भूमध्यसागर

ख़तरनाक योरोपीय प्रवासन मार्गों पर जान गँवाने वालों की संख्या बढ़ी

ख़तरनाक समुद्री मार्गों से होकर योरोप तक पहुँचने की कोशिश में अपनी जान गँवाने वाले प्रवासियों की संख्या में, वर्ष 2021 के पहले छह महीनों में वृद्धि हुई है. संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन एजेंसी के मुताबिक़ इस वर्ष जनवरी से जून महीने तक, नौकाओं में बैठकर जोखिमपूर्ण यात्राएँ करने वाले एक हज़ार 146 लोगों की मौत हुई है.   

लीबिया के निकट नौका दुर्घटना में 130 प्रवासियों की मौत, मदद की पुकार अनसुनी

अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन एजेंसी (IOM) ने शुक्रवार को बताया कि लीबियाई तट के निकट जलक्षेत्र में एक जहाज़ दुर्घटना ने कम से कम 130 लोगों की मौत हो गई है, हालाँकि मदद के लिये बेतहाशा पुकारें लगाई गईं.

भूमध्यसागर में एक और हादसा, बचाव अभियान फिर शुरू किये जाने की पुकार

लीबियाई तट के पास एक नाव हादसे में 43 लोगों की मौत के बाद संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने भूमध्यसागर में तलाश एवँ बचाव अभियान फिर शुरू किये जाने की पुकार लगाई है. अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन (IOM) और संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने बुधवार को एक बयान जारी करके इस त्रासदीपूर्ण हादसे पर खेद व्यक्त किया है. 

भूमध्यसागर में फँसे शरणार्थियों को जहाज़ो से सुरक्षित उतारे जाने की पुकार 

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने कहा है कि भूमध्यसागर में बचाव एवँ तलाश अभियान के दौरान बचाए गए लोगों को तटों तक सुरक्षित पहुँचाने के लिये जल्द से जल्द प्रयास किये जाने होंगे. ग़ौरतलब है कि 400 से ज़्यादा शरणार्थी व प्रवासी तीन जहाज़ों पर मौजूद हैं और उनमें से कुछ लोग कई हफ़्तों से वहाँ फँसे हुए हैं.  अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन और संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने शरणार्थियों व प्रवासियों को सुरक्षित ढँग से उतारे जाने के लिये एक क्षेत्रीय समझौते की ज़रूरत को भी रेखांकित किया है.

ग्रीस के द्वीपों पर शरणार्थियों की संख्या बढ़ने से चिंता

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने कहा है कि ग्रीस के द्वीपों पर शरणार्थियों और प्रवासियों के लिए बनाए गए केंद्रों पर ज़बरदस्त भीड़ है जिससे वहां हालात बिगड़ने का ख़तरा पैदा हो गया है. इन हालात के मद्देनज़र यूएन एजेंसी ने ग्रीस सरकार से अपील की है कि शरण मांग रहे लोगों की जल्द सुनवाई करते हुए उन्हें उन द्वीपों से तत्काल देश के अन्य हिस्सों में भेजा जाना चाहिए.

नाव डूबने से 150 प्रवासियों के डूबने की आशंका

भूमध्य सागर में एक नाव डूबने से कम से कम 150 लोगों की मौत हो जाने की आशंका जताई गई है. इनमें ज़्यादातर वो लोग थे जो शांति, सुरक्षा और बेहतर भविष्य की तलाश में भूमध्य सागर के रास्ते जोखिम भरी यात्रा पर निकले थे. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों ने इस भयावह घटना पर गहरा शोक प्रकट किया है. इसे वर्ष 2019 में भूमध्य सागर में सबसे बड़ी त्रासदी के रूप में देखा जा रहा है.

लीबिया: भूमध्य सागर में फँसे लोगों के लिए अहम यूरोपीय समझौता

संयुक्त राष्ट्र की दो प्रमुख एजेंसियों के अध्यक्षों ने लीबिया में शरणार्थियों और प्रवासियों को मनमाने तरीक़े से बंदी बनाए जाने पर तुरंत रोक लगाने का आहवान किया है. भूमध्य सागर के रास्ते बेहतर मंज़िल की तलाश में निकलने वाले लोगों को एक नई वितरण प्रणाली के ज़रिए सुरक्षित विकल्प मुहैया कराने के वास्ते यूरोपीय संघ के देशों के बीच हुए एक समझौते के बाद ये आहवान किया गया है.

दुनिया का सबसे घातक समुद्री रास्ता बना भूमध्यसागर

  • भूमध्यसागर के ज़रिए यूरोप में शरण लेने के जानलेवा सफ़र में पिछले साल हर दिन हुईं औसतन 6 मौतें
  • हिंसा का दंश झेल रहे लाखों बच्चों की सुरक्षा और सलामती के लिए यूनिसेफ़ की 3.9 अरब डॉलर की अपील 
ऑडियो -
7'13"

'सबसे घातक समुद्री रास्ते' में हर दिन 6 जानें गईं: यूएन रिपोर्ट

सुरक्षित जीवन की तलाश में भूमध्यसागर  सागर को पार कर यूरोप पहुंचने की कोशिश करना सैकड़ों लोगों के लिए जानलेवा साबित हुआ.  संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने अपनी एक नई रिपोर्ट में इसे दुनिया में सबसे घातक समुद्री रास्ता करार देते हुए कहा है कि पिछले साल हर दिन औसतन 6 लोगों की मौतें हुई.  

प्रवासियों से जुड़ी समस्याओं और चुनौतियों पर विमर्श की दरकार

  • दुनिया भर में प्रवासियों के हालात और स्थानीय लोगों की चिंताओं को समझने की पुकार
  • लीबिया में प्रवासियों का हो रहा है बड़े पैमाने पर शोषण, सरकार की नाकामी के सबूत
  • अंतरराष्ट्रीय सहायता राशि में कटौती की वजह से फ़लस्तीन में खाद्य असुरक्षा के हालात
ऑडियो -
12'10"