हिंसा

दारफ़ूर में हिंसा भड़कने पर गहरी चिन्ता, सरकार से सुरक्षा पक्की करने का आहवान

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने सूडान के पश्चिमी दारफ़ूर इलाक़े में बढ़ती हिंसा पर गहरी चिन्ता व्यक्त करते हुए, देश की सरकार से लड़ाई ख़त्म कराने और आम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आहवान किया है. 

डीआरसी: राजनैतिक तनाव, सशस्त्र हमले, विस्थापन और कोविड चुनौतियाँ दरपेश

काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (डीआरसी) में यूएन मिशन की अध्यक्ष लैला ज़ैरूगुई ने सोमवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि देश में, अनेक तरह के ख़तरों और जोखिमों का सामना कर रहे नागरिकों को, सरकारी संस्थानों द्वारा, स्थिरता और सुरक्षा मुहैया कराए जाने की सख़्त ज़रूरत है.

यमन: 'अन्धाधुन्ध मानवाधिकार उल्लंघन, युद्धापराध के दायरे में आ सकते हैं'

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों ने सुरक्षा परिषद और व्यापक अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से युद्धग्रस्त देश यमन में मानवाधिकार उल्लंघन के अतार्किक और निर्बाध उल्लंघन के मामलों पर यह कहते हुए रोक लगाने का आहवान किया है कि अत्याचारों ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है.

2021 में मुसीबत में फँसे लोगों की मदद के लिये 35 अरब डॉलर की अपील

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत कार्यों के मुखिया मार्क लोकॉक ने कहा है कि वर्ष 2021 में, दुनिया भर में लगभग साढ़े 23 करोड़ लोगों को मानवीय सहायता व सुरक्षा की ज़रूरत होगी, जोकि एक रिकॉर्ड संख्या होगी, और वर्ष 2020 की तुलना में क़रीब 40 प्रतिशत ज़्यादा. उन्होंने कहा है कि ऐसा मुख्य रूप से कोविड-19 के कारणों से होगा.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन, 27 नवम्बर 2020

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...
-------------------------------------------------------------------

ऑडियो -
21'38"

सीरिया: कड़ी सर्दी का सामना करने के लिये ज़्यादा सहायता की सख़्त ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के कार्यवाहक उप संयोजक रमेश राजसिंघम ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में आगामी सम्भवतः बहुत कड़ी सर्दियों के मौसम में 3 लाख से ज़्यादा लोगों को मदद की ज़रूरत पड़ेगी. उन्होंने कहा कि विस्थापित लोगों की हालत ख़ासतौर पर, बहुत गम्भीर है.

अफ़ग़ानिस्तान के लिये चन्दे के वादे और टिकाऊ युद्धविराम की पुकार

अन्तरराष्ट्रीय दानदाताओं ने जिनावा में हुए सम्मेलन में अफ़ग़ानिस्तान शान्ति प्रक्रिया के लिये वित्तीय और राजनैतिक समर्थन व सहायता का संकल्प व्यक्त किया है. मंगलवार को सम्पन्न हुए इस 2020 अफ़ग़ानिस्तान सम्मेलन में ये भी उम्मीद नज़र आई कि एक टिकाऊ युद्धविराम से देश को दशकों के संघर्ष की तबाही से निकालकर पुनर्निर्माण करने और घावों पर मरहम लगाने में मदद मिलेगी.

मोज़ाम्बीक़: हिंसा प्रभावित इलाक़ों में मानवाधिकार हनन और सुरक्षा हालात पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त (OHCHR) मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि उत्तरी मोज़ाम्बीक़ के काबो डेलगाडो प्रान्त में बदतर होते सुरक्षा हालात पर चिन्ता बढ़ रही है. यूएन मानवाधिकार कार्यालय ने हिंसा प्रभावित इलाक़ों में आम लोगों के साथ क्रूरता बरते जाने और स्कूलों, स्वास्थ्य केंद्रों, घरों व सरकारी प्रतिष्ठानों को निशाना बनाये जाने पर क्षोभ ज़ाहिर किया है. 

यमन: अकाल की आशंका के बीच व्यापक राजनैतिक समाधान की अपील

यमन में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने स्थानीय लोगों की व्यथा पर ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा है कि उनकी पीड़ाओं को दूर करने के लिये शान्ति प्रयासों में पूरी ऊर्जा झोंके जाने की ज़रूरत है. यूएन दूत ने बुधवार को वीडियो लिन्क के ज़रिये सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए हिंसा रोकने, देश को खोलने और समावेशी राजनैतिक समाधान की तलाश तेज़ करने की पुकार लगाई है.

क़रीब एक तिहाई बच्चे, स्कूलों में होते हैं - हिंसा व बदमाशी के शिकार

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि दुनिया भर में बच्चों को स्कूलों में हिंसा और डराने-धमकाने यानि बदमाशी का सामना करना पड़ रहा है, हर तीन में से एक छात्र को कम से कम एक महीने में हमलों का निशाना बनाया जाता है, और 10 में से एक बच्चे को, साइबर बदमाशी का भी सामना करना पड़ता है.