कोविड-19: वायरस का अब भी मुक्त फैलाव, महामारी ख़त्म होने से अभी बहुत दूर

12 जुलाई 2022

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने मंगलवार को कहा है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों से, पहले से कठिनाइयों का सामना कर रही स्वास्थ्य प्रणालियों और कर्मचारियों पर ना केवल और ज़्यादा दबाव बढ़ रहा है, बल्कि “मौतों का बढ़ता रुझान” भी पनप रहा है.

डॉक्टर टैड्रॉस ने मंगलवार को जिनीवा में नियमित साप्ताहिक प्रैस वार्ता में बताया कि कोविड-19 पर आपात समिति ने गत शुक्रवार को निष्कर्ष दिया कि ये वायरस अब भी अन्तरराष्ट्रीय चिन्ता की सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा बना हुआ है.

उन्होंने हालाँकि ये भी माना कि महामारी शुरू होने के समय की तुलना में, दुनिया इस समय कहीं बेहतर स्थिति में है, मगर उन्होंने याद भी दिलाया कि नई संक्रमण लहर दिखाती है कि कोविड-19 महामारी, अभी ख़त्म होने से बहुत दूर है.

अनेक मिश्रित चुनौतियाँ

डॉक्टर टैड्रॉस ने अब वायरस द्वारा दरपेश आपस में जुड़ी अनेक चुनौतियों का विवरण दिया जिनमें ओमिक्रॉन के उप वैरिएण्ट्स – बीए.4 और बीए.5 भी शामिल हैं, जिन्होंने संक्रमण मामलों की लहर जारी रखी हुई है और जिनके कारण दुनिया भर में लोगों को अस्पतालों में भर्ती होना पड़ रहा है, और लोगों की मौतें हो रही हैं.

उन्होंने कहा कि ये वायरस मुक्त रूप में फैल रहा है और देश, रोग बोझ का प्रबन्धन, अपनी क्षमता पर आधारित प्रभावशाली तरीक़े से नहीं कर रहे हैं, जिसमें गम्भीर मामलों में लोगों को अस्पतालों में भर्ती किये जाने और कोविड-19 का संक्रमण हो जाने के बाद के हालात (Long Covid) का सामना करने वाले लोगों की बढ़ती संख्या के मुद्दे भी शामिल हैं.

उन्होंने कोविड-19 के जोखिम आकलन के नज़रिये से, वैज्ञानिक समुदायों, राजनैतिक नेतृत्वकर्ताओं और आम लोगों के दरम्यान सम्पर्क के अभाव की स्थिति को रेखांकित किया.

समर्थन की हिमायत

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के मुखिया ने तर्क देते हुए कहा कि हमें उन उपकरणों और तरक़ीबों की अहमियत को कम नहीं समझना चाहिये जिन्होंने संक्रमणों की रोकथाम की है, लोगों को अस्पतालों में जाने से और मौतों को भी रोका है. इसलिये हमें मास्क पहनने, अपने स्थानों को हवादार बनाए रखने और परीक्षण व उपचार प्रोटोकॉल जारी रखने होंगे.

मंकीपॉक्स का मुक़ाबला

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुखिया ने मंकीपॉक्स का सन्दर्भ देते हुए पत्रकारों को बताया कि इस समय 63 देशों में, संक्रमण के कुल 9 हज़ार 200 मामले दर्ज हुए हैं.

इस बीमारी के लिये आपात समिति, रुझानों की जाँच-पड़ताल करने, अभी तक ऐहतियाती और रोकथाम  उपायों की सफलता का आकलन करने और इस संक्रमण के फैलाव का सामना करने के लिये अगले क़दमों वर विचार करने के लिये अगले सप्ताह बैठक करेगी.

इस बीच, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी मंकीपॉक्स के इर्दगिर्द मौजूद कलंकित मानसिकता का भी मुक़ाबला कर रही है, वैक्सीन की उपलब्धता में संयोजन कर रही है, और शोध व अनुसन्धान कार्यों को आगे बढ़ा रही है.

डॉक्टर टैड्रॉस ने कहा, मैं एक बार ज़ोर देकर कहता हूँ कि हमें संक्रमण और आगे फैलने से रोकने के लिये काम करना होगा, साथ ही सरकारों को संक्रमण के मामलों पर नज़र रखने और वायरस को ख़त्म करने की प्रक्रिया लागू करने, व एकान्तवास में रहने वाले लोगों की मदद करने की सलाह देता हूँ.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड