बाल राहत

हर छह में से एक बच्चा चरम ग़रीबी में – कोविड-19 से संख्या बढ़ने की आशंका 

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) और विश्व बैंक (World Bank) की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 का संकट शुरू होने से पहले ही दुनिया में हर छह में से एक बच्चा यानि लगभग 35 करोड़ 60 लाख बच्चे अत्यधिक निर्धनता में जीवन गुज़ारने के लिये मजबूर थे. मंगलवार को पेश की गई इस रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि महामारी से आए व्यवधान के कारण हालात और भी ज़्यादा बदतर हो सकते हैं. 

'इडाई' प्रभावित बच्चों को जल्द से जल्द राहत और सुरक्षा की ज़रूरत

चक्रवाती तूफ़ान ‘इडाई’ से सबसे ज़्यादा प्रभावित मोज़ाम्बिक के बेयरा शहर में राहत एजेंसियों को धीरे धीरे तबाही की व्यापकता का अंदाज़ा लग रह है. शनिवार को संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की प्रमुख ने कहा है कि देश भर में 10 लाख से ज़्यादा पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए और अंतरराष्ट्रीय मदद की आवश्यकता है.