इसराइल

युद्धापराध के आरोपों की जांच जवाबदेही तय करने में 'एक अहम क़दम'

संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ माइकल लिन्क ने अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (ICC) के उस फ़ैसले का स्वागत किया है जिसमें फ़लस्तीन में कथित युद्धापराधों की आपराधिक जांच पर विचार करने की बात कही गई है. यूएन विशेषज्ञ ने कहा कि पांच दशक से फ़लस्तीनी इलाक़ों पर चले आ रहे इसराइली क़ब्ज़े की जवाबदेही तय करने की प्रक्रिया में यह एक बेहद महत्वपूर्ण क़दम होगा. 

फ़लस्तीन ने इसराइली क़ब्ज़े की विशाल क़ीमत चुकाई

फ़लस्तीनी इलाक़ों पर इसराइली क़ब्ज़े की स्थानीय लोगों को बहुत भारी क़ीमत चुकानी पड़ी है. संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि वर्ष 2000 से 2017 की अवधि में फ़लस्तीन ने इसराइल द्वारा क़ाबिज़ इलाक़ों की 47 अरब 70 करोड़ डॉलर वित्तीय क़ीमत चुकाई. जो वर्ष 2018 में फ़लस्तीनी अर्थव्यवस्था के आकार का तीन गुना है. 

दशकों से अनसुलझे इसराइल-फ़लस्तीन विवाद के निपटारे की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने ‘फ़लस्तीनियों के साथ एकजुटता के अंतरराष्ट्रीय दिवस’ पर उनके अपरिहार्य अधिकारों को वास्तविकता में बदलने के लिए प्रयासरत रहने का संकल्प दोहराया है. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा है कि दो-राष्ट्र समाधान का कोई और विकल्प नहीं है और उसमें भरोसा बहाल किया जाना होगा.

इसराइली बस्तियाँ अंतरराष्ट्रीय क़ानून का 'घोर उल्लंघन' हैं - यूएन दूत

किसी देश का अपनी राष्ट्रीय नीति के तहत कुछ भी कहना हो, इसराइल द्वारा क़ब्ज़ा किए हुए फ़लस्तीनी क्षेत्रों में इसराइली बस्तियाँ बसाया जाना 'अंतरराष्ट्रीय क़ानून के तहत घोर उल्लंघन' है. मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष संयोजक निकोलय म्लदेनॉफ़ ने बुधवार को सुरक्षा परिषद में ये बात कही. 

क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में इसराइली बस्तियों पर अमेरिका के नए रुख़ पर खेद

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता ने कहा है कि इसराइल द्वारा क़ब्ज़ा हुए फ़लस्तीनी इलाक़ों में इसराइली बस्तियाँ बसाए जाने पर यूएन के लंबे समय से चले आ रहे रुख़ में कोई बदलाव नहीं आया है. यूएन का स्पष्ट रूप से मानना है कि फ़लस्तीनी इलाक़ों में इसराइली बस्तियों का निर्माण अंतरराष्ट्रीय क़ानून का उल्लंघन है. अमेरिका ने हाल ही में इस संबंध में अपनी नीति बदले जाने की घोषणा की थी जिसके बाद यूएन प्रवक्ता ने न्यूयॉर्क में पत्रकारों से यह बात कही है.

ग़ाज़ा: आम नागरिकों पर हमले किसी भी तरह से 'जायज़ नहीं'

ग़ाज़ा में मंगलवार को इसराइल द्वारा इस्लामिक जेहाद संगठन के नेता को निशाना बनाकर मारे जाने के बाद इसराइल पर बड़ी संख्या में रॉकेट दागे गए हैं. बिगड़ते हालात के बीच मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया में यूएन के विशेष समन्वयक निकोलाय म्लादेनोफ़ ने ग़ाज़ा से इसराइल पर किए जा रहे रॉकेट हमलों और इसराइल की कार्रवाई के बाद बिगड़ते हालात पर गहरी चिंता जताई है.

इसराइल व फ़लस्तीन संघर्ष है - 'कई पीढ़ियों के लिए त्रासदी'

मध्य पूर्व के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत निकोलाय म्लादेनोफ़ ने कहा है कि इसराइली-फ़लस्तीनी संघर्ष में ज़मीनी स्तर पर ख़राब हालात से विवाद का दो-राष्ट्र समाधान दूर होता जा रहा है. उन्होंने दुख जताया कि समाधान के अभाव में दोनों पक्षों के बीच यह विवाद कई पीढ़ियों को प्रभावित करने वाली एक त्रासदी बन गया है. 

इसराइल: ईरान को परमाणु हथियार बनाने की इजाज़त नहीं दी जा सकती

इसराइल के विदेश मंत्री ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को ईरान को परमाणु हथियार विकसित करने से रोकने के लिए एकजुट होना चाहिए. 

महमूद अब्बास ने संयुक्त राष्ट्र के मंच से इसराइली "घमंड" को ख़ारिज करते हुए ख़बरदार किया

फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने गुरूवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए इसराइली सरकार के, उन्हीं के शब्दों में, “घमंडी और आक्रामक” रवैये की निंदा की और संयुक्त राष्ट्र का आहवान किया कि संकट हल करने के लिए दो राष्ट्रों की स्थापना वाले समाधान के लिए ज़ोरदार प्रयास किए जाएँ.

मध्य पूर्व ‘शांति प्रक्रिया ठप’, हिंसा भड़कने का ख़तरा

मध्य पूर्व में शांति प्रयासों के लिए विशेष समन्वयक निकोलय म्लादेनॉफ़ ने कहा है कि शांति प्रक्रिया में आए गतिरोध को दूर करने और वार्ता को पुर्नजीवित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है. उन्होंने क्षेत्र में हिंसा और अस्थिरता फैलने के ख़तरे के बीच दोनों पक्षों से अनुरोध किया है कि चरमपंथियों और कट्टरपंथियों के विरुद्ध मज़बूती दिखानी होगी.