ईबोला

काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में ईबोला का 11वाँ फैलाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में ईबोला के नए मामले सामने आने के बाद उससे और कोविड-19 से निपटने में देश की मदद की जाएगी.

काँगो में सशस्त्र गुटों के हमले में ईबोला स्वास्थ्यकर्मियों की मौत

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) में हथियारबंद गुटों ने घातक ईबोला बीमारी पर क़ाबू पाने के प्रयासों में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों को निशाना बनाकर हमला किया है जिसमें चार की मौत हुई है और पांच अन्य घायल हुए हैं. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के मुताबिक़ ये हमले ऐसे समय हुए हैं जब ईबोला के मामलों में कमी देखने को मिली है लेकिन ऐसी घटनाओं से बीमारी से निपटने की कोशिशों को धक्का लग सकता है.  

जलवायु आपदा: आंदोलन शुरू हो चुका है

4 अक्तूबर 2019 के इस साप्ताहिक बुलेटिन में शामिल हैं.

जलवायु कार्रवाई के बारे में महासचिव की पुकार – दूर है मंज़िल मगर आंदोलन ने पकड़ ली है रफ़्तार.

कोंगो लोकतांत्रिक गणराज्य में ईबोला से बचने में कामयाब हो गए हैं एक हज़ार लोग, जो है बड़ी कामयाबी.

ऑडियो -
16'10"

काँगो गणराज्य में जटिल हालात में ईबोला से 1000 जीवित बचने पर बड़ी तसल्ली

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में एक हज़ार लोग ईबोला के चंगुल से जीवित बचने में कामयाब हो गए हैं. संयुक्त राष्ट्र ने इस कामयाबी का श्रेय कोंगो के स्वास्थ्य अधिकारियों के नेतृत्व और हज़ारों स्थानीय स्वास्थ्यकर्मियों और साझीदारों की कड़ी मेहनत को दिया है.

इबोला बीमारी से प्रभावी ढंग से निपटने पर चर्चा

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य में इबोला बीमारी के नए मामले सामने आने पर चिंताएं बढ़ रही हैं. अगस्त 2018 में नए सिरे से बीमारी फैलने के बाद से अब तक 1,650 लोगों की मौत हो चुकी है और हर दिन लगभग 12 नए मामलों का पता चल रहे हैं. जिनीवा में सोमवार को आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में सरकार के साथ मिलकर इस घातक बीमारी पर क़ाबू पाने के प्रयासों पर चर्चा हुई.

ईबोला प्रभावित इलाक़े में ख़सरा टीकाकरण अभियान

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य के पूर्वोत्तर हिस्से में स्वास्थ्यकर्मियों ने बड़े पैमाने पर ख़सरा टीकाकरण अभियान शुरू किया है. यह वही क्षेत्र है जिसे घातक ईबोला वायरस ने अपनी जकड़ में ले रखा है और दूसरी बार इतने बड़े पैमाने पर यह बीमारी फैलने से अब तक डेढ़ हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. 2019 में बड़ी संख्या में ख़सरा के मामले भी सामने आए हैं. 

यूगांडा में ईबोला वायरस से दूसरी मौत के बाद यूएन एजेंसियां सतर्क

यूगांडा में ईबोला वायरस से दो लोगों की मौत होने के बाद संयुक्त राष्ट्र की मानवीय राहत एजेंसियां स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए सरकार के साथ मिलकर काम कर रही हैं.  पड़ोसी देश काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में पहले से ही बड़े पैमाने पर ईबोला फैला हुआ है और अब यूगांडा में भी इसके मामले सामने आए हैं.

काँगो में ईबोला नियंत्रण के प्रयासों के लिए समय बहुत ज़्यादा नहीं

संयुक्त राष्ट्र ने काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में ईबोला पर क़ाबू पाने के लिए अपने प्रयास और ज़्यादा तेज़ और सघन करने की घोषणा की है. काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में ईबोला की महामारी फैले हुए क़रीब दस महीने हो चुके हैं और हाल के सप्ताहों में ईबोला के संक्रमण के मामलों में भी बढ़ोत्तरी हुई है.

ईबोला इलाज केंद्र पर हमले की यूएन ने निंदा की

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में ईबोला वायरस का इलाज करने वाले एक स्वास्थ्य केंद्र पर शुक्रवार को हुए हमले की संयुक्त राष्ट्र ने निंदा की है. इस हमले में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के लिए काम कर रहे एक डॉक्टर की मौत हो गई और दो अन्य लोग घायल हुए हैं. 

हिंसा की रोकथाम के लिए 'हरसंभव प्रयास' करेंगे

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष  प्रतिनिधि लैला ज़ेरूगी ने कहा है कि पिछले साल दिसंबर में राष्ट्रपति चुनावों के शांतिपूर्ण ढंग से निपट जाने के बावजूद देश के पूर्वी हिस्से में हालात अब भी चिंताजनक बने हुए हैं. इन इलाक़ों में हथियारबंद गुटों की गतिविधियां बरक़रार हैं.