वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

अफ़ग़ानिस्तान: भूकम्प प्रभावितों तक राहत पहुँचाने में जुटी यूएन एजेंसियाँ

यूनीसेफ़ कर्मचारी, हेरात प्रान्त के करिनाल गाँव में भूकम्प से हुई क्षति का आकलन कर रहे हैं.
© UNICEF/Rebecca Phwitiko
यूनीसेफ़ कर्मचारी, हेरात प्रान्त के करिनाल गाँव में भूकम्प से हुई क्षति का आकलन कर रहे हैं.

अफ़ग़ानिस्तान: भूकम्प प्रभावितों तक राहत पहुँचाने में जुटी यूएन एजेंसियाँ

मानवीय सहायता

अफ़ग़ानिस्तान के हेरात प्रान्त में शनिवार को आए भीषण भूकम्प में मृतक संख्या एक हज़ार तक पहुँच गई है, और बड़ी संख्या में घरों व इमारतों को नुक़सान पहुँचा है. संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ अपने साझीदार संगठनों के साथ मिलकर प्रभावित इलाक़ों में राहत एवं बचाव कार्य में जुट गई हैं.

यूएन प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, देश में सत्तारूढ़ प्रशासन के समन्वय में आवश्यकताओं की समीक्षा कर रही हैं और आपात सहायता प्रदान की जा रही है.

यूएन प्रमुख ने इस कठिन समय में अफ़ग़ानिस्तान की जनता के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करते हुए, पीड़ितों के परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट की है.

Tweet URL

उन्होंने सर्दी के महीनों से पहले अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया है कि भूकम्प से प्रभावित लोगों तक सहायता पहुँचाई जानी होगी, जिन्हें इस आपदा से पहले से ही मानवीय सहायता की आवश्यकता थी.

स्थानीय समयानुसार शनिवार सुबह 11 बजे आए इस भूकम्प की तीव्रता, रिक्टर पैमाने पर 6.3 आँकी गई, और इसका केन्द्र हेरात प्रान्त के हेरात शहर से 40 किलोमीटर दूर था.

भूकम्प से आठ गाँवों में जान-माल की ज़्यादा क्षति हुई है. इसके बाद हेरात के पड़ोसी बडग़िस और फ़राह प्रान्तों में भी भूकम्प के झटके महसूस किए गए.

मानवीय राहत मामलों में संयोजन के लिए यूएन कार्यालय के अनुसार इस आपदा में 500 लोग घायल हुए हैं, 465 घर ध्वस्त हो गए हैं और 135 अन्य के क्षतिग्रस्त होने की ख़बर है.

यूएन एजेंसियों, साझेदार संगठनों और स्थानीय प्रशासन ने हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका व्यक्त की है, चूँकि बड़ी संख्या में लोग अब भी ध्वस्त इमारतों व घरों में फँसे हो सकते हैं.

यूएन एजेंसी ने बताया कि चार हज़ार से अधिक लोग इस आपदा से प्रभावित हुए हैं, जिनमें लगभग डेढ़ हज़ार, घरेलू विस्थापित भी हैं. 

मानवीय सहायता प्रयास

अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन, विश्व खाद्य कार्यक्रम, अन्य राहत एजेंसियों ने अफ़ग़ान प्रशासन के साथ मिलकर भूकम्प प्रभावित इलाक़ों में, पाँच आपात समीक्षा दलों को तैनात किया है.

इसके साथ ही, राहत प्रयास भी शुरू कर दिए गए हैं और चिकित्सा समर्थन के अलावा आपात शरण, भोजन, समेत अन्य आवश्यक सेवाओं का प्रबन्ध किया जा रहा है.

हेरात के प्रान्तीय अस्पताल में 200 लोगों का उपचार किया जा रहा है. यूएन प्रवासन एजेंसी और यूएन शरणार्थी एजेंसी ने 700 परिवारों को आपात आश्रय समर्थन देने की बात कही है, जिसके तहत टैंट, कम्बल और अन्य ज़रूरी सामान प्रदान किए जाएंगे. 

विश्व खाद्य कार्यक्रम ज़िन्दाजान ज़िले के 700 से अधिक प्रभावित परिवारों तक उच्च ऊर्जा वाले बिस्किट भेजने के लिए तैयार है. वहीं, यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के लिए यूएन एजेंसी द्वारा महिलाओं व लड़कियों के लिए आवश्यक सामान की 1,300 किटें वितरित की जाएंगी.