म्याँमार: यूएन विशेष दूत की प्रथम देश यात्रा

16 अगस्त 2022

म्याँमार के लिये संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नोएलीन हेयज़ेर ने अक्टूबर 2021 में अपनी यह ज़िम्मेदारी संभालने के बाद, पहली बार देश की यात्रा की है.

उनकी यह यात्रा सुरक्षा परिषद द्वारा, इस दक्षिण-पश्चिमी एशियाई देश में हिंसा रोके जाने और मानवीय सहायता की निर्बाध पहुँच की पुकार लगाए जाने के बाद हुई है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार नोएलीन हेयज़ेर सिंगापुर से हैं और वो महिलाधिकार कार्यकर्ता हैं, जो म्याँमार में लगातार बिगड़ती स्थिति पर ध्यान केन्द्रित करेंगी.

समाचार एजेंसियों ने अपनी पहचान गोपनीय रखने वाले सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से ख़बर दी है कि नोएलीन हेयज़ेर, मंगलवार दोपहर को, नैयप्यीडाव में पहुँची हैं.

म्याँमार में, फ़रवरी 2021 में आंग सान सू ची की तत्कालीन लोकतांत्रिक सरकार को उखाड़ फेंकने और सैन्य तख़्तापलट होने के बाद से ही, अशान्ति रही है. 

सैन्य तख़्तापलट के विरोध में व्यापक प्रदर्शन हुए जिन पर रक्तरंजित दमन हुआ है.

म्याँमार के सैन्य शासक, अप्रैल 2021 में दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों के संगठन (ASEAN) की एक पाँच सूत्री योजना पर सहमत हुए थे जिसमें देश में शान्ति और स्थिरता बहाल करने की बात कही गई थी. उसके बावजूद, उस योजना पर अमल करने के लिये बहुत कम प्रयास हुए हैं.

देश में उसके बाद से ही एक ऐसी स्थिति बन गई है जिसे कुछ लोगों ने गृह युद्ध क़रार दिया है.

शान्ति प्रयास

दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों द्वारा, म्याँमार में शान्ति बहाल करने के प्रयास भी, हाल ही में वहाँ चार राजनैतिक कार्यकर्ताओं को मृत्यु दण्ड दिये जाने के कारण बाधित हुए हैं, इनमें दो लोग लोकतंत्र समर्थक आन्दोलन से सम्बन्धित थे.

सुरक्षा परिषद, रूस व चीन ने मृत्यु दण्ड दिये जाने के इन मामलों की निन्दा की थी.

अगस्त के आरम्भ में समाचार मीडिया ने कहा था कि 10 सदस्यों वाले आसियान संगठन के म्याँमार के लिये विशेष दूत – कोम्बोडियाई विदेश मंत्री प्रैक सोख़ोन्न ने चेतावनी दी थी कि भविष्य में अगर कोई मृत्यु दण्ड दिया गया तो उससे निर्धारित होगा कि ये संगठन म्याँमार के साथ किस तरह के सम्बन्ध रखेगा.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, म्याँमार के लिये विशेष दूत नोएलीन हेज़ेर से वर्चुअल मुलाक़ात करते हुए.
UN Photo/Eskinder Debebe
यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, म्याँमार के लिये विशेष दूत नोएलीन हेज़ेर से वर्चुअल मुलाक़ात करते हुए.

मानवता के विरुद्ध अपराध

बर्मा के लिये संयुक्त राष्ट्र की स्वतंत्र जाँच प्रणाली ने अगस्त के आरम्भ में अपनी वार्षिक रिपोर्ट जारी की थी जिसमें भारी मात्रा में ऐसे सबूत एकत्र होते पाए गए हैं कि देश में मानवता के विरुद्ध अपराधों को अंजाम दिया गया है. 

समाचारों के अनुसार, फ़रवरी 2021 में सैन्य तख़्तापलट होने के बाद से, देश में 2,100 लोग मारे जा चुके हैं और 15 हज़ार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

नोएलीन हेयज़ेर की यह यात्रा शुरू होने से एक दिन पहले ही, सेना द्वारा संचालित देश में एक अदालत ने, सत्ता से बेदख़ल की गई नेता को भ्रष्टाचार के चार मामलों में दोषी क़रार दिया है जिससे उनकी कारावास सज़ा में 6 अन्य वर्ष जुड़ गए हैं, जबकि वो पहले से ही 11 वर्ष की जेल की सज़ा काट रही हैं.

संयुक्त राष्ट्र के पास अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि क्या नोएलीन हेयज़ेर, म्याँमार के सैन्य शासकों या आंग सान सू ची के साथ मुलाक़ात करेंगी, जोकि लम्बे समय से संयुक्त राष्ट्र की मांग रही है.

प्रथम यात्रा

विशेष दूत की यह यात्रा ऐसे समय हो रही है जब तमाम राजनैतिक परिदृश्य, सिविल सोसायटी और मौजूदा संघर्ष से प्रभावित समुदायों के प्रतिनिधियों के बीच व्यापक विचार-विमर्श होता रहा है.
नोएलीन हेयज़ेर 1994 से 2007 तक, यूएन महिला विकास कोष (UNIFEM) की अध्यक्षा थीं, जो महिलाओं के आर्थिक उत्थान को प्रोत्साहन पर ध्यान केन्द्रित करता है. 

नोएलीन हेयज़ेर ने, वर्ष 2007 से 2014 तक, एशिया व प्रशान्त के लिये संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक व सामाजिक आयोग (ESCAP) की प्रथम महिला कार्यकारी सचिव के रूप में भी सेवा की है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड