दासता

बुर्कीना फ़ासो में, बच्चों को बदतरीन मज़दूरी करनी पड़ती है जोकि दासता का एक रूप माना जा सकता है.
© UNICEF/Christine Nesbitt

‘ग़ुलामी की छाप के घाव आज भी समाज पर स्पष्ट, प्रगति में भी बाधा’

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि महाद्वीप-पर दास व्यापार की छाप आज तक गूंज रही है, और साथ ही आधुनिक दौर की दासता भी बढ़ रही है.

तख़्ती लिये हुए एक व्यक्ति, जिस पर लिखा है - दासता अब भी मौजूद है.
© Unsplash/Hermes Rivera

पार-अटलाण्टिक दास व्यापार, इतिहास का ‘काला अध्याय’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार, 25 मार्च को, ‘दासता एवं पार-अटलाण्टिक दास व्यापार के पीड़ितों के स्मरण के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस’ नस्लवाद के विरुद्ध एकजुट होकर खड़े होने और गरिमा व समानता के आधार पर समाज निर्माण का आहवान किया है. यूएन प्रमुख ने पार-अटलाण्टिक दास व्यापार को इतिहास का एक बहुत काला अध्याय क़रार देते हुए मानवता के विरुद्ध एक स्पष्ट अपराध बताया है. 

फ्रांस के उत्तरी हिस्से में स्थित एक प्रवासी शिविर में एक लड़का.
UNICEF/Geai

ब्रिटेन: 'राष्ट्रीयता और सीमाएँ विधेयक' से 'अधिकार उल्लंघन के गम्भीर जोखिम'

संयुक्त राष्ट्र के पाँच स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने शुक्रवार को कहा कि ब्रिटेन में सांसद, जिस नए “राष्ट्रीयता व सीमाएँ विधेयक” (Nationality and Borders Bill) पर संसद में चर्चा कर रहे हैं उससे भेदभाव और मानवाधिकारों के गम्भीर उल्लंघन का ख़तरा बढ़ेगा, और ये विधेयक दरअसल अन्तरराष्ट्रीय क़ानून के तहत देश की ज़िम्मेदारियों का उल्लंघन भी करता है.

ब्रिटेन में ब्लैक लाइव्स मैटर रैली के दौरान प्रदर्शनकारी.
Unsplash/Arthur Edelmans

डरबन+20 का झरोखा

संयुक्त राष्ट्र महासभा, ऐतिहासिक डरबन सम्मेलन की 20वीं वर्षगाँठ के अवसर पर, बुधवार, 22 सितम्बर को एक उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन कर रही है. इस बैठक की थीम “मुआवज़ा, नस्लीय न्याय और अफ़्रीकी मूल के लोगों के लिये समानता” रखी गई है. एक नज़र ‘डरबन घोषणापत्र और कार्रवाई कार्यक्रम’ की पृष्ठभूमि पर... (वीडियो फ़ीचर)

पहली बार, 31 अगस्त 2021 को, अफ़्रीकी मूल के लोगों का अन्तरराष्ट्रीय दिवस मनाया गया है.
PAHO

अफ़्रीकी मूल के लोगों के लिये, पहला यूएन अन्तरराष्ट्रीय दिवस

संयुक्त राष्ट्र ने, जीवन व मानवता के क्षेत्र में, अफ़्रीकी मूल के लोगों द्वारा किये गए असीम योगदान को पहचान देने के लिये, मंगलवार, 31 अगस्त को, अफ़्रीकी मूल के लोगों का पहला अन्तरराष्ट्रीय दिवस मनाया है.

हेती में विस्थापितों के लिये बनाए गए एक शिविर में रहने वाले कुछ बच्चे. (फ़ाइल)
UN Photo/Logan Abassi

अफ़्रीकी मूल के लोगों का नया स्थाई फ़ोरम - जनरल असेम्बली में प्रस्ताव पारित

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सदियों से नस्लवाद, नस्लभेद और दासता से पीड़ित रहे अफ़्रीकी मूल के लोगों के जीवन में बेहतरी लाने पर केन्द्रित एक नए मंच की स्थापना की है.

अफ़ग़ानिस्तान के ननगरहार प्रान्त में ईंट के एक भट्टे पर काम करता 7 साल का एक बच्चा. बाल मज़दूरी भी समाकालीन दासता का एक रूप है.
UNICEF/Noorani

'21वीं सदी की दुनिया में, दासता स्वीकार्य नहीं'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने दासता के समकालीन रूपों के प्रभावों की तरफ़ ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि इस तरह की घिनौने चलन के लिये 21वीं सदी में कोई जगह नहीं हो सकती. महासचिव ने दासता के उन्मूलन के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर ये बात कही है, जोकि 2 दिसम्बर को मनाया जाता है.

लीबिया से भूमध्य सागर के रास्ते इटली पहुँचने के बाद इस नाइजीरियाई लड़की को वेश्यावृत्ति में ढकेल दिया गया था जहाँ वो जुड़वाँ बच्चों के साथ गर्भवती हो गई. उसे इटली में पनाह मिली. (2017)
© UNICEF/Alessio Romenzi

कोविड-19: निर्धनों को दासता के आधुनिक रूपों से बचाने की पुकार

देशों की सरकारों द्वारा समय रहते सहायता के समुचित प्रयास नहीं किये जाने के कारण विश्व भर के लाखों-करोड़ लोग कोविड-19 महामारी के कारण दासता व शोषण के समकालीन रूपों के शिकार हो सकते हैं. यह चेतावनी दासता के समकालीन रूपों पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष रैपोर्टेयर तोमोया ओबोकाता की ओर से जारी की गई है जिन्होंने बुधवार को मानवाधिकार परिषद के वर्चुअल सत्र के दौरान अपनी पहली रिपोर्ट पेश की है. 

© UNOCHA

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 7 अगस्त 2020

7 अगस्त 2020 के इस बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...
-------------------------------------------------------------------
लेबनान की राजधनी बेरूत में भीषण विस्फोट से सैकड़ों लोग हताहत, 
यूएन एजेंसियाँ तेज़ी से लगीं राहत कार्यों में
------------------------------------------------------------------------
संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने 
जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार स्थिति पर जताई गहरी चिन्ता, 
---------------------------------------------------------------
दासता, देह व्यापार और तस्करी सहित बाल मज़दूरी के ख़राब रूपों से 

ऑडियो
15'4"