ब्रिटेन

ब्रिटेन: 'राष्ट्रीयता और सीमाएँ विधेयक' से 'अधिकार उल्लंघन के गम्भीर जोखिम'

संयुक्त राष्ट्र के पाँच स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने शुक्रवार को कहा कि ब्रिटेन में सांसद, जिस नए “राष्ट्रीयता व सीमाएँ विधेयक” (Nationality and Borders Bill) पर संसद में चर्चा कर रहे हैं उससे भेदभाव और मानवाधिकारों के गम्भीर उल्लंघन का ख़तरा बढ़ेगा, और ये विधेयक दरअसल अन्तरराष्ट्रीय क़ानून के तहत देश की ज़िम्मेदारियों का उल्लंघन भी करता है.

कॉप26 ‘कुछ सहमति’ के साथ सम्पन्न, मगर यूएन प्रमुख की नज़र में काफ़ी नहीं

स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो में, संयुक्त राष्ट्र के जलवायु सम्मेलन कॉप26 के दौरान, वार्ताएँ अतिरिक्त एक दिन खिंचने के बाद, शनिवार को, कुछ सहमतियों वाला एक ‘दस्तावेज़’ प्रस्तुत किया गया है. यूएन प्रमुख के अनुसार, इस दस्तावेज़ में, आज के विश्व में मौजूद हित, विरोधाभास और राजनैतिक इच्छाशक्ति की स्थितियाँ झलकती हैं.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन, 5 नवम्बर 2021

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
10'4"

कॉप26 में ‘ऊर्जा दिवस’, जीवाश्म ईंधन के प्रयोग पर रोक के लिये उठी आवाज़ें

स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो में संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन कॉप26 में गुरूवार को, दिन का मुद्दा या मुख्य विषय ‘ऊर्जा’ रहा और इस ‘ऊर्जा दिवस’ के मौक़े पर सूरज की गर्मी भी महसूस की गई, जो बुधवार को ही बादल हटाकर, जैसे जलवायु हस्तियों को अभिवादन करने के लिये निकल आया था.

कॉप26: जलवायु वित्त के लिये, निजी सैक्टर के संकल्प

संयुक्त राष्ट्र के जलवायु सम्मेलन कॉप26 में बुधवार का दिन, वित्तीय घोषणाओं के नाम रहा. सबसे बड़ी घोषणा थी – दुनिया भर की लगभग 500 वित्तीय संस्थाओं व संगठनों द्वारा पेरिस जलवायु समझौते के लक्ष्यों की प्राप्ति के लिये, 130 ट्रिलियन की धनराशि जुटाने पर सहमति. इन लक्ष्यों में तापमान वृद्धि 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित रखना भी शामिल है और ये धनराशि दुनिया की कुल वित्तीय सम्पदाओं का लगभग 40 प्रतिशत हिस्सा है.

मानवता अपने विकास की किशोरावस्था जीवन काल के अन्तिम चरण में, ब्रिटिश प्रधानमंंत्री

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने यूएन महासभा की उच्च स्तरीय जनरल डिबेट में कहा है कि मानवता के लिये, यह समय परिवपक्वता और समझदारी दिखाने, और पृथ्वी ग्रह को हम जो नुक़सान पहुँचा रहे हैं, उसकी ज़िम्मेदारी स्वीकार करने का है.

जलवायु त्रासदी टालने के लिये, बिल्कुल अभी निर्णायक कार्रवाई की पुकार

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को विश्व नेताओं का आहवान करते हुए, जलवायु त्रासदी को टालने की ख़ातिर, बिल्कुल अभी निर्णायक कार्रवाई करने की पुकार लगाई है. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 31 अक्टूबर से स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो शहर में शुरू होने वाले अगले जलवायु सम्मेलन कॉप26 से पहले, आयोजित एक आपदा सम्मेलन में शिरकत करते हुए ये आहवान किया है.

उत्तरी आयरलैण्ड: मानवाधिकार हनन मामलों में ‘प्रस्तावित दण्डमुक्ति चिन्ताजनक’

संयुक्त राष्ट्र के दो स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने ब्रिटेन की उस योजना पर गम्भीर चिन्ता जताई है, जिसमें उत्तरी आयरलैण्ड में 30 वर्षों तक चले हिंसक संघर्ष के दौरान, घटित मानवाधिकार हनन के गम्भीर मामलों पर अभियोजन कार्रवाई समाप्त करने की बात कही गई है.

लिवरपूल के तटीय इलाक़े, यूनेस्को की विश्व विरासत सूची से बाहर

संयुक्त राष्ट्र के शिक्षा व सांस्कृतिक संगठन – यूनेस्को ने बुधवार को कहा है कि ब्रिटेन के लिवरपूल शहर में ऐतिहासिक गोदी क्षेत्रों (डॉकलैण्ड्स) और इमारतों को, इस संगठन की विश्व विरासत स्थलों की सूची से बाहर निकाल दिया गया है. 

ब्रिटेन से सहायता राशि में 85% की कटौती से, महिलाओं व लड़कियों पर गम्भीर प्रभाव

संयुक्त राष्ट्र की यौन व प्रजनन स्वास्थ्य एजेंसी – UNFPA ने गुरूवार को कहा कि ब्रिटेन द्वारा, संयुक्त राष्ट्र के परिवार नियोजन कार्यक्रम को दी जाने वाली सहायता राशि में इस वर्ष 85 प्रतिशत की कटौती करने का जो इरादा ज़ाहिर किया गया है उसके कारण, दुनिया भर में महिलाओं और लड़कियों व उनके परिवारों के लिये भयानक परिणाम होंगे.