वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

ग़ाज़ा: विकट परिस्थितियाँ, जीवन दूभर

मानवीय सहायता एजेंसियाँ, युद्ध-ठहराव के दौरान, राहत सामग्री, ग़ाज़ा के आश्रय स्थलों में पहुँचाने में सफल रहे हैं.
© UNRWA
मानवीय सहायता एजेंसियाँ, युद्ध-ठहराव के दौरान, राहत सामग्री, ग़ाज़ा के आश्रय स्थलों में पहुँचाने में सफल रहे हैं.

ग़ाज़ा: विकट परिस्थितियाँ, जीवन दूभर

शान्ति और सुरक्षा

जनवरी के पहले दिन, WHO की एक टीम ने ग़ाज़ा में UNRWA द्वारा प्रबन्धित एक आश्रयस्थल का दौरा किया. उन्होंने चिकित्सा स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात करकेताइफ़ स्कूल में आश्रय ले रहे 5 हज़ार से अधिक परिवारों के लिए, UNRWA के सहायता प्रयासों की सराहना की. वीडियो.

उधर, ग़ाज़ा के दक्षिण में विस्थापित लोगों को भीड़भाड़ वाली स्वास्थ्य सुविधाओं में शरण लेनी पड़ रही है, जिससे WHO को संक्रामक रोगों का ख़तरा बढ़ने की चिन्ता सता रही है. 

WHO और साझीदार, हेपेटाइटिस जैसी संक्रामक बीमारियों के इलाज हेतु दवाओं, परीक्षण किटों आदि द्वारा रोगों की निगरानी व नियंत्रण बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं, मंगलवार को ख़ान यूनिस के अल-अमाल अस्पताल समेत घरों एवं सार्वजनिक इमारतों पर मिसाइल हमलों में कम से कम पाँच लोग मारे गए, जिनमें एक पाँच दिन का नवजात शिशु भी था. 

हमलों के बाद इलाक़े के दौरे पर गईं, मानवीय सहायता मामलों में संयोजन के लिए यूएन कार्यालय (OCHA) में टीम लीडर जैमा कॉनेल ने क्षोभ प्रकट करते हुए कहा कि ग़ाज़ा में कोई भी स्थान सुरक्षित नहीं है.