सुरक्षित सड़कों के ज़रिये, यातायात दुर्घटनाओं के पीड़ितों को सम्मान

5 से19 वर्ष की आयु के बच्चों और किशोरों के लिए सड़क यातायात की चोटें मौत का प्रमुख कारण हैं.
© UNICEF/Jeoffrey Maitem
5 से19 वर्ष की आयु के बच्चों और किशोरों के लिए सड़क यातायात की चोटें मौत का प्रमुख कारण हैं.

सुरक्षित सड़कों के ज़रिये, यातायात दुर्घटनाओं के पीड़ितों को सम्मान

एसडीजी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वर्ष 2030 तक सड़क यातायात दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों व घायलों की संख्या में 50 फ़ीसदी की कमी लाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये वैश्विक प्रयासों को मज़बूती प्रदान करने का आहवान किया है.

हर साल 13 लाख लोगों की सड़क दुर्घटनाओं में मौत होती है और पाँच करोड़ से अधिक लोग घायल होते हैं. सड़क दुर्घटनाएँ, बच्चों और युवाओं की मृत्यु का प्रमुख कारण है.

Tweet URL

यूएन के शीर्षतम अधिकारी ने अपना यह सन्देश ‘सड़क यातायात पीड़ितों के स्मरण में विश्व दिवस’ के अवसर पर जारी किया है, जोकि हर वर्ष 20 नवम्बर को मनाया जाता है.

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा, "पीड़ितों को याद करने और उनका सम्मान करने का एक सबसे अच्छा तरीक़ा, विश्व में सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिये अपनी भूमिका को निभाना है."

उन्होंने सड़क यातायात दुर्घटनाओं और विकास प्रक्रिया के बीच के सम्बन्ध पर भी जानकारी दी.

हर दस में से नौ पीड़ित मध्य- और निम्न- आय वाले देशों से हैं.

“अधिक ज़िंदगियों की रक्षा करने के लिये सुरक्षित व सतत गतिशीलता में अतिरिक्त निवेश, समग्र समाज कार्रवाई योजना और मज़बूत रोकथाम तौर-तरीक़ों की आवश्यकता होगी.”

“संयुक्त राष्ट्र सड़क सुरक्षा सम्मेलन और वित्त पोषण, देशों को अपनी राष्ट्रीय प्रणालियों और बुनियादी ढांचे को मज़बूत बनाने में मदद करते हैं.”

“मैं सदस्य देशों और दानदाताओं से इन प्रयासों का समर्थन करने और त्रासदियों को रोकने का आग्रह करता हूँ."

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र समर्थित एक वैश्विक अभियान का उद्देश्य लड़कों और लड़कियों की यातायात दुर्घटनाओं में मौत होने से बचाना है.

#Moments2live4 नामक अभियान के दूसरे संस्करण की घोषणा करते हुए संयुक्त राष्ट्र सड़क सुरक्षा कोष (UNRSF)  ने बताया कि विश्व भर में, हर 24 सेकेंड में एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मौत हो जाती है.

वैश्विक सड़क दुर्घटनाओं में हर 24 घंटे में 500 बच्चों की जिंदगी पर विराम लग जाता है.

जागरूकता व सशक्तिकरण पर बल

UNRSF की इस मुहिम को रविवार को शुरू किया गया, जब सड़क यातायात पीड़ितों के लिये विश्व स्मरण दिवस के साथ-साथ विश्व बाल दिवस भी मनाया गया.

UNRSF एक वैश्विक साझेदारी है जो निम्न- और मध्य- आय वाले देशों में सड़कों पर होने वाली मौतों और इन घटनाओं से घायलों में 50 फ़ीसदी की कमी लाने के लिये प्रयासरत है.

इस कोष ने पश्चिम अफ़्रीका में क्षेत्रव्यापी सुरक्षित वाहन नियमों को अपनाने के साथ-साथ पैदल चलने वालों के लिये व साइकिल चालकों के लिये बेहतर सुरक्षा पर पहल करने की दिशा में काम किया है.

#Moments2live4 अभियान, वैश्विक सड़क सुरक्षा संकट के बारे में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास कर रहा है, जिससे पाँच साल से अधिक उम्र के बच्चे सर्वाधिक प्रभावित हैं.  

UNRSF प्रमुख न्नेका हेनरी ने ज़ोर देकर कहा कि वैश्विक सड़क सुरक्षा चुनौती से निपटने की दिशा में, जागरूकता पहला कदम है.

#Moments2live4 वैश्विक अभियान में समर्थकों, रेस कार चालकों, मनोरंजन जगत की हस्तियों, विश्व स्तरीय खिलाड़ियों और संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों को शामिल किया जाएगा.

यह अभियान, 10 सप्ताह तक चलेगा और 24 जनवरी को अन्तरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर समाप्त होगा.