वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

यमन में 2022 में अपहृत पाँच यूएन कर्मचारियों की रिहाई का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश.
UN Photo/Mark Garten
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश.

यमन में 2022 में अपहृत पाँच यूएन कर्मचारियों की रिहाई का स्वागत

यूएन मामले

संयुक्त राष्ट्र ने, यमन में अपने उन पाँच सुरक्षा कर्मियों की रिहाई का स्वागत किया है, जिन्हें लगभग डेढ़ साल पहले अग़वा किए जाने के बाद हिरासत में रखा गया था.

इन अपहृत पाँच यूएन कर्मचारियों में चार राष्ट्रीय स्टाफ़ और एक बांग्लादेश के नागरिक हैं. इन्हें 11 फ़रवरी 2022 को दक्षिणी गवर्नरेट – अबयान में उस समय अग़वा कर लिया गया था, जब वो एक मैदानी मिशन से वापिस लौट रहे थे.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इन यूएन सहायताकर्मियों की रिहाई पर प्रसन्नता व्यक्त की है.

संयक्त राष्ट्र के बचाव और सुरक्षा विभाग (UNDSS) के इन पाँच कर्मियों के नाम हैं – अक्म सूफ़ियुल अनम, मैज़ेन बावज़िर, बकील अल महदी, मोहम्मद अल मुलाइकी और ख़ालेद मोख़्तार शेख़. 

उपलब्ध जानकारी के अनुसार, रिहा किए गए पाँचों कर्मचारी स्वस्थ हैं.

यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता ने शुक्रवार को जारी एक वक्तव्य में कहा है कि महासचिव इस घटनाक्रम पर अति प्रसन्न हैं कि इन कर्मचारियों के कष्ट ख़त्म हो गए हैं और उनके परिवारों व मित्रों की चिन्ता अब दूर हो गई है.

वक्तव्य के अनुसार, यूएन महासचिव ने दोहराते हुए कहा है कि इस तरह इनसानों का अपहरण किया जाना अमानवीय और एक बिल्कुल निराधार अपराध है. उन्होंने इनके ज़िम्मेदार तत्वों को न्याय के कटघरे में अवश्य खड़ा किए जाने की पुकार भी लगाई है.

एंतोनियो गुटेरेश ने, उन लोगों के साथ अपनी एकजुटता प्रकट की है जिन्हें यमन में अब भी उनकी इच्छा के विरुद्ध कहीं बन्दी बनाकर रखा गया है.

हौसला बुलन्द है

यमन में संयुक्त राष्ट्र के रैज़िडैंट और मानवीय सहायता समन्वयक डेविड ग्रेस्सली ने भी, इन यूएन कर्मचारियों की रिहाई का स्वागत किया है.

उन्होंने शुक्रवार को एक वक्तव्य जारी करके कहा है, “मैं संयुक्त राष्ट्र पाँच कर्मचारियों की, इस सप्ताह हुई रिहाई का स्वागत करता हूँ जिन्हें 11 फ़रवरी 2022 को अबयान गवर्नरेट से अग़वा कर लिया गया था.”

उन्होंने कहा, “हमारे पाँच राष्ट्रीय और एक अन्तरराष्ट्रीय सहयोगियों को, 18 महीने हिरासत में गुज़ारने पड़े हैं.”

डेविड ग्रेस्सली ने बताया कि पाँचों कर्मचारियों को समुचित समर्थन व सहायता मुहैया कराई जा रही है. उनका हौसला अच्छा है और वो अपने परिवारों के साथ सम्पर्क में हैं.

“मैं यमन सरकार और उन तमाम अन्य लोगों को धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने, संयुक्त राष्ट्र के इन सहयोगियों की रिहाई के लिए मदद की है और हिरासत के दौरान उनका स्वास्थ्य बनाए रखने में योगदान किया है.”

डेविड ग्रेस्सली ने कहा कि यमन सम्पूर्ण यूएन परिवार इस बेहद प्रसन्न है कि हमारे सहयोगी अपहरण से मुक्त हो गए हैं. “हम साथ ही, उन यूएन कर्मचारियों की रिहाई की पुकार भी दोहराते हैं जिन्हें उनकी मर्ज़ी के बिना, बन्दी बनाकर रखा गया है. हम उनके साथ एकजुटता के साथ खड़े हैं.”