वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

WHO: हेपेटाइटिस सी वायरस के लिए प्रथम स्व-परीक्षण किट को हरी झंडी

बैंकाक में, एक स्वास्थ्यकर्मी, हेपेटाइटिस का परीक्षण किए जाने की तैयारी करते हुए.
© UNAIDS Thailand/Cedriann Mart
बैंकाक में, एक स्वास्थ्यकर्मी, हेपेटाइटिस का परीक्षण किए जाने की तैयारी करते हुए.

WHO: हेपेटाइटिस सी वायरस के लिए प्रथम स्व-परीक्षण किट को हरी झंडी

स्वास्थ्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हेपेटाइटिस सी वायरस (HCV) की जाँच के लिए एक ऐसी स्व-परीक्षण किट को हरी झंडी दिखाई है जिससे इस वाइरस के उन्मूलन के प्रयासों में तेज़ी ने सम्भावना है. यह इस तरह की प्रथम किट है.

WHO ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि ओरा-क्विक (OraQuick) नामक यह हेपेटाइटिस सी स्व-परीक्षण किट, "परीक्षण और निदान करने में महत्वपूर्ण सहायता प्रदान कर सकती है."

इस किट का निर्माण ओरा-श्योर (OraSure) Technologies नामक कम्पनी ने किया है. यह किट ओरा-क्विक® एचसीवी रैपिड एंटीबॉडी टैस्ट का एक हिस्सा है, जिसे WHO ने, 2017 में पेशेवर उपयोग के लिए पूर्व-योग्यता प्रदान की थी.

WHO की तरफ़ से, पूर्व-योग्यता देने से, यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि अन्तरराष्ट्रीय ख़रीद एजेंसियों द्वारा आपूर्ति की जाने वाली दवाएँ, गुणवत्ता, सुरक्षा और प्रभावशीलता के स्वीकार्य मानकों को पूरा करती हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के वैश्विक एचआईवी (HIV), हेपेटाइटिस और यौन संचारित रोग कार्यक्रमों के विभाग की निदेशक डॉक्टर मेग डोहर्टी का कहना है, "इस उत्पाद को WHO की पूर्व-योग्यता सूची में जोड़े जाने से हेपेटाइटिस सी वायरस के परीक्षण और उपचार सेवाओं का विस्तार करने का एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका मिलता है.”

“इससे और अधिक लोगों को आवश्यक निदान व उपचार मिल सकेगा, और अन्ततः हेपेटाइटिस सी वायरस उन्मूलन के वैश्विक लक्ष्य की प्राप्ति में योगदान मिलेगा."

रक्तजनित वायरस

हेपेटाइटिस सी वायरस यकृत पर हमला करके गम्भीर और स्थाई बीमारियाँ पैदा कर सकता है जो जीवन के लिए ख़तरा हो सकती हैं.

यह वायरस संक्रमित रक्त के सम्पर्क से फैलता है, जिसमें सुई या सीरिंज साझा करना, जाँच किए बिना रक्त चढ़ाना और रक्त के सम्पर्क में आने वाले यौन व्यवहार शामिल हैं.

WHO के अनुसार, दुनिया भर में, लगभग 5 करोड़ लोग गम्भीर हेपेटाइटिस सी वायरस का शिकार हुए हैं, और हर साल लगभग 10 लाख नए संक्रमित लोग इस संख्या का हिस्सा बन रहे हैं.

WHO ने अनुमान लगाया है कि 2022 में हेपेटाइटिस सी से लगभग 2 लाख 42 हज़ार लोगों की मृत्यु हुई थी, जिनमें से अधिकांश मौतें, सिरोसिस (cirrhosis) और हेपेटोसेलुलर कार्सिनोमा (hepatocellular carcinoma), या प्राथमिक यकृत कैंसर से हुई थीं.

WHO ने मौजूदा परीक्षण सेवाओं में इजाफ़ा करने के लिए, वर्ष 2021 में स्व-परीक्षण की सिफ़ारिश की थी.

सबूतों के आधार पर पाया गया है स्व-परीक्षण से उन लोगों के बीच सेवाओं की पहुँच और उनका उपयोग बढ़ता है, जो अन्यथा वायरस के लिए परीक्षण नहीं कर सकते.

परीक्षण और उपचार का प्रसार

डॉक्टर मैग डोहर्टी का कहना है कि “वायरल हेपेटाइटिस से हर दिन 3,500 लोगों की मृत्यु होती है.”

इसके अलावा, "हेपेटाइटिस सी से संक्रमित 5 करोड़ लोगों में से, केवल 36 प्रतिशत मरीज़ों के रोग निदान हुआ था, और 2022 के अन्त तक केवल 20 प्रतिशत लोगों का इलाज हुआ था."

WHO में नियामन व पूर्व-योग्यता मामलों के निदेशक डॉक्टर रोजेरियो गैस्पर ने कहा कि "WHO पूर्व-योग्यता प्राप्त हेपेटाइटिस सी स्व-परिक्षण किट की उपलब्धता से, निम्न और मध्यम-आय वाले देशों को, सुरक्षित और किफ़ायती स्व-परीक्षण विकल्पों तक पहुँचने में मदद मिलेगी."

"यह स्थिति, इस वायरस से पीड़ितों में से, 90 प्रतिशत लोगों का निदान करने के लक्ष्य प्राप्ति के लिए आवश्यक होगी है."

WHO ने कहा कि वह अन्य उपायों के साथ-साथ हेपेटाइटिस सी स्व-परिक्षण किट के अतिरिक्त परीक्षणों का मूल्यांकन जारी रखेगा.

इन उपायों में सभी देशों में उपलब्ध विकल्पों का विस्तार करने के लिए समुदायों के साथ काम करना शामिल है.