जलवायु कार्रवाई

कोविड-19: पुनर्बहाली सर्वजन के लिये मानवाधिकार सुनिश्चित करने का ‘ऐतिहासिक अवसर’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सचेत किया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान दुनिया भर में मानवाधिकारों को नुक़सान पहुँचा है, लेकिन महामारी से पुनर्बहाली की प्रक्रिया, यथास्थितिवाद को पीछे छोड़ने और सर्वजन के लिये गरिमा सुनिश्चित करने का एक अवसर है. यूएन प्रमुख ने वर्ष 2020 में मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिये कार्रवाई किये जाने की पुकार लगाई, जिसके एक वर्ष बाद महासभा में, उन्होंने देशों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित किया है.

पेरिस समझौते में अमेरिका की वापसी – ‘उम्मीद भरा दिन’ 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में अमेरिका की वापसी का स्वागत करते हुए, इसे दुनिया के लिये एक उम्मीद भरा दिन क़रार दिया है, जिससे महत्वाकाँक्षी वैश्विक जलवायु कार्रवाई को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. पेरिस समझौते में वैश्विक तापमान में बढोत्तरी को रोकने और ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जनों में कटौती का महत्वाकाँक्षी लक्ष्य रखा गया है. 

भारत: बिजली चार्जिंग से हरित परिवहन

भारत में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) और भारतीय रेलवे ने मिलकर मुम्बई में बिजली-चालित परिवहन साधनों को बढ़ावा देने के लिये एक नवीन हरित पहल शुरू की है. इसके तहत, बिजली-चालित वाहनों के लिये शहर में सभी महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों, उपनगरों और निकटवर्ती मुम्बई महानगरीय क्षेत्र में, इलैक्ट्रिक (बिजली) चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध कराए जाएँगे.

दक्षिण-पूर्व एशिया में बिजली-चालित वाहनों को प्रोत्साहन

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP), दक्षिण-पूर्व एशिया में, ऊर्जा की बढ़ती खपत, वायु प्रदूषण और ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन की समस्या से निपटने के लिये, सभी देशों के साथ मिलकर, बिजली-चालित वाहनों को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है.