वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, म्याँमार में टकराव के फैलाव पर जताई गम्भीर चिन्ता

म्याँमार में टकराव जारी रहने के कारण, देश के भीतर ही विस्थापित हुए लोगों की संख्या, 20 लाख से अधिक हो गई है (फ़ाइल चित्र).
© UNICEF/Brown
म्याँमार में टकराव जारी रहने के कारण, देश के भीतर ही विस्थापित हुए लोगों की संख्या, 20 लाख से अधिक हो गई है (फ़ाइल चित्र).

यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, म्याँमार में टकराव के फैलाव पर जताई गम्भीर चिन्ता

शान्ति और सुरक्षा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, म्याँमार में टकराव के विस्तार पर गहरी चिन्ता व्यक्त कि है जोकि राख़ीन प्रान्त में भी फैल रहा है.

यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता की तरफ़ से बुधवार को जारी एक वक्तव्य में, उन्होंने म्याँमार में सभी पक्षों से अन्तरराष्ट्रीय क़ानून का पालन करने और आम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, हर सम्भव प्रयास करने का आहवान किया है.

ग़ौरतलब है कि म्याँमार में विस्थापित लोगों की संख्या 20 लाख से भी अधिक हो गई है.

प्रवक्ता के वक्तव्य में कहा गया है कि यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव संख्या 2669 (2022) के अनुरूप हिंसा का अन्त करने के लिए, दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों के संगठन - ASEAN और अन्तरराष्ट्रीय साझीदारों के साथ काम करने के लिए संकल्पबद्ध हैं.

महासचिव ने दोहराते हुए कहा है कि सभी आम लोगों की रक्षा, अन्तरराष्ट्रीय मानवीय क़ानून के अन्तर्गत सुनिश्चित की जानी चाहिए और इस क़ानून का उल्लंघन करने वालों की जवाबदेही निर्धारित की जानी होगी.

यूएन प्रमुख ने तमाम चैनलों के ज़रिए, तत्काल मानवीय सहायता और बुनियादी सेवाओं की निर्बाध उपलब्धता और संचालन की अपीलें की हैं.

उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों और उनके साझीदारों की सुरक्षा और संरक्षण, बहुत अहम ज़रूरत है.

यूएन महासचिव ने म्याँमार के लोगों और एक समावेशी, न्यायसंगत और शान्तिपूर्ण भविष्य के लिए उनकी आकांक्षाओं में, उनके साथ एकजुटता प्रकट की है.