के द्वारा छनित:

जलवायु परिवर्तन

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य के ओकापी रिज़र्व में वन्यजीवन.
© FAO/Thomas Nicolon

कॉप27: जैवविविधता की रक्षा, दरअसल पेरिस समझौते की रक्षा है

अनेक वर्षों से जलवायु संकट और जैवविविधता संकट को अलग-अलग मुद्दों के रूप में देखा जाता रहा है, मगर वास्तविकता यह है कि वैश्विक तापमान में वृद्धि को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित रखने का कोई भी व्यावहारिक उपाय, प्रकृति की रक्षा और तात्कालिक पुनर्बहाली के बिना सम्भव नहीं है. मिस्र के शर्म अल-शेख़ में बुधवार को इनकी अहमियत को रेखांकित किया गया.

बच्चे पाम चक्रवात के दौरान गिरे पेड़ पर खेलते हैं और वानुअतु में पोर्ट विला के बाहरी इलाके में एक कार को कुचल दिया है.
UNICEF/Sokhin

UNICEF - आपदाओं से निपटने के लिए नई बाल-केन्द्रित जलवायु पहल

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ ने देशों को जलवायु संकट के वर्तमान प्रभावों व बढ़ते ख़तरों का सामना करने और आपदाओं से निपटने के उपायों पर, बुधवार को एक नई जलवायु वित्तपोषण पहल शुरू की है.

चाड में 30 वर्षों में सबसे भीषण बारिश हुई है, जिसके बाद नदियां उफ़ान पर थीं.
© UNICEF/Aldjim Banyo

वैश्विक संकटों के समाधान में जी20 समूह की महत्वपूर्ण भूमिका रेखांकित

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने आगाह किया है कि वैश्विक आबादी आठ अरब का आंकड़ा छू गई है और लगातार बढ़ रही है, जिसके मद्देनज़र, विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के समूह, जी20, द्वारा की जाने वाली कार्रवाई या उनकी निष्क्रियता, यह तय करेगी कि पृथ्वी पर हर एक व्यक्ति के लिए एक शान्तिपूर्ण एवं स्वस्थ जीवन सम्भव हो पाएगा या नहीं.

आइवरी कोस्ट में U-Reporter में शामिल युवजन का समूह.
© UNICEF/Frank Dejongh

जलवायु परिवर्तन ने बढ़ाई चिंता, माता-पिता बनने पर युवजन कर रहे हैं पुनर्विचार

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) द्वारा कराए गए एक वैश्विक सर्वेक्षण के नतीजों के अनुसार, जलवायु परिवर्तन के कारण अफ़्रीकी महाद्वीप पर युवजन की लगभग आधी आबादी, माता-पिता बनने की अपनी भावी योजनाओं पर पुनर्विचार कर रही है. पृथ्वी पर बढ़ते जलवायु संकट और जोखिमों की वजह से उन्हें इस अनिश्चितता का सामना करना पड़ रहा है.

कच्चे तेल के शोधन से निकलने वाले उत्सर्जन, जीवाश्म ईंधन के कुल उत्सर्जनों में एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं.
© Unsplash/Zbynek Burival

अतीत के आठ वर्ष, सर्वाधिक गर्म साल होने की राह पर, WMO की नई रिपोर्ट

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) की रविवार को जारी एक नई रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले आठ वर्ष, रिकॉर्ड पर अब तक के सर्वाधिक गर्म साल के रूप में दर्ज किये जाने के रास्ते पर हैं, और ग्रीनहाउस गैस की सघनता में निरन्तर वृद्धि व उससे उपजी गर्मी से ये रुझान जारी है. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस रिपोर्ट को मौजूदा जलवायु अराजकता का एक लेखा-जोखा बताते हुए महत्वाकांक्षी जलवायु कार्रवाई की पुकार लगाई है.

यूएन महासचिव संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए.
UN Photo/Mark Garten

अनाज निर्यात पहल, इथियोपिया में समझौता, 'बहुपक्षवाद की शक्ति का परिचायक'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि रूस द्वारा 'काला सागर अनाज निर्यात पहल' में अपनी भागेदारी फिर से शुरू करने का निर्णय और इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में लड़ाई पर विराम लगाने के लिये हुआ समझौता, बहुपक्षवाद में निहित शक्ति को दर्शाता है. यूएन प्रमुख ने मिस्र के शर्म अल-शेख़ में वार्षिक जलवायु सम्मेलन (कॉप27) के दौरान विकसित व विकासशील देशों में भरोसे का निर्माण किये जाने पर बल दिया है.  

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में बाढ़ के पानी के नीचे पानी की आपूर्ति लाइन से युवा लड़के पीने का पानी इकट्ठा करते हैं.
© UNICEF/Asad Zaidi

मानवाधिकार, जलवायु परिवर्तन पर चर्चा में एक अहम मुद्दा

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त वोल्कर टूर्क ने बुधवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि आपात जलवायु हालात के दौरान, अपर्याप्त कार्रवाई के कारण मानवता के लिये जीवन का बुनियादी अधिकार ही ख़तरे में है.

मिस्र के शर्म अल-शेख़ में सूर्यास्त का दृश्य.
Unsplash/Juanma Clemente-Alloza

कॉप27: वार्षिक यूएन जलवायु सम्मेलन मिस्र में, कुछ अहम जानकारी

संयुक्त राष्ट्र का वार्षिक जलवायु सम्मेलन (कॉप27), विश्व भर में चरम मौसम की घटनाओं, यूक्रेन में युद्ध के कारण उपजे ऊर्जा संकट और उन वैज्ञानिक तथ्यों व चेतावनियों की पृष्ठभूमि में, मिस्र के शर्म अल-शेख़ में 6 से 18 नवम्बर तक हो रहा है. इस सम्बन्ध में आगाह किया गया है कि कार्बन उत्सर्जन से निपटने और पृथ्वी के भविष्य की रक्षा के लिये पर्याप्त प्रयास नहीं किये जा रहे हैं.   

WHO और WMO ने जलवायु और स्वास्थ्य के लिए एक नया ज्ञान मंच लॉन्च किया.
WHO

जलवायु और स्वास्थ्य पर अधिक जानकारी के लिये एक नया पोर्टल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) के संयुक्त कार्यालय ने, जलवायु परिवर्तन के स्वास्थ्य जोखिमों से लोगों की रक्षा हेतु उपाय मुहैया कराने के उद्देश्य से सोमवार को पहला वैश्विक ज्ञान मंच - climahealth.info - शुरू किया है. इसमें वैलकम ट्रस्ट का भी समर्थन हासिल है.

इण्डोनेशिया के बाली में बच्चे सूनामी लहरों के जोखिम के मद्देनज़र तैयारी कर रहे हैं.
UNDRR/Antoine Tardy

आपदा जोखिम न्यूनीकरण: केवल 50% देशों में ही, समय पूर्व चेतावनी की पर्याप्त व्यवस्था

आपदा जोखिम न्यूनीकरण पर यूएन कार्यालय (UNDRR) और विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) की एक नई रिपोर्ट में चेतावनी जारी की गई है कि विश्व के 50 प्रतिशत देशों में विभिन्न प्रकार के जोखिमों से रक्षा के लिये, समय पूर्व चेतावनी प्रणाली उपलब्ध नहीं है.