वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

विश्व पर्यावास दिवस: विकास में नगरों की भूमिका पर ध्यान

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक बस्ती का दृश्य.
© UN-Habitat/Kirsten Milhahn
बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक बस्ती का दृश्य.

विश्व पर्यावास दिवस: विकास में नगरों की भूमिका पर ध्यान

आर्थिक विकास

सोमवार, 2 अक्टूबर को मनाए जा रहे विश्व पर्यावास दिवस पर, इस वर्ष आर्थिक विकास और टकरावों व कोविड-19 महामारी जैसे संकटों से पुनर्बहाली में नगरों की अहम भूमिका पर विशेष ध्यान दिया गया है.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि इस वर्ष वैश्विक आर्थिक वृद्धि में 2.5 प्रतिशत गिरावट आई है. तीन वर्ष पहले कोविड-19 महामारी के आरम्भिक समय को, और वर्ष 2009 के वैश्विक वित्तीय संकट को छोड़ दें तो, ये वर्ष 2001 के बाद से सबसे कमज़ोर स्तर है.

Tweet URL

देशों की राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं में नगरों के योगदान को देखते हुए, अनेक देशों का भविष्य, नगरों की उत्पादकता से निर्धारित होगा.

निवेश और सुलभता

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने, विश्व पर्यावास दिवस पर अपने सन्देश में कहा है कि नगरीय क्षेत्र, समावेशी, हरित और सतत विकास को प्रोत्साहित कर सकते हैं.

उन्होंने कहा है, “अधिक सहनक्षमता का निर्माण करने और निर्बल हालात वाली आबादियों का संरक्षण करने के लिए सतत ढाँचे, पूर्व चेतावनी प्रणआलियों, और सर्वजन के लिए, सुलभ व पर्याप्त आवास में कहीं ज़्यादा निवेश की आवश्यकता है.”

“इसके साथ ही, हमें बिजली, पानी स्वच्छता, परिवहन, और अन्य बुनियादी सेवाओं तक पहुँच को बेहतर बनाने के लिए काम करने के साथ-साथ, शिक्षा कौशल विकास, डिजिटल नवाचार और उद्यमिता के क्षेत्रों में निवेश भी करना होगा.”

उन्होंने कहा, “स्थानीय कार्रवाई अति महत्वपूर्ण है, और वैश्विक सहयोग अपरिहार्य है.”

पृथ्वी का त्वरित नगरीकरण

अधिक सहनशील, सुरक्षित व समावेशी नगरों को बढ़ावा देना, 17 सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) में शामिल है. ये लक्ष्य, वर्ष 2030 तक सभी के लए एक बेहतर, न्यायसंगत और हरित भविष्य मुहैया कराने का रास्ता दिखाते हैं.

इस समय दुनिया की लगभग आधी आबादी नगरों में बसती है और वर्ष 2050 तक इस आबीदी में 70 प्रतिशत वृद्धि होने का अनुमान है. एक अरब से अधिक लोग झुग्गी-झोंपड़ियों में रहते हैं और ये संख्या भी बढ़ेगी.

यूएन-पर्यावास एजेंसी की प्रमुख मायमूना मोहम्मद शरीफ़ ने, विश्व पर्यावास दिवस पर, आजरबैजान के बाकू शहर में एक आधिकारिक समारोह में कहा कि देश, सतत विकास लक्ष्य -11 की प्राप्ति के रास्ते पर बहुत पीछे हैं.

एजेंसी की कार्यकारी निदेशक मायमूना मोहम्मद शरीफ़ ने कहा कि हाल ही में, न्यूयॉर्क स्थित यूएन मुख्यालय में आयोजित एसडीजी सम्मेलन में, यूएन प्रमुख ने, विश्व नेताओं से बहुत स्तरीय प्रशासन और सहयोग को अनेक स्तरों पर मज़बूत करने का आग्रह किया था.

मामयमूना शरीफ़ ने कहा कि यूएन-पर्यावास दुनिया के सभी क्षेत्रों में 600 से अधिक शहरों के साथ काम कर रहा है और सतत नगरीकरण को वित्तीय संसाधनों पर एक स्थिति पत्र को अन्तिम रूप दिया जा रहा है.

नगरीय अक्टूबर

विश्व पर्यावास दिवस, वर्ष 1986 से हर साल मनाया जाता है. इस वर्ष इस दिवस के साथ ही नगरीय अक्टूबर भी शुरू हुआ है जो 31 अक्टूबर को विश्व नगर दिवस के साथ सम्पन्न होगा.