अफ़ग़ानिस्तान

अफ़ग़ानिस्तान: कॉलेज पर हमला, यूएन मिशन ने जताया क्षोभ

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने राजधानी काबुल में एक आत्मघाती हमले में एक कॉलेज को सुनियोजित ढँग से निशाना बनाए जाने पर गहरा क्षोभ व्यक्ति किया है. ख़बरों के अनुसार शनिवार रात को हुए इस हमले में कम से कम 24 लोगों की मौत हुई है और अनेक अन्य घायल हुए हैं जिनमें बड़ी संख्या युवाओं की है. 

अफ़ग़ानिस्तान में ताज़ा लड़ाई से सैक़ड़ों लोग हताहत, हज़ारों विस्थापित

संयुक्त राष्ट्र मानवीय सहायता कार्यालय ने बताया है कि अफ़ग़ानिस्तान के दक्षिणी प्रान्त हेलमण्ड में 11 अक्टूबर को लड़ाई भड़क उठने के बाद हज़ारों लोगों को विस्थापित होना पड़ा है और ज़रूरी स्वास्थ्य सेवाओं के संचालन में बाधा उत्पन्न हुई है. इस लड़ाई में लगभग 200 लोगों के हताहत होने की ख़बरें हैं.

अफ़ग़ानिस्तान में घातक आत्मघाती हमले की तीखी भर्त्सना

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी प्रान्त नानगरहार में सरकारी इमारतों पर हुए एक आत्मघाती हमले की तीखी भर्त्सना की है. शनिवार को हुए इस हमले में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और अनेक अन्य घायल हो गए. संयुक्त राष्ट्र ने इस हमले के ज़िम्मेदारों को न्याय के कटघरे में लाए जाने पर ज़ोर दिया है.

75वाँ सत्र: अफ़ग़ान राष्ट्रपति ने पेश की यूएन मूल्यों को आगे बढ़ाने की ‘सुस्पष्ट योजना’

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने बुधवार को यूएन महासभा के 75वें सत्र को अपने सम्बोधन में कहा कि उनका देश अगले पाँच सालों के लिये संयुक्त राष्ट्र के मूल्यों को आगे बढ़ाने के लिये एक सुस्पष्ट योजना के साथ आगे बढ़ रहा है जो देश के संविधान में भी निहित हैं.

ऐतिहासिक अफ़ग़ान वार्ता शान्ति के लिये अहम अवसर

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि अफ़ग़ान सरकार के प्रतिनिधियों और तालेबान के बीच सीधे तौर पर पहली बार हो रही वार्ता देश के लिये शान्तिपूर्ण भविष्य और स्थानीय जनता की आकाँक्षाओं को पूरा करने का एक महत्वपूर्ण अवसर है. ग़ौरतलब है कि दोनों पक्षों के बीच शनिवार को क़तर की राजधानी दोहा में बातचीत शुरू हुई है. महासचिव ने भरोसा दिलाया है कि संयुक्त राष्ट्र देश के भीतरी पक्षों के बीच शान्ति वार्ता की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने और देश में टिकाऊ विकास के लिये हरसम्भव मदद देने को तैयार है. 

 

अफ़ग़ान उपराष्ट्रपति पर हुए हमले की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को हुए उस हमले की कड़ी निन्दा की है जिसमें देश के प्रथम उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के आधिकारिक काफ़िले को निशाना बनाया गया.

अफ़ग़ानिस्तान में बढ़ती हिंसा के बीच शान्ति वार्ता पर ख़तरा

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र की वरिष्ठ अधिकारी ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि शान्ति वार्ता की औपचारिक शुरुआत से पहले देश में हिंसा रिकॉर्ड स्तर के नज़दीक पहुँच गई है जिससे अविश्वास का माहौल बन रहा है. यूएन महासचिव की ओर से नियुक्त विशेष प्रतिनिधि डेबराह लियोन्स ने आशंका जताई है कि मौजूदा हालात से सरकार और तालेबान के बीच होने वाली बहुप्रतीक्षित वार्ता के प्रयास विफल हो सकते हैं.   

आईसीसी अधिकारियों पर अमेरिकी पाबन्दियाँ - यूएन की चिन्ताजनक नज़र

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अमेरिका के उस फ़ैसले पर चिन्ता जताई है जिसमें अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (ICC) की मुख्य अभियोजक और एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी पर पाबन्दियाँ लगाने की घोषणा की गई है. यूएन प्रमुख के प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि मौजूदा घटनाक्रम पर नज़र रखी जा रही है. ग़ौरतलब है कि द हेग शहर में स्थित अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (आईसीसी) अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों द्वारा कथित युद्धापराधों की जाँच की तैयारी कर रहा है जिस पर अमेरिका ने विरोध जताया है. 

अफ़ग़ानिस्तान: मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की मौतों को रोकने के लिए ठोस कार्रवाई का आग्रह

अफ़ग़ानिस्तान में इस वर्ष की शुरुआत से अब तक नौ मानवाधिकार कार्यकर्ता अपनी जान गँवा चुके हैं जिसे संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने चिन्ताजनक रूझान बताया है. शुक्रवार को यूएन विशेषज्ञ मैरी लॉलॉर ने अफ़ग़ान प्रशासन से मौतों के इस सिलसिले को रोके जाने का आग्रह किया है. 

कोविड-19: पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान में फिर शुरू हुआ पोलियो टीकाकरण अभियान

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने कहा है कि विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 से टीकाकरण अभियानों में आए व्यवधान के बाद पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान में पोलियो उन्मूलन अभियान फिर शुरू हो गए हैं. महामारी के कारण पोलियो टीकाकरण कार्यक्रमों की रफ़्तार थमने से लगभग पाँच करोड़ बच्चे पोलियो वैक्सीन की ख़ुराक से दूर थे और दोनों देशों में पोलियो के नए मामले सामने आए थे.