वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

यूएन महिला पुलिस अधिकारी पुरस्कार विजेता, 'बदलाव की एक युवा वाहक'

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य में यूएन शान्तिरक्षा मिशन (MINUSCA) में सेवारत, इंडोनिशियाई शान्तिरक्षक रेनिता रिसमयन्ती.
© Herve Serefio
मध्य अफ़्रीकी गणराज्य में यूएन शान्तिरक्षा मिशन (MINUSCA) में सेवारत, इंडोनिशियाई शान्तिरक्षक रेनिता रिसमयन्ती.

यूएन महिला पुलिस अधिकारी पुरस्कार विजेता, 'बदलाव की एक युवा वाहक'

शान्ति और सुरक्षा

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य में यूएन मिशन (MINUSCA) में सेवारत इंडोनेशियाई पुलिस अधिकारी, प्रथम सार्जेंट रेनिता रिसमयन्ती को, न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में गुरूवार को आयोजित एक विशेष समारोह में, शान्तिरक्षा के शीर्ष पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

यह समारोह, 13 से 17 नवम्बर तक चले, वार्षिक संयुक्त राष्ट्र पुलिस सप्ताह के एक हिस्से के रूप में आयोजित किया गया.

पुलिस प्रथम सार्जेंट रेनिता रिसमयन्ती, MINUSCA मिशन में, अपराध डेटाबेस अधिकारी के रूप में सेवारत हैं. 

Tweet URL

उन्होंने एक ऐसे डेटाबेस की अवधारणा प्रस्तुत करने के साथ-साथ उसे मूर्त रूप देने में मदद की है जो, यूएन पुलिस को अपराध और अव्यवस्था के केन्द्र बिन्दुओं का ख़ाका तैयार करने और उसका विश्लेषण करने में समर्थ बनाता है.

इसके माध्यम से, अन्ततः देश के सुरक्षा बलों को, स्थानीय आबादी के समर्थन में, अपने अभियान बेहतर तरीक़े से तैयार करने में मदद लती है. 

उनकी आयु 27 साल है और इस सम्मान के 13-वर्षीय इतिहास में यह वह यह पुरस्कार पाने वाली सबसे युवा विजेता हैं. 

प्रथम सार्जेंट रेनिता रिसमयन्ती ने कहा, “मैं इस सम्मान को उन सभी की ओर से स्वीकार करती हूँ, जो सकारात्मक बदलाव के लिए शान्तिपूर्वक काम कर रहे हैं.”

‘अपनी असीमित सम्भावना को याद रखिए’

रेनिता रिसमयन्ती ने यूएन मिशन नेतृत्व, अपने विभाग प्रमुख और अन्य सहकर्मियों का आभार व्यक्त किया है. “उनके विशाल समर्पण और टीम भावना के ज़रिए, हमने यह शानदार सफलता हासिल की.” 

उनके कार्य से निर्बल समुदायों के लिए सुरक्षा व्यवस्था को मज़बूत बनाने में मदद मिली है, जिनमें लड़कियाँ व महिलाएँ भी हैं.

रेनिता रिसमयन्ती ने एक पुलिस अधिकारी के रूप में अपने सफ़र को याद करते हुए कहा कि अपनी अन्तरात्मा की आवाज़ को सुनना अहम है, और अपनी आंक्षा के अनुरूप व्यक्ति बनने की कोशिश कभी नहीं छोड़नी चाहिए.

“सभी महिलाएँ, आप जहाँ कहीं भी हों, मेरा आपसे आग्रह है कि आप असीम सम्भावना को याद रखें.”

“आपमें बदलाव लाने, दूसरों के प्रेरित करने, और विश्व में अमिट छाप छोड़ जाने की शक्ति है. आइए, हम अपना रास्ता ढूंढ रहे लोगों की ओर हाथ बढाँ, चूँकि असल सशक्तिकरण, दूसरों के उत्थान में है.”

बदलाव की वाहक

यूएन शान्तिरक्षा के प्रमुख ज़्याँ-पियेर लाक्रोआ ने संयुक्त राष्ट्र और इंडोनिशिया को गर्वित करने के लिए रेनिता रिसमयन्ती की सराहना की.

उन्होंने कहा कि रेनिता रिसमयन्ती के प्रयासों के परिणामस्वरूप, मध्य अफ़्रीकी गणराज्य में सुरक्षा बलों के पास, लैंगिक संवेदनशीलता का ध्यान रखते हुए, अपने अभियान चलाने की बेहतर योजना है.

यूएन अवर महासचिव ने कहा कि सम्मानित होने वाली यूएन पुलिस अधिकारी, बदलाव की एक युवा वाहक हैं, जिन्होंने डेटा व टैक्नॉलॉजी क्षेत्र में यूएन द्वारा किए जा रहे प्रयासों को आगे बढ़ाया है.

इसके ज़रिए, यूएन के अभियानों को भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप और प्रासंगिक बनाने में मदद मिलेगी.