‘काला सागर अनाज निर्यात पहल’ को लागू करने के लिये, नए केन्द्र के गठन का स्वागत

28 जुलाई 2022

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने तुर्कीये के इस्तान्बूल शहर में स्थित उस अभियान का आधिकारिक आरम्भ होने का स्वागत किया है जिससे, काला सागर से होकर यूक्रेन के अनाज निर्यात को सम्भव बनाने के लिये, यूएन समर्थित एक समझौते को लागू करने में मदद मिलेगी. ये निर्यात युद्ध जारी रहने और दुनिया भर में खाद्य मूल्यों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी के बीच अहम माना जा रहा है.

संयुक्त समन्वय केन्द्र (JCC) नामक इस अभियान का उदघाटन बुधवार को हुआ जिसमें यूक्रेन, रूस, तुर्कीये और संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ प्रतिनिधियों ने शिरकत की.

एकजुट प्रयास

संयुक्त राष्ट्र के उप प्रवक्ता फ़रहान हक़ ने बुधवार देर रात एक वक्तव्य जारी करके कहा कि यूएन महासचिव ने वैश्विक खाद्य असुरक्षा को कम करने के नज़रिये से, काला सागर अनाज निर्यात पहल को प्रभावशाली रूप में लागू करने के लिये, सीधे तौर पर साझेदारी में काम करने वाले सभी पक्षों की महत्ता को रेखांकित किया है.

ग़ौरतलब है कि यूक्रेन, रूस और तुर्कीये ने, शुक्रवार 22 जुलाई को, काला सागर अनाज निर्यात समझौते पर हस्ताक्षर किये थे.

संयुक्त समन्वय केन्द्र (JCC), इस समझौते के तहत, यूक्रेन के तीन काला सागर बन्दरगाहों – ओडेसा, चोरनोमॉस्क और यूज़हनी से, व्यावसायिक खाद्य पदार्थों और उर्वरकों से भरे व्यापारी जहाज़ों का सुरक्षित परिवहन आसान बनाएगा.

यूएन उप प्रवक्ता फ़रहान हक़ ने कहा, “इससे, दरअसल बढ़ती वैश्विक खाद्य असुरक्षा का कारगर ढंग से सामना करने और उसकी रोकथाम करने में मदद मिलेगी.”

समझौते के पालन

संयुक्त समन्वय केन्द्र (JCC), इस समझौते का पालन सुनिश्चित करने के लिये, व्यावसायिक जहाज़ों के आवागमन की निगरानी करेगा. विशेष ध्यान बड़ी मात्रा में व्यावसायिक अनाज और सम्बन्धित खाद्य वस्तुओं के निर्यात पर रहेगा.

यूएन महासचिव ने इस समझौते को धरातल पर लागू करने में तमाम सम्बन्धित पक्षों और संयुक्त राष्ट्र को, एक सुविधा मंच मुहैया कराने के लिये, तुर्कीये का शुक्रिया अदा किया.

उन्होंने रूस और यूक्रेन को भी, त्वरित गति से अपने वरिष्ठ प्रतिनिधि नियुक्त करने और उन्हें इस्तान्बूल भेजने के लिये, धन्यवाद दिया.

त्वरित सामूहिक कार्रवाई

संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष सहायता अधिकारी मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने, संयुक्त समन्वय केन्द्र (JCC) शुरू होने का स्वागत किया.

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के संयोजक मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने रेखांकित किया कि इस केन्द्र का त्वरित गति से उदघाटन, तुर्कीये के बहुमूल्य समर्थन और रूस व यूक्रेन के संकल्प की बदौलत सम्भव हो सका है.

उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद है कि उनकी त्वरित सामूहिक कार्रवाई, दुनिया भर में खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे बहुत निर्बल परिस्थितियों वाले लोगों के लिये, एक ऐसी त्वरित राहत में तब्दील हो सकेगी, जिसकी उन्हें बहुत आवश्यकता है.”

इस केन्द्र में संयुक्त राष्ट्र के अन्तरिम प्रतिनिधि फ़्रेडरिक कैन्नी जूनियर ने इस सुविधा केन्द्र के उदघाटन समारोह में शिरकत की और वो ही, धरातल पर संगठन के प्रयासों की अगुवाई कर रहे हैं.
उन्होंने कहा कि सम्बन्धित पक्षों को, काला सागर अनाज निर्यात समझौते को लागू करने पर ध्यान लगाते हुए देखना, अति उत्साहनक है.”

“इस केन्द्र पर अथक कामकाज हो रहा है जिसका मक़सद है कि यूक्रेन से अनाज से भरे जहाज़ों की पहले खेप, यथाशीघ्र, सुरक्षित और प्रभावशाली तरीक़े से हो सके.”

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड