जलवायु

जलवायु रिपोर्ट, पृथ्वी ग्रह के लिये एक 'रैड ऐलर्ट', यूएन प्रमुख की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र की एक ताज़ा जलवायु कार्रवाई रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक तापमान वृद्धि का मुकाबला करने के प्रयासों में जितनी कार्रवाई करने की ज़रूरत है, दुनिया भर के देश उसके निकट कहीं भी नज़र नहीं आ रहे हैं. 

मज़बूत जलवायु कार्रवाई के बिना, दुनिया के बिखर जाने का डर 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सुरक्षा परिषद की एक उच्चस्तरीय परिचर्चा में कहा है कि जलवायु परिवर्तन ने, वैश्विक शान्ति और सुरक्षा के लिये जो ख़तरा उत्पन्न कर दिया है, उसका सामना करने के लिये, और अधिक एकजुट कार्रवाई की दरकार है. इसी परिचर्चा में, प्रख्यात प्रकृति इतिहासकार सर डेविड ऐटेनबरॉ ने भी देशों को आगाह करते हुए कहा कि पृथ्वी ग्रह पूर्ण बिखराव के निकट पहुँच जाने के जोखिम का सामना कर रहा है.

पेरिस समझौते में अमेरिकी वापसी का स्वागत

अमेरिका, पेरिस जलवायु समझौते में फिर से शामिल हो गया है. वर्ष 2015 में विश्व नेताओं द्वारा अपनाए गए इस समझौते में, अमेरिका की सक्रिय भूमिका रही थी.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, पेरिस समझौते में अमेरिकी वापसी का स्वागत करते हुए, 19 फ़रवरी को, एक ऑनलाइन कार्यक्रम में, जलवायु परिवर्तन पर अधिक मज़बूत कार्रवाई किये जाने की अपनी पुकार दोहराई. 

उन्होंने कहा कि पेरिस जलवायु समझौता, हमारी आने वाली पीढ़ियों और सम्पूर्ण मानव परिवार के साथ एक क़रार है.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 19 फ़रवरी 2021

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
22'38"

भोजन और खाद्य सुरक्षा में 'दालों' की महत्ता, विश्व दिवस

संयुक्त राष्ट्र, बुधवार को, 'विश्व दालें दिवस' मना रहा है जिसके तहत, ना केवल पोषण के स्रोत के रूप में दालों की महत्ता को रेखांकित करने, बल्कि ज़मीन की उर्वरता बढ़ाने और फ़सलों के कीड़ों का असर कम करने में, उनकी भूमिका के बारे में भी जानकारी बढाई जाती है.

भारत: ग्लेशियर टूटने से हुए भारी नुक़सान पर यूएन प्रमुख ने जताया दुख, मदद की पेशकश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने भारत के उत्तराखण्ड प्रदेश में ग्लेशियर (हिमनद) टूटने से जान-माल के भारी नुक़सान पर गहरा दुख व्यक्त किया है. यूएन प्रमुख ने साथ ही, राहत और बचाव कार्यों में, किसी भी तरह की ज़रूरत में, मदद की पेशकश की है.

हवा से पानी बनाने की मशीन

पेरू के एक जीवविज्ञानी और युवा आविष्कारक को, हवा को पानी में बदलने की तकनीक विकसित करने के लिये, वार्षिक संयुक्त राष्ट्र के "Youth Champion of the Earth 2020" पर्यावरण पुरस्कार का विजेता घोषित किया गया है. देखें उनके काम की एक झलक...(वीडियो)