जलवाय परिवर्तन

यूएनडीपी इंडिया, रीन्यू और एफआईआईटी के प्रतिनिधियों के साथ छह महिला उद्यमियों का पहला समूह.
UNDP

भारत की छह महिला जलवायु चैम्पियन: सततता की राह पर बढ़ते क़दम

नवीनतम मानव विकास रिपोर्ट के अनुसार, जलवायु परिवर्तन के कारण दुनिया अनेक संकटों का सामना कर रही है और इससे मानव विकास प्रभावित हो रहा है. जलवायु परिवर्तन पर अन्तर-सरकारी पैनल (IPCC) की हाल की रिपोर्ट से पता चलता है कि विश्व की लगभग आधी आबादी, ऐसे क्षेत्रों में रहती है जो जलवायु परिवर्तन के प्रति अत्यधिक सम्वेदनशील है. लेकिन जहाँ आपस में गुँथे हुए संकट ख़तरे को बढ़ाने का काम करते हैं, वहीं महिलाएँ इससे निपटने के समाधान पेश करती हैं. मिलिये, भारत की ऐसी छह महिला चैम्पियन्स से जो अपने-अपने क्षेत्रों में असाधारण योगदान कर रही हैं...

यूएन महासभा के 77वें सत्र के लिये अध्यक्ष कसाबा कोरोसी.
UN Photo/Cia Pak

जनरल डिबेट का समापन: नई चुनौतियों से परिपूर्ण दौर में, वैश्विक एकजुटता पर बल

संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक सप्ताह तक, सदस्य देशों की प्राथमिकताओं, उनके समक्ष मौजूद चुनौतियों व उनके प्रभावों पर विचार-विमर्श के बाद, जनरल ऐसेम्बली के 77वें सत्र का उच्चस्तरीय खण्ड सोमवार को समाप्त हो गया. यूएन महासभा अध्यक्ष ने अपने समापन सम्बोधन में कहा कि इस दौरान बड़ी संख्या में प्रतिभागियों की उपस्थिति दर्शाती है कि अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्धों के परिप्रेक्ष्य में जनरल डिबेट कितनी अहम है. 

अंबोवोम्बे, एंड्रोय क्षेत्र, मेडागास्कर, एक लड़का एक पेड़ पर आश्रय लेता है जो रेतीले हवा से खुद को बचाने के लिए "टियोका" हवा की दिशा में बढ़ता है.
UNICEF/Andrianantenaina

जंगलों में आग और बाढ़ को त्रासदी में बदलने से रोकने पर बल, नई रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को अपनी एक नई रिपोर्ट जारी की है जोकि दर्शाती है कि भूकम्प, बाढ़, ताप लहरों और जंगलों में आग लगने की घटनाओं के ख़तरों को जानलेवा आपदाओं में तब्दील होने से रोका जा सकता है.

स्वीडन के स्टॉकहोम में Fridays for Future वैश्विक हड़ताल में, युवा जलवायु कार्यकर्ता शिरकत करते हुए.
© UNICEF/Christian Åslund

पर्यावरण के लिये ज़्यादा कार्रवाई हो, वरना पृथ्वी के 'मानव बलिदान का क्षेत्र' बन जाने का जोखिम

मानवाधिकार विशेषज्ञों का कहना है कि वातावरण को एक प्रमुख मुद्दा बनाने के लिये, विश्व का पहला सम्मेलन, पाँच दशक पहले स्वीडन में हुआ था, तब से ये समझ बढ़ी है कि अगर इनसानों ने पृथ्वी की देखभाल करने में कोताही बरती, तो ये ग्रह मानव बलिदान का क्षेत्र बनकर रह जाएगा. पृथ्वी की रक्षा के लिये आगे की कार्रवाई पपर चर्चा करने के लिये, इस सप्ताह स्टॉकहोम में ताज़ा विचार-विमर्श शुरू होने वाला है, उस सन्दर्भ में सोमवार को, विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि ऐसे कहीं ज़्यादा विशाल प्रयासों की आवश्यकता है जिनके ज़रिये हर साल लाखों ज़िन्दगियाँ बचाई जा सकें.

जलवायु परिवर्तन के कारण जैविक विविधता पर ख़तरा मंडरा रहा है.
© Unsplash/Zdeněk Macháček

प्रकृति के विरुद्ध 'नासमझी भरे, विनाशकारी युद्ध' का अन्त किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रविवार, 22 मई, को ‘अन्तरराष्ट्रीय जैविक विविधता दिवस’ के अवसर पर अपने सन्देश में, जैवविविधता की रक्षा व प्रकृति के साथ समरसतापूर्ण सम्बन्ध स्थापित करने और सर्वजीवन हेतु एक साझा, टिकाऊ भविष्य के निर्माण के लक्ष्य के साथ कारगर कार्रवाई का आहवान किया है.  

अपोलो 17 के चालक दल ने 1972 में चंद्रमा तक पहुँचने के सफ़र के दौरान पृथ्वी की तस्वीर ली.
© NASA

अन्तरराष्ट्रीय माँ पृथ्वी दिवस: तिहरे पर्यावरणीय संकटों से निपटने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने आगाह किया है कि पृथ्वी पर तीन बड़े संकट – जलवायु व्यवधान, प्रकृति व जैवविविधता की हानि, और प्रदूषण व अपशिष्ट – करोड़ों लोगों के रहन-सहन और वजूद के लिये जोखिम उत्पन्न कर रहे हैं. उन्होंने शुक्रवार, 22 अप्रैल, को ‘अन्तरराष्ट्रीय माँ पृथ्वी दिवस’ के अवसर पर इन तिहरी आपदाओं से निपटने के लिये महत्वाकांक्षी कार्रवाई का आहवान किया है.

सोमालिया में सूखे की घटनाओँ से खाद्य सुरक्षा पर भीषण असर हुआ है और महिलाओं के यौन शोषण का जोखिम बढ़ा है.
IOM/Celeste Hibbert

अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा के लिये महत्वाकांक्षी जलवायु कार्रवाई की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरश ने आगाह किया है कि जलवायु त्रासदियों से विश्व का कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं है और जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों को टालने के लिये समय तेज़ी से बीता जा रहा है. 

अमेरिका के मिशिगन में एनरिको फ़र्नी परमाणु ऊर्जा संयंत्र.
NOAA/OAR/Great Lakes Environmental Research Laboratory

परमाणु ऊर्जा के बिना, जलवायु लक्ष्य प्राप्ति में रह जाएगी कमी - UNECE 

योरोपीय क्षेत्र के लिये संयुक्त राष्ट्र आर्थिक आयोग (UNECE) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि वैश्विक तापमान में बढ़ोत्तरी की रफ़्तार को धीमा करने और कार्बन उत्सर्जन में कटौती के उपायों में, परमाणु ऊर्जा के इस्तेमाल को भी शामिल किया जाना होगा. 

कोस्टा रीका के ग्रामीण इलाक़े में एक महिला जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में मदद के लिये पादप रोपण कर रही है.
UNDP Costa Rica

जलवायु कार्रवाई में आदिवासी समुदायों की भागीदारी को प्रोत्साहन

हर वर्ष 9 अगस्त को मनाया जाने वाला ‘विश्व के आदिवासी लोगों के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस’, जलवायु परिवर्तन और उसके प्रभावों से मुक़ाबला करने की कार्रवाई में इन समुदायों के महत्वपूर्ण योगदान को रेखांकित किये जाने का भी एक अवसर है.  

अमेरिका के ओरेगॉन प्रान्त में स्थित एक नेशनल पार्क में लगी आग.
Unsplash/Marcus Kauffman

जलवायु: 'अभूतपूर्व वैश्विक तापमान वृद्धि के लिये मानवीय गतिविधियाँ ज़िम्मेदार'

जलवायु परिवर्तन पर अन्तर-सरकारी पैनल (IPCC) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि जलवायु परिवर्तन व्यापक स्तर पर तेज़ी से हो रहा है और यह प्रक्रिया गहन रूप धारण कर रही है. आईपीसीसी द्वारा सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक़ मौजूदा समयावधि में, कुछ रुझानों की दिशा पलट पाना सम्भव नहीं होगा.