अहिंसा दिवस

अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर यूएन मुख्यालय में आयोजित समारोहों के दौरान कबूतरों की उड़ान
UN Photo/Mark Garten

अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस: महात्मा गांधी के चिरकालीन मूल्यों का जश्न

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, 2 अक्टूबर को अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के अवसर पर अपने सन्देश में कहा है कि हम इस दिन केवल महात्मा गांधी का जन्म दिवस ही नहीं मनाते हैं, बल्कि हम गांधी जी में मूर्त रूप लेने वाले मूल्यों का भी जश्न मनाते हैं जो दशकों से गूंजते रहे हैं. इनमें शान्ति, परस्पर सम्मान, और हर एक व्यक्ति के लिये अनिवार्य गरिमा शामिल हैं.

हर वर्ष 2 अक्टूबर को, अहिंसा दिवस के अन्तर्गत शान्ति में अहिंसा की अहमियत को रेखांकित किया जाता है.
Screenshot

अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस पर 'अहिंसा भाषण श्रृंखला' का आयोजन

भारत के स्वतंत्रता आन्दोलन की एक अग्रणी हस्ती - महात्मा गांधी के जन्म दिवस - 2 अक्टूबर को हर वर्ष, 'अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस' मनाया जाता है. इस अवसर पर, न्यूयॉर्क स्थित यूएन मुख्यालय में, शुक्रवार, 30 सितम्बर को एक अहिंसा भाषण श्रृंखला का आयोजन किया गया है, जिसकी वीडियो कवरेज यहाँ देखी जा सकती है.

यूएन महासभा ने 2007 में एक प्रस्ताव पारित करके, 2 अक्तूबर को अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्णय लिया था.
UN India

अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस: 'महात्मा गाँधी के सिद्धान्त आज भी पथ प्रदर्शक'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 2 अक्टूबर को अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर कहा है कि अनेक चुनौतियों का सामना कर रही आज की दुनिया के लिये, महात्मा गाँधी के सिद्धान्त, एक पथ प्रदर्शक का काम कर सकते हैं.