अमेरिका

ग्वान्तनामो बन्दीगृह में मानवाधिकार हनन के मामलों पर ध्यान देने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने कहा है कि अमेरिका सरकार द्वारा, क्यूबा में कुख्यात ग्वान्तनामो बे बन्दीगृह को बन्द करने पर विचार किये जाने की घोषणा के बाद, यह भी ज़रूरी है कि वहाँ अब भी बन्द लगभग 40 क़ैदियों के ख़िलाफ़ हो रहे मानवाधिकार हनन के मामलों पर ध्यान दिया जाय. 

पेरिस समझौते में अमेरिकी वापसी का स्वागत

अमेरिका, पेरिस जलवायु समझौते में फिर से शामिल हो गया है. वर्ष 2015 में विश्व नेताओं द्वारा अपनाए गए इस समझौते में, अमेरिका की सक्रिय भूमिका रही थी.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, पेरिस समझौते में अमेरिकी वापसी का स्वागत करते हुए, 19 फ़रवरी को, एक ऑनलाइन कार्यक्रम में, जलवायु परिवर्तन पर अधिक मज़बूत कार्रवाई किये जाने की अपनी पुकार दोहराई. 

उन्होंने कहा कि पेरिस जलवायु समझौता, हमारी आने वाली पीढ़ियों और सम्पूर्ण मानव परिवार के साथ एक क़रार है.

ईरान: परमाणु निरीक्षण जारी रखने के लिये अस्थाई सहमति

संयुक्त राष्ट्र द्वारा समर्थित अन्तरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जी एजेंसी (IAEA) ने ईरान के साथ एक अस्थाई समझौता किया है जिसके तहत, उसके परमाणु कार्यक्रम का निरीक्षण जारी रखा जा सके. एजेंसी के महानिदेशक रफ़ाएल मारियानो ग्रॉस्सी ने रविवार को वियेना में, एक प्रेस सम्मेलन में ये घोषणा की.

पेरिस समझौते में अमेरिका की वापसी – ‘उम्मीद भरा दिन’ 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में अमेरिका की वापसी का स्वागत करते हुए, इसे दुनिया के लिये एक उम्मीद भरा दिन क़रार दिया है, जिससे महत्वाकाँक्षी वैश्विक जलवायु कार्रवाई को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. पेरिस समझौते में वैश्विक तापमान में बढोत्तरी को रोकने और ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जनों में कटौती का महत्वाकाँक्षी लक्ष्य रखा गया है. 

यूएन मानवाधिकार परिषद के साथ सम्बन्ध बहाल करने के अमेरिकी फ़ैसले का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अमेरिका की नई सरकार द्वारा, यूएन मानवाधिकार परिषद के साथ, सम्बन्ध बहाल करने के फ़ैसले का स्वागत किया है. याद रहे कि अमेरिका की पूर्ववर्ती डॉनल्ड ट्रम्प सरकार ने, लगभग तीन वर्ष पहले, इस बहुपक्षीय संस्था से देश को अलग कर लिया था.

यमन: अमेरिकी फ़ैसले से लाखों लोगों को मिल सकेगी अहम राहत , यूएन

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि यमन में हूथी आन्दोलनकारी संगठन (अन्सार अल्लाह) को, अमेरिका द्वारा विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित करने वाला फ़ैसला पलट किये जाने से, देश में लाखों लोगों को बहुत अहम राहत मिल सकेगी. ये वो लोग हैं जो जीवित रहने के लिये अन्तरराष्ट्रीय सहायता और आयात पर निर्भर हैं.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 22 जनवरी 2021

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
19'28"

अमेरिका: वैश्विक स्वास्थ्य में फिर से अहम भूमिका निभाने की घोषणा

अमेरिका के शीर्ष चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने कहा है कि अमेरिका, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) द्वारा, कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिये निर्धन देशों की मदद के उद्देश्य से शुरू की गई पहल में शामिल होने के लिये तैयार है. इसके अतिरिक्त उन्होंने सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल सुलभता और गर्भपात सेवाओं सहित अन्य स्वास्थ्य उपायों के समर्थन में खड़े होने का संकल्प व्यक्त किया है. 

WHO में अमेरिका की वापसी का स्वागत, वैश्विक एकजुटता का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति जोसेफ़ बाइडेन के उस फ़ैसले का स्वागत किया है जिसमें उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ सम्बन्ध फिर से स्थापित करने की घोषणा की है. जो बाइडेन ने बुधवार को इस घोषणा में, वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य और सुरक्षा को आगे बढ़ाने में पूर्ण भागीदारी जारी रखने की बात भी कही है.

अमेरिका: कैपिटल इमारत पर हमला ‘स्तब्धकारी’, चुनाव नतीजा पलटने का ‘भड़काऊ प्रयास’

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन डीसी में स्थित कैपिटल इमारत में 6 जनवरी 2021 को, प्रदर्शनकारियों द्वारा धावा बोले जाने और उस दौरान हई हिंसा की निन्दा की है. यूएन विशेषज्ञों के एक समूह ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि यह घटना एक निष्पक्ष व स्वतन्त्र चुनाव के नतीजे को पलटने का भड़काऊ प्रयास थी.