कज़ाख़स्तान

सीरिया के पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्थित अल होल शिविर में एक परिवार, यूनीसेफ़ की तरफ़ से मिले सर्दियों के कपड़े ले जाते हुए.
© UNICEF/Delil Souleiman

घर की गन्ध: दाएश की एक पूर्व समर्थक महिला की कज़ाख़स्तान वापसी

मध्य पूर्व में सक्रिय आतंकवादी गुट दाएश (आइसिल) लड़ाकों के 600 परिजन - महिलाओं और बच्चों के पुनर्वास के एक कार्यक्रम के अन्तर्गत, पिछले तीन वर्षों के दौरान सीरिया से कज़ाख़स्तान भेजे गए हैं. इनमें एक ऐसी महिला भी है जो पहले अतिवादी विचार रखती थीं और जिन्होंने दाएश के एक सदस्य के साथ विवाह किया था.

कज़ाख़्स्तान के अलमाटी शहर का एक दृश्य.
© Unsplash/Alexander Serzhantov

कज़ाख़स्तान: 'तत्काल, स्वतंत्र व निष्पक्ष जाँच' कराए जाने की आवश्यकता पर बल

कज़ाख़स्तान में हाल ही में उपजी अशान्ति और विरोध-प्रदर्शनों में मृतक संख्या बढ़कर 164 तक पहुँच गई है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने सुरक्षा बलों द्वारा घातक बल के अनावश्यक व ग़ैर-आनुपातिक इस्तेमाल और उनकी कार्रवाई में प्रदर्शनकारियों के मारे जाने की तत्काल, स्वतंत्र व निष्पक्ष जाँच कराए जाने का आग्रह किया है.

कज़ाख़्स्तान की राजधानी अस्ताना में गगनचुम्बी इमारतों का एक नज़ारा.
Photo: World Bank/Shynar Jetpissova

कज़ाख़स्तान: अशान्ति बढ़ने के बीच, संयम व बातचीत की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट और मध्य एशिया के लिये, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरश की विशेष प्रतिनिधि नतालिया ग़ेरमन ने, कज़ाख़स्तान में घातक हिंसा होने की चिन्ताजनक ख़बरों के बीच, संयम और बातचीत का आहवान किया है.