आपात समिति

गुजरात में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए, परिवारों को ग्राम स्वास्थ्य और पोषण दिवस पर टीकाकरण और परामर्श दिया जा रहा है.
UNICEF/Panjwani

WHO: कोरोनावायरस के स्रोत की जाँच के लिये टीम पहुँची वूहान

दुनिया भर में वैश्विक महामारी कोविड-19 के लिये ज़िम्मेदार वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिये अन्तरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम गुरूवार को चीन के वूहान शहर पहुँच गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 पर आपात समिति के सत्र के दौरान ये जानकारी दी है. 

आपात समिति के मुताबिक कोविड-19 अब भी अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति है.
Agência Brasil/Marcelo Camargo

कोविड-19: संक्रमण से दीर्घकालीन स्वास्थ्य पर असर के मामले चिन्ताजनक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 महामारी के उन मामलों पर चिन्ता जताई है जिनमें लोग कोरोनावायरस के संक्रमण से उबरने के बावजूद लम्बे समय तक पूर्ण रूप से स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे है. इस बीच गुरूवार को आपात समिति की बैठक में मौजूदा हालात की समीक्षा के बाद स्पष्ट किया गया है कि वैश्विक महामारी अब भी अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा है. 

भारत के गुजरात प्रदेश में अपना कामकाज करते हुए चेहरे पर मास्क पहने हुए. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ऐहतियाती उपाय ही इस समय महामारी से बचने के लिये सबसे कारगर हैं.
© UNICEF/Vinay Panjwani

कोविड-19: वैक्सीन की तलाश में प्रगति, सटीक औज़ार अब भी उपलब्ध नहीं

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिये अनेक प्रकार की वैक्सीन पर तेज़ी से काम आगे बढ़ रहा है लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि वैक्सीन के ज़रिये इस महामारी से बचाव के लिये फ़िलहाल कोई सटीक औज़ार उपलब्ध नहीं है और शायद भविष्य में भी ऐसा ना हो पाए. शुक्रवार को यूएन एजेंसी की आपात समिति की बैठक में सर्वमत से ये सहमति जताई गई थी कि कोविड-19 अब भी अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता वाली वैश्विक स्वास्थ्य आपदा है. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चरणबद्ध ढंग से पाबंदियों को हटाने पर ज़ोर दिया है.
Wang Zhihong

कोविड-19: ‘हमने हिम्मत नहीं हारी है, ना हारेंगे’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिए संगठन ने शुरू से ही त्वरित और निर्णायक प्रयास करते हुए देशों को असरदार कार्रवाई के लिए तैयार होने में मदद की है. कोरोनावायरस को अंतरराष्ट्रीय चिंता वाली स्वास्थ्य एमरजेंसी घोषित किए जाने को गुरुवार 30 अप्रैल को तीन महीने पूरे हो रहे हैं और इसी सिलसिले में आपात समिति की बैठक बुलाई गई है.