अहिंसा

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 2 अक्टूबर 2020

2 अक्टूबर 2020 के बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...
-------------------------------------------------------------------

ऑडियो -
26'50"

अहिंसा दिवस और गाँधी@150

हर साल 2 अक्टूबर को महात्मा गाँधी के जन्म दिवस के मौक़े पर अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस मनाया जाता है. वर्ष 2020 में इस दिवस की थीम है - "गाँधी@150 - शान्ति और विकास के लिये एक अहिंसक रास्ता". संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने इस बार कोविड-19 महामारी के कारण किये गए ऐहतियाती उपायों के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन वर्चुअली किया. इस कार्यक्रम का वीडियो यहाँ देखिये है...

अहिंसा दिवस पर यूएन प्रमुख की वैश्विक युद्धविराम की ताज़ा पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरश ने 2 अक्टूबर को अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर वैश्विक युद्धविराम की अपनी पुकार फिर दोहराई है. अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस महात्मा गाँधी के जन्म दिवस (जयन्ती) की याद में हर साल 2 अक्टूबर को मनाया जाता है, और वर्ष 2020 का ये दिवस कोरोनावायरस महामारी से हुई भारी मानवीय और सामाजिक-आर्थिक तबाही की छाया में मनाया जा रहा है.

यूएन मुख्यालय में गाँधी जयंती

महात्मा गाँधी के जन्म दिन 2 अक्तूबर को विश्व अहिंसा दिवस मनाया जाता है. इसी मौक़े पर 2019 में भी यूएन मुख्यालय में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहितअनेक हस्तियों ने शिरकत की. अंशु शर्मा की विशेष रिपोर्ट.

अहिंसा दिवस पर महात्मा गाँधी के शांति संदेश की गूंज

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को 'अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस' के अवसर पर अपने संदेश में कहा है कि महात्मा गांधी का जीवन दर्शन आज भी विश्व में प्रासंगिक बना हुआ है और यह संयुक्त राष्ट्र के कामकाज में भी परिलक्षित होता है – आपसी समझ, टिकाऊ विकास, युवाओं के सशक्तिकरण और विवादों के शांतिपूर्ण ढंग से निपटारे के लिए किए जाने वाले प्रयासों में.

मुश्किल दौर में अंहिसा के सिद्धांत की कायम है प्रासंगिकता

  • महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर मनाया गया अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस
  • अहिंसा से मिल सकता है समस्याओं का हल निकालने का रास्ता
  • अरबों लोगों को शौच के लिए जाना पड़ता है खुले में, भारत में ऐसा करते हैं एक अरब लोग 
ऑडियो -
8'24"

‘गांधी के रास्ते से निकलेंगे हल'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतॉनियो गुटेरेश ने अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर उम्मीद जताई है कि राजनेताओं और राजनीतिज्ञ लोगों की भलाई करने के लक्ष्य हासिल करने के लिए महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने और उनके सिद्धान्तों और मूल्यों को अपनाने की कोशिश करेंगे.