जलवायु कार्रवाई

2020, एक कठिन परीक्षा का साल - यूएन के कामकाज पर वार्षिक रिपोर्ट पेश 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोविड-19 महामारी की वजह से स्वास्थ्य-सम्बन्धी, सामाजिक, आर्थिक व मानवाधिकारों के लिये पैदा हुए संकटों ने ना सिर्फ़ बहुपक्षीय सहयोग की आवश्यकता को रेखांकित किया है, बल्कि उनकी कठिन परीक्षा भी ली है. 

यूनीसेफ़ - जलवायु परिवर्तन है बाल अधिकारों का भी संकट

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि मध्य अफ़्रीका गणराज्य, चाड, नाइजीरिया, गिनी और गिनी-बिसाउ सहित 33 देशों में बच्चों पर जलवायु परिवर्तन से व्यापक रूप से प्रभावित होने का ख़तरा मंडरा रहा है. 

आपदा राहत सहायता के लिये तत्पर मानवीय राहतकर्मियों की रक्षा की पुकार 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरूवार, 19 अगस्त, को विश्व मानवीय दिवस के अवसर पर, आपदाओं व त्रासदियों के दौरान निर्बलतम समुदायों की मदद के लिये तत्पर मानवीय सहायताकर्मियों की सराहना करते हुए उनकी रक्षा सुनिश्चित किये जाने के लिये हरसम्भव प्रयासों की पुकार लगाई है.   

जलवायु परिवर्तन: इन पाँच रूपों में प्रभावित होती हैं महिलाएँ

वर्ष 2021 में, विश्व भर में जंगलों में विनाशकारी आग, झुलसा देने वाली ताप लहरों, भीषण बाढ़ व सूखे की घटनाओं के बीच, अन्तर-सरकारी आयोग की नई रिपोर्ट दर्शाती है कि जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में, दुनिया एक बेहद नाज़ुक मोड़ पर पहुँच रही है. जलवायु परिवर्तन से महिलाओं पर होने वाले असर पर एक नज़र...

लातिन अमेरिका व कैरीबियाई क्षेत्र में चरम मौसम से करोड़ों लोग प्रभावित

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) व अन्य यूएन एजेंसियों की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि वर्ष 1998 और 2020 के दौरान, जलवायु-सम्बन्धी और भू-भौतिकीय घटनाओं से लातिन अमेरिका और कैरीबियाई क्षेत्र में, तीन लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है और 27 करोड़ से ज़्यादा लोग सीधे तौर पर प्रभावित हुए हैं. 

अन्तरराष्ट्रीय युवजन दिवस: बेहतर भविष्य के निर्माण में युवाओं की भागीदारी पर बल

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरूवार, 12 अगस्त, को 'अन्तरराष्ट्रीय युवजन दिवस' के अवसर पर ध्यान दिलाया है कि सर्वजन के लिये एक बेहतर भविष्य के निर्माण की दिशा में किये जा रहे प्रयासों में, युवजन अग्रिम पंक्ति में खड़े हैं.  

जलवायु कार्रवाई में आदिवासी समुदायों की भागीदारी को प्रोत्साहन

हर वर्ष 9 अगस्त को मनाया जाने वाला ‘विश्व के आदिवासी लोगों के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस’, जलवायु परिवर्तन और उसके प्रभावों से मुक़ाबला करने की कार्रवाई में इन समुदायों के महत्वपूर्ण योगदान को रेखांकित किये जाने का भी एक अवसर है.  

जलवायु: 'अभूतपूर्व वैश्विक तापमान वृद्धि के लिये मानवीय गतिविधियाँ ज़िम्मेदार'

जलवायु परिवर्तन पर अन्तर-सरकारी पैनल (IPCC) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि जलवायु परिवर्तन व्यापक स्तर पर तेज़ी से हो रहा है और यह प्रक्रिया गहन रूप धारण कर रही है. आईपीसीसी द्वारा सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक़ मौजूदा समयावधि में, कुछ रुझानों की दिशा पलट पाना सम्भव नहीं होगा. 

ताप लहरों, बाढ़ और सूखे की घटनाओं के बीच, जलवायु विज्ञान समीक्षा पर बैठक

संयुक्त राष्ट्र की एक वैज्ञानिक रिपोर्ट को स्वीकृति देने के लिये सोमवार को चर्चा शुरू हुई है, जिसके आधार पर इस वर्ष उच्चस्तरीय शिखर वार्ताओं को आगे बढ़ाया जाएगा. इसके ज़रिये दुनिया भर में जलवायु कार्रवाई को मज़बूती देने का प्रयास किया जा रहा है.

पेरिस समझौते में 1.5˚C लक्ष्य का रास्ता, जी20 समूह के बिना सम्भव नहीं - यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में तय 1.5 डिग्री सेल्सियस का लक्ष्य हासिल करने के लिये, जी20 समूह के देशों को एक सुस्पष्ट संकल्प दर्शाने की आवश्यकता है.