यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमीर ज़ेलेन्स्की ने पहले से रिकॉर्ड किये गए अपने सन्देश के ज़रिये महासभा को सम्बोधित किया.

यूक्रेन: नए शान्ति फ़ॉर्मूले में आक्रामकता के लिये दण्ड, सुरक्षा की पुनर्बहाली

UN Photo/Cia Pak
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमीर ज़ेलेन्स्की ने पहले से रिकॉर्ड किये गए अपने सन्देश के ज़रिये महासभा को सम्बोधित किया.

यूक्रेन: नए शान्ति फ़ॉर्मूले में आक्रामकता के लिये दण्ड, सुरक्षा की पुनर्बहाली

शांति और सुरक्षा

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमीर ज़ेलेंस्की ने बुधवार को यूएन महासभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके देश के विरुद्ध ‘ग़ैरक़ानूनी युद्ध‘ छेड़ने के लिये रूस को दण्डित किया जाना होगा. उन्होंने कहा कि यह एक ऐसे शान्ति फ़ॉर्मूले का हिस्सा होना चाहिये, जिसमें नागरिकों की रक्षा व प्रतिरक्षा प्रयासों के लिये समर्थन का भी ध्यान रखा जाए.

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने विश्व नेताओं के नाम पहले से रिकॉर्ड किये गए अपने सन्देश में कहा, “यूक्रेन की जनता के विरुद्ध एक अपराध को अंजाम दिया गया है, और हम न्यायोचित दण्ड की मांग करते हैं.”

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने अंग्रेज़ी में अपनी बात प्रतिनिधियों के सम्मुख रखते हुए एक शान्ति फ़ाॉर्मूले का ख़ाका प्रस्तुत किया, जिसमें आक्रामकता को दण्डित किया गया है.

साथ ही इसमें ज़िन्दगियों की रक्षा, सुरक्षा व क्षेत्रीय अखण्डता की पुनर्बहाली व गारण्टी और दृढ़ संकल्प की अहमियत को रेखांकित किया गया है.

यूक्रेनी नेता ने पुरज़ोर ढंग से कहा कि इस फ़ार्मूले में तटस्थता को शामिल नहीं किया गया है. “जो मानव मूल्यों और शान्ति पर हमलों के दौरान तटस्थता की बात करते हों, उसका अर्थ कुछ और ही होता है.”

“वे केवल प्रोटोकॉल के लिये सहानुभूति दर्शाते हैं. और इसीलिये वे किसी की रक्षा करने का बहाना तो रचते हैं, मगर, वास्तव में, केवल अपने निहित हितों की रक्षा कर रहे होते हैं.”

विशेष ट्राइब्यूनल और प्रतिबन्ध

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि यह फ़ॉर्मूला ना केवल यूक्रेन के लिये काम करेगा, बल्कि हर उस देश के लिये भी, जो स्वयं को हमारे जैसी परिस्थितियों में घिरा पाते हैं.

उन्होंने कहा कि आक्रामकता के अपराध के लिये दण्ड में, व्यापार व यात्रा पाबन्दियों समेत अन्य प्रतिबन्ध लागू किये जाने होंगे.

“हमारे देश के विरुद्ध आक्रामकता के अपराध के लिये रूस को दण्डित करने के इरादे से एक विशेष ट्राइब्यूनल गठित किया जाना चाहिये. यह सभी भावी आक्रांताओं के लिये एक संकेत होगा कि उन्हें शान्ति का मूल्य समझना होगा, नहीं तो विश्व उनकी जवाबदेही तय करेगा.”

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की के मुताबिक़ ऐसे एक ट्राइब्यूनल की स्थापना के लिये योजना तैयार हैं, जिन्हें अन्य देशों के सम्मुख प्रस्तुत किया जाएगा.

🇺🇦 Ukraine - President Addresses United Nations General Debate, 77th Session (English) | #UNGA

हथियारों के लिये अपील

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि आम नागरिकों की रक्षा सुनिश्चित करने और क्षेत्रों को क़ब्ज़े से छुड़ाने के लिये हथियारों की आवश्यकता होगी. “हमारे लिये, यह जीवन के लिये लड़ा जाने वाला युद्ध है. इसलिये हमें प्रतिरक्षा समर्थन चाहिये – हथियार, सैन्य उपकरण और गोला-बारूद.”

“लम्बी दूरी के और हमलों में इस्तेमाल किये जाने वाले हथियार, हमारी भूमि को आज़ाद कराने के लिये पर्याप्त हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली भी, वायु रक्षा के लिये.”

“और हमें वित्तीय समर्थन चाहिये ताकि अन्दरूनी स्थिरता क़ायम रखी जा सके और आम जनता के प्रति सामाजिक दायित्वों का निर्वहन किया जा सके.”

यूक्रेनी राष्ट्रपति के शान्ति फ़ार्मूले में सुरक्षा तंत्र में बेहतरी के लिये प्रस्ताव पेश किये गए हैं, जिसके लिये क़ानूनी रूप से अनिवार्य बहुपक्षीय व द्विपक्षीय सन्धियाँ भी होंगी. इस क्रम में योजनाएँ, फ़िलहाल साझीदारों के समक्ष प्रस्तुत की गई हैं. 

वैश्विक सुरक्षा पर असर

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने आगाह किया कि यूक्रेन में युद्ध से वैश्विक सुरक्षा कमज़ोर हुई है, भोजन व ऊर्जा सुरक्षा पर भी असर हुआ है, और समुद्री व विकिरण सुरक्षा भी अछूती नहीं रही है.

उन्होंने यूक्रेनी कृषि उत्पादों को फिर से अन्तरराष्ट्रीय बाज़ारों में पहुँचाने के लिये, यूएन महासचिव द्वारा किये गए प्रयासों के प्रति आभार जताया, जिनसे फ़िलहाल 30 देश लाभान्वित हुए हैं.

यूक्रेनी नेता ने ध्यान दिलाया कि युद्ध के कारण सभी मुश्किलों के बावजूद, यूक्रेन ने इथियोपिया व सोमालिया के लिये मानवीय राहत प्रदान करने का निर्णय लिया, और इसलिये इन देशों को, गेहूँ की अतिरिक्त मात्रा भेजी जाएगी.

उन्होंने कहा कि विश्व में जीवन-व्यापन की लागत में उछाल आया है, जिससे निपटने के लिये रूस द्वारा ऊर्जा की ब्लैकमेलिंग को रोका जाना होगा. इसे उन्होंने ईंधन की क़ीमतों में आ रहे उतार-चढ़ाव को एक बड़ी वजह बताया.

“जिन क़ीमतों पर रूस अपने ऊर्जा संसाधनों का निर्यात करता है, उनकी क़ीमतों का अधिकतम स्तर तय किये जाने की आवश्यकता है. रूसी तेल व गैस को फिर से साधारण सामान बनाना महत्वपूर्ण है.”

यूक्रेनी राष्ट्रपति ने कहा कि रूस फ़िलहाल तेल और गैस को ऊर्जा  हथियारो के रूप में इस्तेमाल करता है.