुई कोरोनावायरस महामारी ने दुनिया भर में दफ़्तरी कामकाज में भारी व्यवधान डाला और उसी के परिणामस्वरूप दफ़्तरों से दूरस्थ स्थानों और घरों से कामकाज यानि ‘टैलीवर्किंग’ का चलन शुरू होने के साथ ही, कामगारों के स्वास्थ्य व अन्य तरह की बेहतरी के लिये महत्वपूर्ण परिवर्तनों की ज़रूरत है.

न्यूयॉर्क सिटी के मैनहैटन इलाक़े की एक व्यस्त सड़क लोगों की भीड़
Unsplash/Yoav Aziz

नया IMF पूर्वानुमान: बढ़ता महामारी प्रकोप, बाधित पुनर्बहाली, उच्च महंगाई

अन्तरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था, अपेक्षाओं के विपरीत कहीं ज़्यादा कमज़ोर अवस्था में, वर्ष 2022 में दाख़िल हो रही है. एजेंसी ने मंगलवार को, विश्व आर्थिक परिदृश्य (WEO) के बारे में प्रस्तुत ताज़ा जानकारी में ये बात कही है.

इण्डोनेशिया का एक परिवार, अपने एक परिजन की क़ब्र पर, जिसकी मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से हुई.
© UNICEF/Jiro Ose

कोविड-19: महामारी अभी कुछ समय तक हमारे बीच रहेगी, WHO प्रमुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन – WHO के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने सोमवार को कहा है कि दुनिया को ये स्वीकार कहना होगा कि कोविड-19 हमारे साथ अभी काफ़ी समय तक रहने वाला है, भले ही इस महामारी का ख़तरनाक दौर वर्ष के अन्त तक हो जाए, तो भी.

बुर्कीना फ़ासो में एक महिला, कोविड-19 वैक्सीन का टीका लगाए जाने के बाद, पर्ची दिखाते हुए.
© UNICEF/Frank Dejongh

अफ़्रीका: कोविड मामलों में गिरावट, संक्रमण की चौथी लहर पड़ी धीमी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गुरूवार को कहा है कि अफ़्रीका में कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट से फैली चौथी संक्रमण लहर कुछ धीमी होती नज़र आई है, मामलों में पहली बार महत्वपूर्ण कमी दर्ज की गई है, और मृत्यु संख्या भी कम हुई है.

कोवैक्स कार्यक्रम के तहत, तंज़ानिया को पहुँचाई गई ख़ुराकों की खेप
UNICEF/Daniel Msirikale

कोवैक्स के तहत, वैक्सीन के एक अरब टीके वितरित, रिकॉर्ड मुक़ाम

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की सर्वजन तक कोविड वैक्सीन की समान पहुँच की बहुपक्षीय रणनीति के तहत, एक अरब ख़ुराक़ें वितरित करने का रिकॉर्ड मुक़ाम हासिल किया गया है. यह उपलब्धि, जनवरी के दूसरे सप्ताह में रवाण्डा को, 11 लाख टीकों की आपूर्ति करने के साथ हासिल की गई है.

मलावी में कोविड-19 वैक्सीन का टीका लगवाने के लिये अपनी बारी की प्रतीक्षा करते हुए महिलाएँ.
© UNICEF/ Thoko Chikondi

कोविड-19: अफ़्रीका में ओमिक्रॉन की संक्रमण लहर में गिरावट

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गुरूवार को कहा है कि अफ़्रीका में कोरोनावायरस महामारी के संक्रमण की चौथी लहर में, छह सप्ताह के उछाल के बाद अब उतार देखा जा रहा है. ग़ौरतलब है कि ये संक्रमण लहर, मुख्य रूप से ओमिक्रॉन वैरिएण्ट के कारण फैली थी.

© UNICEF/Raphael Pouget

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन, 7 जनवरी 2022

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

  • दुनिया भर में कोरोनावयरस के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट का क़हर जारी, WHO महानिदेशक ने फिर लगाई वैक्सीन विषमता दूर करने की पुकार.
  • सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम और उपचार है सम्भव, फिर भी ये कैंसर लील लेता है - लाखों महिलाओं की ज़िन्दगी.
  • अफ़ग़ानिस्तान में हालात हो रहे हैं बदतर, सर्दियों के मौसम में बच्चों पर ज़्यादा असर.
  • पाकिस्तान ने, Refugees के रिकॉर्ड में सुविधा के लिये स्मार्ट कार्ड परियोजना की पूरी.
  • ब्रेल लिपि दिवस के मौक़े पर, यूएन एजेंसियों के जागरूकता अभियान.
     
ऑडियो
9'59"