जलवायु कार्रवाई

जलवायु संकट से निपटने के लिए 'महत्वाकांक्षी कार्रवाई की तत्काल ज़रूरत'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि दुनिया एक गंभीर जलवायु इमरजेंसी का सामना कर रही है. संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी आबू धाबी में जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि स्थिति की गंभीरता को समझते हुए जलवायु कार्रवाई के लिए तत्काल निडर और महत्वाकांक्षी कदम उठाए जाने होंगे. 

ज़िंदगियां बचाने के लिए वायु प्रदूषण से मुक्ति ज़रूरी

बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जारी अपने संदेश में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वायु प्रदूषण के लगातार बिगड़ते स्तर और जलवायु संकट में संबंध को रेखांकित करते हुए तत्काल कार्रवाई की अपील की है.  इस वर्ष पर्यावरण दिवस पर वायु प्रदूषण के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलाने और उसकी रोकथाम के प्रयासों को बढ़ावा दिया जा रहा है.  

'तुवालु को बचा लिया तो समझिए दुनिया को बचा लिया'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन रोकने के लिए प्रयास न करने का विकल्प अब नहीं बचा है. एक अख़बार के लिए लिखे अपने लेख में उन्होंने व्यवसाय, बिजली उत्पादन, खाद्य उत्पादन और शहरों का निर्माण करने के तरीक़ों में त्वरित और गहरे बदलाव लाने की अपील भी की है. जलवायु परिवर्तन का संकट झेल रहे तुवालु जैसे लघु द्वीपीय देशों को बचाने को उन्होंने दुनिया बचाने से जोड़ा है.

'करदाताओं के धन का इस्तेमाल तबाही के लिए न हो'

ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में पर्यावरण संगठन ‘आर-20 कोएलिशन’ द्वारा आयोजित शिखर वार्ता को संबोधित करते हुए यूएन महासचिव अंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि आज ज़रूरत लोगों के बजाए प्रदूषण पर टैक्स लगाने की है. साथ ही उन्होंने जलवायु कार्रवाई के तहत जीवाश्म ईंधनों पर दी जाने वाली सब्सिडी को भी रोके जाने का आग्रह किया है. 

जलवायु कार्रवाई के लिए सूझबूझ भरे निर्णयों की आवश्यकता पर बल

दक्षिण प्रशांत क्षेत्र के देशों की यात्रा को समाप्त करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वैश्विक समुदाय से अपील की है कि जलवायु कार्रवाई के लिए समझदारी भरे निर्णयों की ज़रूरत हैं क्योंकि पूरे ग्रह का भविष्य दांव पर लगा है. 

यूएन महासचिव ने तुवालु और दुनिया को डूबने से बचाने की अपील की

तुवालु की यात्रा कर रहे संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि समुद्र का जलस्तर बढ़ने से तुवालु के सामने अस्तित्व का संकट पनप रहा है. तुवालु में सबसे ऊंची जगह समुद्री लहरों से महज़ पांच मीटर ही ऊपर है. तुवालु को बचाने के लिए उन्होंने जलवायु परिवर्तन के ज़िम्मेदार देशों से कार्रवाई की अपील की है.

जलवायु परिवर्तन के विरूद्ध लड़ाई में 'अग्रिम मोर्चे पर हैं न्यूज़ीलैंड के युवा'

न्यूज़ीलैंड में माओरी समुदाय के युवाओं और पैसिफ़िक द्वीपीय देशों के लोगों से बातचीत के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में युवा नेतृत्व के प्रति आभार जताया है. जलवायु कार्रवाई के तहत उन्होंने कोयला आधारित नए बिजली संयंत्रों को रोकने, वेतन के बजाए कार्बन पर टैक्स लगाने और जीवाश्म ईंधन से सब्सिडी वापस लेने को समाधान का हिस्सा बताया है.

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के लिए और धन की ज़रूरत

असमान वृद्धि, बढ़ता कर्ज़, वित्तीय बाज़ारों में उतार-चढ़ाव, और वैश्विक व्यापार पर कायम तनाव जैसी वैश्विक चुनौतियां, टिकाऊ विकास लक्ष्यों को पाने के रास्ते में बाधाएं खड़ी कर रही हैं. 2030 एजेंडा लागू करने के लिए वित्तीय संसाधन जुटाने पर न्यूयॉर्क में बैठक हो रही है जिसे संबोधित करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा कि इन महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को हासिल करने के लिए और धन की आवश्यकता होगी.

'नींद से जगाने वाली' घंटी है जलवायु परिवर्तन पर नई यूएन रिपोर्ट

जलवायु परिवर्तन से संबंधित ख़तरों और प्राकृतिक आपदाओं की लगातार बढ़ती संख्या दुनिया के लिए एक चेतावनी भरी घंटी है. संयुक्त राष्ट्र के मौसम विज्ञान संगठन (WMO) की 'स्टेट ऑफ़ द ग्लोबल क्लाइमेट' या 'वैश्विक जलवायु की स्थिति' रिपोर्ट को जारी करते हुए यूएन महासचिव ने जलवायु कार्रवाई की महत्वाकांक्षा बढ़ाने और टिकाऊ समाधानों को तलाशने की अपील की है.