UNCTAD: वैश्विक व्यापार वृद्धि में, रिकॉर्ड वर्ष के बाद मन्दी

एक जहाज़ पनामा नहर से गुज़रते हुए, जोकि विश्व के व्यस्ततम व्यापार मार्गों में से है.
UN News/Jing Zhang
एक जहाज़ पनामा नहर से गुज़रते हुए, जोकि विश्व के व्यस्ततम व्यापार मार्गों में से है.

UNCTAD: वैश्विक व्यापार वृद्धि में, रिकॉर्ड वर्ष के बाद मन्दी

आर्थिक विकास

संयुक्त राष्ट्र की व्यापार और विकास एजेंसी – UNCTAD ने कहा है कि इस वर्ष वैश्विक व्यापार लगभग 32 ट्रिलियन डॉलर के बराबर होने वाला है, मगर महंगाई ने, हाल के कुछ महीनों में हासिल की गई प्रगति को, उलट दिया है.

संयुक्त राष्ट्र व्यापार एजेंसी के विश्लेषकों का कहना है कि वैश्विक वृद्धि, वर्ष 2022 की दूसरी छमाही के दौरान, “नकारात्मक” हो गई.

एजेंसी का कहना है कि इस वर्ष के अन्त तक, सामान व सेवाओं में व्यापार, क्रमशः, 25 ट्रिलियन और 7 ट्रिलियन डॉलर तक पहुँचने की अपेक्षा है.

वैश्विक व्यापार में वृद्धि का रुख़ पलटने का रुझान, इस वर्ष की तीसरी तिमाही में शुरू हुआ जब सामान की क़ीमतें, मार्च से मई की तिमाही की तुलना में, लगभग एक प्रतिशत कम मूल्य में व्यापार कर रही थीं.

क़ीमतों में गिरावट

देशों से मिले आँकड़ों के आधार पर, अंकटाड का वैश्विक रुझान विश्लेषण
Source: UNCTAD
देशों से मिले आँकड़ों के आधार पर, अंकटाड का वैश्विक रुझान विश्लेषण

अंकटाड ने वैश्विक व्यापार के बारे में अपनी ताज़ा जानकारी में कहा है कि वैसे तो तीसरी तिमाही में सेवाओं में 1.3 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई, मगर सामान और सेवाओं दोनों की ही क़ीमतों में, साल के अन्त तक गिरावट होने का अनुमान है.

अंकटाड ने अपनी रिपोर्ट में रेखांकित किया है कि कुल मिलाकर, भूराजनैतिक समीकरणों, लगातार जारी महंगाई, और घटती वैश्विक मांगों के कारण, वर्ष 2023 के दौरान भी वैश्विक व्यापार में नकारात्मक रुझान जारी रहने की अपेक्षा है.

नकारात्मक कारक

रिपोर्ट में जिन नकारात्मक कारकों का ज़िक्र किया गया है, उनमें वर्ष 2023 के दौरान, उच्च ऊर्जा क़ीमतों, बढ़ती ब्याज दरों, बहुत से देशों में सतत महंगाई, और यूक्रेन में युद्ध के प्रभाव के कारण, निम्न आर्थिक वृद्धि के पूर्वानुमान प्रमुख हैं.

उपभोक्ता वस्तुओं और उपकरणों की क़ीमतों के कारण, निर्यात के लिये मांग में कमी आने का अनुमान है जिससे, अन्ततः अन्तरराष्ट्रीय व्यापार का आकार घटने की सम्भावना है.

रिकॉर्ड स्तर के वैश्विक क़र्ज़ और बढ़ती ब्याज दरों से, ऋण सततता के लिये गम्भीर चिन्ताएँ उत्पन्न हो रही हैं, जिससे सर्वाधिक क़र्ज़दार देशों की सरकारों पर दबाव बढ़ रहा है और निर्बलताएँ बढ़ रही हैं.

देशों से प्राप्त आँकड़ों के आधार पर, अंकडाड का वैश्विक रुझान विश्लेषण.
Source: UNCTAD
देशों से प्राप्त आँकड़ों के आधार पर, अंकडाड का वैश्विक रुझान विश्लेषण.

सकारात्मक कारक

अंकटाड के अनुसार, सकारात्मक रुझान की बात करें तो कोविड-19 महामारी से आपूर्ति श्रृंखला में उत्पन्न हुई बाधा के माहौल में, बन्दरगाहों और जहाज़रानी कम्पनियों की सक्रियता से कछ समायोजन हुआ है, जबकि कुछ नए जहाज़ सेवाएँ देने के लिये शामिल हुए हैं, साथ ही बन्दरगाहों पर लगी भीड़ को भी सुलझा लिया गया है.

एजेंसी रिपोर्ट में रेखांकित किया गया है कि एशिया प्रशान्त में क्षेत्रीय वृहद आर्थिक साझेदारी (RCEP) और अफ़्रीकी महाद्वीप मुक्त व्यापार क्षेत्र (AfCFTA) समझौतों पर हाल ही में हस्ताक्षर किये गए हैं जिन पर अमल होने से, वृहद अन्तरराष्ट्रीय व्यवस्था को गति मिलेगी और अन्ततः कुछ लाभ मिलेंगे.

अंकटाड का कहना है कि अलबत्ता, कुल मिलाकर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के लिये जोखिम व अनिश्चितता तो बरक़रार हैं, मगर एक हरित वैश्विक अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के प्रयासों से, पर्यावरणीय रूप से टिकाऊ उत्पादों की मांग को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है. साथ ही उच्च कार्बन उपस्थिति वाले सामान व जीवाश्म ईंधन की मांग में कमी होने की भी अपेक्षा है.