न्यूयॉर्क फ़ैशन सप्ताह में प्रवासन व समावेशन थीम की धूम

नो नेशन फ़ैशन द्वारा निर्मित 'ब्लैक स्वान' पोशाक, जिसे न्यूयॉर्क फ़ैशन वीक में प्रस्तुत किया गया.
IOM/ Rahma Soliman
नो नेशन फ़ैशन द्वारा निर्मित 'ब्लैक स्वान' पोशाक, जिसे न्यूयॉर्क फ़ैशन वीक में प्रस्तुत किया गया.

न्यूयॉर्क फ़ैशन सप्ताह में प्रवासन व समावेशन थीम की धूम

प्रवासी और शरणार्थी

इस वर्ष न्यूयॉर्क में फ़ैशन सप्ताह’ के दौरान विविधता और समावेशन आकर्षण का केन्द्र रहे. संयुक्त राष्ट्र समर्थित ‘नो नेशन’ (No Nation) फ़ैशन पहल के अन्तर्गत, डिज़ाइनर्स ने अपने रचनात्मक परिधानों का प्रदर्शन किया.

यह फ़र्श से अर्श तक पहुँचने जैसा तो नहीं है, मगर ‘नो नेशन’ फ़ैशन आयोजन, ने वर्ष 2021 में बोस्निया और हर्ज़ेगोविना में अपनी शुरुआत के बाद से एक लम्बा रास्ता तय किया है.

‘नो नेशन’ फ़ैशन का उद्देश्य एक ब्रैण्ड और सामाजिक उद्यम का निर्माण करना है, जोकि मेज़बान समुदायों में प्रवासियों के समावेश को बढ़ावा दे, और समाज को अधिक सहनसक्षम, समावेशी और टिकाऊ बनाने में सक्रिय भूमिका निभाए.

शुरुआती दिनों में इसे केवल ट्रांज़िट केन्द्रों में लोगों के लिये उनके सिलाई कौशल में सुधार के तौर पर आरम्भ किया गया था.

इन लोगों ने कोविड-19 से बचाव के लिये दोबारा इस्तेमाल किये जा सकने वाले मास्क बनाने से शुरुआत की, और फिर कपड़ों व अन्य सजावटी सामग्री की अनूठी वस्तुएँ सृजित करने लगे.

ये, सिलाई केन्द्र से, धीरे-धीरे फ़ैशन स्टूडियो में तब्दील हो गए, और साल के अन्त तक, अन्तरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस के अवसर पर सरायेवो शहर के सिटी हॉल में एक फ़ैशन शो भी आयोजित किया गया.

इस परियोजना के लाभार्थियों में प्रवासी और स्थानीय व वृहद समुदाय के सदस्य हैं: जिनमें स्थानीय फ़ैशन ब्रैण्ड और डिज़ाइनर, कलाकार, शिल्पकार, निजी क्षेत्र, मीडिया और स्वैच्छिक कार्यकर्ता शामिल हैं.  

इस साल, इस फ़ैशन आयोजन ने वर्ष के सबसे प्रतिष्ठित फ़ैशन कार्यक्रमों में से एक, न्यूयॉर्क फ़ैशन सप्ताह तक पहुँचने के लिये अपना रास्ता बना लिया.

2022 के न्यूयॉर्क फ़ैशन वीक के दौरान, नो नेशन पोशाक को पहने एक मॉडल.
IOM/ Rahma Soliman

एक विशेष कार्यक्रम में ‘नो नेशन’ फ़ैशन, इण्टरनेशनल फ़ैशन अकादमी और ओहायो की कैण्ट स्टेट यूनिवर्सिटी के छात्र शामिल हुए.

एक प्रसिद्ध डिज़ाइनर एलेक्ज़ेण्ड्रा लोवरिच के रचनात्मक निर्देशन में, प्रवासी और बोस्नियाई फ़ैशन उद्योग ने मिलकर ‘नो नेशन’ फ़ैशन संग्रह तैयार किया.

फ़ैशन आयोजन में प्रस्तुत की गई तीन पोशाकें, प्रवासियों के पूरे सफ़र को दर्शाती हैं.

शुरुआती ख़ानाबदोश जीवन के तौर-तरीक़ों से लेकर दृढ़ता, पुनर्निर्माण, परिस्थितियों के अनुरूप ढालने की उनकी क्षमता, और अपने गन्तव्य स्थानों पर सामाजिक व सांस्कृतिक एकीकरण के माध्यम से समावेश तक.

बोस्निया और हर्ज़ेगोविना में अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन (IOM) की मिशन प्रमुख लॉरा लुंगारोट्टी ने कहा, "हम बहुत उत्साहित हैं कि नो नेशन फ़ैशन ब्रैण्ड न्यूयॉर्क तक पहुँच गया - एक ऐसा शहर जो कला, फ़ैशन और सांस्कृतिक विविधता के लिये प्रसिद्ध है."

"यह हमें याद दिलाता है कि प्रवासन और विविधता का समावेश सभी के लिये सुन्दरता व अवसरों का सृजन कर सकता है."

न्यूयॉर्क में सफलता के बाद, ये आयोजन बोस्निया और हर्ज़ेगोविना में प्रवासियों का समर्थन करना जारी रखेगी.

इसके तहत, विश्व के विभिन्न हिस्सों के प्रतिभाशाली व्यक्ति, पहनने योग्य परिधान बनाने के लिये अपना ज्ञान, कौशल और संस्कृति साझा करेंगे.