जल संसाधन

अफ़्रीकी आबादी के केवल 40 फ़ीसदी हिस्से के पास ही, चरम मौसम और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के विरुद्ध, समय पूर्व चेतावनी प्रणाली की सुलभता है.
IOM/Amanda Nero

अफ़्रीका में जलवायु परिवर्तन, समुदायों व अर्थव्यवस्थाओं के लिये ख़तरा

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) ने गुरूवार को प्रकाशित अपनी एक नई रिपोर्ट में सचेत किया है कि विनाशकारी बाढ़, सूखे समेत अन्य जोखिमों से अफ़्रीकी समुदायों, अर्थव्यवस्थाओं और पारिस्थितिकी तंत्रों के समक्ष गम्भीर चुनौती पैदा हो रही है.

मध्य मैडागास्कर में एक बच्ची एक कृत्रिम तालाब से पानी भर कर ला रही है.
OCHA/Viviane Rakotoarivony

भूमि और जल संसाधनों पर बढ़ता दबाव, खाद्य सुरक्षा के लिये हालात जोखिम भरे

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि पिछले एक दशक में, मृदा, भूमि और जल संसाधनों पर दबाव लगातार बढ़ा है और अब स्थिति एक नाज़ुक पड़ाव पर पहुँच गई है. रिपोर्ट के मुताबिक़, मौजूदा हालात, पारिस्थितिकी तंत्रों की सेहत के नज़रिये से चिन्ताजनक हैं, जिससे बढ़ती विश्व आबादी की खाद्य सुरक्षा के लिये ख़तरा उत्पन्न हो सकता है.

ब्राज़ील बोआ विस्ता में यूनीसेफ़ ने हाथ धोने के लिे एक अनौपचारिक केंद्र को स्थापित किया है.
© UNICEF/Yareidy Perdomo

सर्वजन के लिये जल व स्वच्छता – त्वरित कार्रवाई के लिए नया फ़्रेमवर्क

वर्ष 2030 तक सभी के लिये जल और साफ़-सफ़ाई की सुलभता सुनिश्चित कराने के इरादे से गुरुवार को एक नई व्यवस्था शुरू की गई है. 'Global Acceleration Framework for SDG-6' नामक इस प्रणाली का उद्देश्य टिकाऊ विकास लक्ष्यों के 2030 एजेण्डा को हासिल करने के प्रयासों में तेज़ी लाना है और इसे 30 से ज़्यादा यूएन संस्थाओं और 40 अन्तरराष्ट्रीय संगठनों ने विकसित किया है. 

बोस्निया के पर्वतों में चरम मौसम की एक घटना.
WMO/Vladimir Tadic

जल की बूंद-बूंद को सहेजा जाना ज़रूरी

बाढ़, भारी बारिश, सूखा और पिघलते हिमनद...जलवायु परिवर्तन के कई बड़े संकेत स्पष्ट रूप से जल पर आधारित हैं. इस वर्ष विश्व मौसम विज्ञान दिवस पर यूएन की मौसम विज्ञान एजेंसी ने जल और जलवायु के आपसी संबंध को रेखांकित करते हुए जल संबंधी ऑंकड़ों की बेहतर उपलब्धता सुनिश्चित करने की पुकार लगाई है.