वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां
फ़्रांस की विदेश मंत्री कोलोना, यूएन महासभा के 78वें सत्र में उच्च स्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए.

UNGA78: देशों के दरम्यान समानता पर कोई समझौता नहीं, फ़्रांस

UN Photo/Cia Pak
फ़्रांस की विदेश मंत्री कोलोना, यूएन महासभा के 78वें सत्र में उच्च स्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए.

UNGA78: देशों के दरम्यान समानता पर कोई समझौता नहीं, फ़्रांस

यूएन मामले

फ़्रांस ने यूएन महासभा को सम्बोधित करते हुए ऐलानिया अन्दाज़ में कहा है कि उनका देश, तमाम देशों के दरम्यान समानता के सिद्धान्त को ज़ोरदार हिमायत करता है – ये एक ऐसा सिद्धान्त है जिस पर किसी को भी, कोई भी समझौता नहीं करना चाहिए, और ना ही ऐसा कोई समझौता किया जा सकता है.

फ़्रांस की विदेश मंत्री कैथरीन कॉलोना ने गुरूवार को महासभा के 78वें सत्र में उच्च स्तरीय जनरल डिबेट में शिरकत करते हुए कहा कि उनका देश अफ़्रीका में संकट के अफ़्रीकी समाधानों का ही समर्थन करता है.

फ़्रांस की विदेश मंत्री ने आपने सम्बोधन का एक बड़ा हिस्सा, वैश्विक टकराव केन्द्रों और अफ़्रीका में स्थिति पर समर्पित किया.

उन्होंने कहा, “हम अफ़्रीकी संकटों के, अफ़्रीकी समाधानों में विश्वास करते हैं, और हम अफ़्रीकी क्षेत्रीय संगठनों का समर्थन करते हैं, जब भी वो अपने साझीदारों से समर्थन का अनुरोध करें.”

कैथरीन कॉलोना ने कहा कि फ़्रांस, इसीलिए निजेर में, संवैधानिक व्यवस्था की बहाली के लिए, पश्चिमी अफ़्रीकी देशों के आर्थिक समुदाय (ECOWAS) के प्रयासों का समर्थन करता है.

सूडान में समाधानों की तलाश

कैथरीन कॉलोना ने सूडान की उदाहरण भी दिया, जहाँ पिछले लगभग पाँच महीनों से घातक युद्ध चल रहा है और उस युद्ध का सबसे पहला और घातक प्रभाव आम लोगों पर पड़ रहा है.

कैथरीन कॉलोना के अनुसार, फ़्रांस, अफ़्रीकी क्षेत्रीय संगठनों का एक विश्वसनीय साझीदार है और भविष्य में भी रहेगा. इसमें विशेष रूप से, शान्ति, विकास, लोकतंत्र और क्षेत्र की सुरक्षा के लिए उनकी जद्दोजहद को समर्थन शामिल है.

यूक्रेन युद्ध

कैथरीन कॉलोना ने यूक्रेन युद्ध के सन्दर्भ में कहा कि एक पड़ोसी देश पर इस तरह आक्रमण को, नैतिक या क़ानूनी रूप में, किसी भी आधार पर न्यायसंगत नहीं ठहराया जा सकता है, “जिसमें घटिया तरीक़ों से इलाक़ों को छीनने और स्थानीय आबादी का उत्पीड़न करने की कोशिशें हो रही हैं.”

सांस्कृतिक विरासत की रक्षा

विदेश मंत्री कैथरीन कॉलोना ने ज़ोर देकर कहा कि फ़्रांस, देशों की ऐतिहासिक विरासत के संरक्षण के सिद्धान्त की हिमायत करता है – मानवता की संस्कृतियों की ये विरासत.

उन्होंने कहा, “मोसूल और टिम्बकटू में कल, ओडेसा या लवीव में आज, फ़्रांस उन तमाम पक्षों के क़दमों का समर्थन करात है जो देशों के ऐतिहासिक ख़ज़ाने को संरक्षित रखने की हिमायत करता है, जहाँ, नफ़रत से उनकी तबी का ख़तरा दरपेश है.”

सम्बोधन की पूर्ण प्रति यहाँ देखी जा सकती है.