वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने 2024 के लिए रखा 3.3 अरब डॉलर के बजट का प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सचिवालय की इमारत
UN Photo/Rick Bajornas
संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सचिवालय की इमारत

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने 2024 के लिए रखा 3.3 अरब डॉलर के बजट का प्रस्ताव

यूएन मामले

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, संघर्षोंमानवाधिकार हनन के मामलोंअसमानताओं और जलवायु आपदाओं जैसी विभिन्न वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए वर्ष 2024 में संगठन के कामकाज हेतु, 3.3 अरब डॉलर के कार्यक्रम का बजट का प्रस्ताव पेश किया है.

महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार को महासभा की मुख्य बजट समिति की बैठक के दौरान प्रतिनिधियों से कहा, "संयुक्त राष्ट्र की भूमिका कभी भी इतनी महत्वपूर्ण नहीं रही है - और इसलिए हम अपने प्रयास बढ़ा रहे हैं."

उन्होंने चुनौतियों से निपटने के लिए एसडीजी प्रोत्साहनहमारा साझा एजेंडाजलवायु एकजुटता सन्धि और त्वरण एजेंडा जैसी प्रमुख पहलों पर प्रकाश डाला. संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा, "इन और कई अन्य मोर्चों पर, हम शान्ति, सतत विकास और मानवाधिकारों को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है."

2024 की आवश्यकताएँ

प्रस्तावित 2024 के नियमित बजट में 10 हज़ार 334 पद भी शामिल हैं, यानि अगर विशेष राजनैतिक मिशनों को छोड़ दिया जाए तो 199 पदों की वृद्धि.

इन आवश्यकताओं में, नए अन्तर-सरकारी शासनादेश लागू करने हेतु ज़रूरी संसाधनों पर ध्यान केन्द्रित किया गया है. साथ ही, प्रमुखत: आतंकवाद-निरोधी व मानवाधिकार क्षेत्रों में कार्रवाई के लिए पूर्वानुमानित एवं टिकाऊ वित्त पोषण सुनिश्चित किया गया है.

इस बजट में, सतत विकास में निरन्तर निवेश, मज़बूत बहुभाषी योजनाएँ, वैश्विक पहुँच और अधिक कुशल एवं प्रभावी कार्यबल का प्रस्ताव है.

महासचिव ने कहा, "हमारे बजट में, मेरी डेटा रणनीति और संयुक्त राष्ट्र 2.0 के दृष्टिकोण के अनुरूप, आँकड़ों, नवाचार, डिजिटल, दूरदर्शिता एवं व्यवहार विज्ञान विशेषज्ञता के क्षेत्रों जैसे नवीन कौशल की ओर परिवर्तन का प्रस्ताव रखा गया है."

वित्तीय तरलता की चुनौतियाँ

महासचिव ने संगठन की बिगड़ती वित्तीय तरलता स्थिति पर भी चिन्ता व्यक्त की और देशों से समय पर और पूर्ण भुगतान करने का आग्रह किया.

उन्होंने कहा कि धन संग्रह घटा है, जिससे चुनौतियाँ उत्पन्न हो रही हैं. नक़दी के प्रवाह को भंडार के साथ संरेखित करने के लिए अस्थाई नक़दी प्रबन्धन उपाय लागू किए गए हैं, लेकिन अतिरिक्त क़दम उठाए जाने की आवश्यकता है.

महासचिव गुटेरेश ने कहा, “पिछले समय की ही तरह, कार्यक्रम प्रबन्धक, इससे कार्यक्रम वितरण पर होने वाले नकारात्मक प्रभाव घटाने का प्रयास करेंगे. लेकिन लम्बे समय तक नक़दी संरक्षण के उपाय, जैसेकि नियुक्तियों पर रोक लगाने जैसे क़दम, कुछ जनादेश पूरा करने के रास्ते में बाधा डालेंगे.”

संयुक्त राष्ट्र बजट चर्चा

अगले कई हफ़्तों में, महासभा का बजट सम्बन्धित प्राथमिक धड़ - पाँचवीं समिति - इस प्रस्ताव पर चर्चा करेगी, जिसमें संयुक्त राष्ट्र सचिवालय विभागों के प्रमुख और वरिष्ठ कार्यक्रम प्रबन्धक शामिल होंगे.

इसके बाद यह समिति, महासभा की बैठक में सिफ़ारिशों के साथ अपनी रिपोर्ट पेश करेगी, जिससे दिसम्बर के अन्त तक संयुक्त राष्ट्र बजट को मंज़ूरी मिल सके.